Skip to main content

[शायरी 2020 ] 2020 की शायरी



Text Copied
!! उठा के ऐड़ियां चलने से कद नही बढ़ता !!

!! मेरे रकीब से कह दो कि अपनी हद मे रहे !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

" _शेर, छलांग मारने के लिए एक_ _कदम पीछे लेता है।_
_इसी तरह जब जिंदगी आपको पीछे धकेलती है।_
_तो कमर कस लें, की अब जिंदगी में एक ऊंची छलांग लेने का वक़्त है।_

2020 की शायरी [शायरी 2020]

" कोई रिश्ता नया या पुराना नहीं होता,
जिन्दगी का हर पल सुहाना कितना होता,
जुदा होना तो किस्मत की बात है..
पर जुदाई का मतलब भूलाना नहीं होता

2020 की शायरी [शायरी 2020]

" मेरी खामोशी देखकर मुझसे ये जमाना बोला कि,
तेरी संजीदगी बताती है तुझे हँसने का शोक था कभी..."

2020 की शायरी [शायरी 2020]

" लिबास कितना भी क़िमती हो या सस्ता
घटिया किरदार को छुपा नहीं सकता..."

2020 की शायरी [शायरी 2020]

" ज़िन्दगी एक चाहत का सिलसिला है,
कोई किसी से मिल जाता है तो,
कोई किसी से बिछड़ जाता है,
जिसे हम मांगते है अपनी दुआ में,
वो किसी को बिना मांगे मिल जाता है… "

2020 की शायरी [शायरी 2020]

""कभी किसी को छला नहीं,
इसीलिए तो मैं चला नहीं""👈

2020 की शायरी [शायरी 2020]

".* Tumhari Yaad Jab ati Hai T0 Usay r0kti Nahi Hoon Main....!
"* Qyun K Bagair Dastak K anay walay Apny He To Hoty Hain....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"Har Baat ka Koi Jawab Nahi Hota,
Har Ishq ka Naam Kharab Nahi Hota,
Yooh to Jhoom Lete Hai Nashe mein Peene Waale,
Magar Har Nashe ka Naam Sharab Nahi Hota

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"अगर कोई आपको गहराई से प्यार करे तो उससे आपको शक्ति मिलती है और अगर किसी को आप गहराई से प्यार करें तो उससे आपको साहस मिलता है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"आँखों में रहा दिल में उतर कर ना देखा;
कश्ती के मुसाफिर ने समंदर ना देखा;
पत्थर मुझे कहता है मुझे चाहने वाला;
मैं मोम हूँ उसने मुझे छु कर ना देखा।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"आईने में भी खुद को झांक कर देखा;
खुद को भी हमने तनहा करके देखा;
पता चल गया हमें कितनी मोहब्बत है आपसे;
जब तेरी याद को दिल से जुदा करके देखा।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"आपने कहा मोहब्बत पूरी नहीं होती |
हम कहते हैं हर बार ये बात जरुरी नहीं होती ||
मोहब्बत तो वो भी करते हैं उनसे......|
जिन्हें पाने की कोई उम्मीद नहीं होती ||"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"उसी मोड़ से शुरू करनी है फिर से
जिंदगी,


जहाँ सारा शहर अपना था और तुम
अजनबी."

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"कब तक रहोगे आखिर यूं दूर हमसे;
मिलना पड़ेगा आखिर एक दिन जरूर हमसे;
दामन बचाने वाले ये बेरुखी है कैसी?
कह दो अगर हुआ है कोई कसूर हमसे!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"कभी दोस्ती कहेंगे कभी बेरुख़ी कहेंगे;
जो मिलेगा कोई तुझसा उसे ज़िन्दगी कहेंगे;
तेरा देखना है जादू तेरी गुफ़्तगू है खुशबू;
जो तेरी तरह चमके उसे रोशनी कहेंगे। "

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"किसीने बड़े अदब से सवाल किया...कहाँ है घर आप का... और मैने भी कह दिया के मैं घर में नहीं.. लोगों के दिल में रहता हूँ "

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"क्या बुरा है,,,?
"ये बताया था मैने कुछ अपनों को,,,!
"मैं ही बुरा हो गया,,,!
"उन सब की नजरों में,,,!
🍃🍃🍃🍃

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"चाहो तो दिल से मुझ को मीटा देना,
चाहो तो मुझ को भुला देना,
पर ये वादा करो के,
कभी मेरी याद आये, तो
रोना मत सिर्फ मुस्कुरा देना...🙏💞

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"जिंदगी भर दर्द से जीते रहे;
दरिया पास था आंसुओं को पीते रहे;
कई बार सोचा कह दू हाल-ए-दिल उससे;
पर न जाने क्यूँ हम होंठो को सीते रहे।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"जो आँसू दिल में गिरते हैं वो आँखों में नहीं रहते;
बहुत से हर्फ़ ऐसे होते हैं जो लफ़्ज़ों में नहीं रहते;
किताबों में लिखे जाते हैं दुनिया भर के अफ़साने;
मगर जिन में हकीकत हो किताबों में नहीं रहते।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"तड़प के देखो किसी की चाहत में, तो पता चलेगा,

कि इंतजार क्या होता है..

यूं ही मिल जाए, कोई बिना चाहे,

तो कैसे पता चलेगा, कि प्यार क्या होता है..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"तड़प के देखो किसी की चाहत में, तो पता चलेगा,
कि इंतजार क्या होता है..
यूं ही मिल जाए, कोई बिना चाहे,
तो कैसे पता चलेगा, कि प्यार क्या होता है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"तेरा एहसान हम कभी चुका नहीं सकते;
तू अगर माँगे जान तो इंकार कर नहीं सकते;
माना कि ज़िंदगी लेती है इम्तिहान बहुत;
तू अगर हो हमारे साथ तो हम कभी हार नहीं सकते।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते!
गम के आंसू न बहते तो और क्या करते!
उसने मांगी थी हमसे रौशनी की दुआ!
हम खुद को न जलाते तो और क्या करते!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"दोस्त तुम पत्थर भी मारोगे तो भर लेंगे झोली अपनी,
क्योंकि हम यारों के तोहफ़े ठुकराया नहीं करते !!"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"नज़रें झुका लेने से भला सादगी का क्या ताल्लुक़;
शराफ़त तब झलकती है जब नीयत में पर्दा हो.....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"नफरत को हम प्यार देते है .....प्यार पे खुशियाँ वार देते है ...बहुत सोच समझकर हमसे कोई वादा करना.."" ऐ दोस्त "" हम वादे पर जिदंगी गुजार देते है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"प्यारी सी लाइन मेरे प्यारे दोस्तों के लिए :
मेरे साथ लड़ना , मुझे रुलाना , तंग करना , चोट पहचाना ,
पर मेरी ज़िन्दगी खत्म हो जाये तब मुझे अपना कंधा जरूर देना ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"मेरी जिंदगी में अगर तू साथ हो,
फिर चाहे दिन रहे या रात हो,
में कांटो पर भी चल सकती हु,
अगर तेरे प्यार कि बरसात हो… "

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"मेरे इश्क में दर्द नहीं था पर दिल मेरा बे दर्द नहीं था, होती थी मेरी आँखों से नीर की बरसात, पर उनके लिए आंसू और पानी में फर्क नहीं था "

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"मैंने पत्थरों को भी रोते देखा है झरने के रूप में;
मैंने पेड़ों को प्यासा देखा है सावन की धूप में;
घुल-मिल कर बहुत रहते हैं लोग जो शातिर हैं बहुत;
मैंने अपनों को तनहा देखा है बेगानों के रूप में।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"मोहब्बत का इम्तिहान आसान नहीं;
प्यार सिर्फ पाने का नाम नहीं;
मुद्दतें बीत जाती है किसी के इंतज़ार में;
यह सिर्फ पल दो पल का काम नहीं।"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"यकीन नहीं तुझे अगर, तो आज़मा के देख ले,
एक बार तू, जरा मुस्कुरा के देख ले,
जो ना सोचा होगा तूने, वो मिलेगा तुझको भी,
एक बार आपने कदम,बढ़ा के देख ले |"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"ये जो मुस्कुराहटों के लिबास पहनें हैं न..!!_

चाँदनी...._

_"असल में उदासियों पर रफू करवा के आये हैं..!!!!_

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"ये दोस्ती चिराग है जलाऐ रखना
ये दोस्ती खुशबु है महकाऐ रखना,
हम रहें हमेशां आपके दिल में,
हमेशां इतनी जगह बनाऐ रखना

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"रिश्तों की यह दुनिया है निराली,सब रिश्तों से प्यारी है दोस्ती तुम्हारी,मंज़ूर है आँसू भी आखो में हमारी,अगर आजाये मुस्कान होंठ पे तुम्हारी।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"रेत की जरूरत रेगिस्तान को होती है,
सितारों की जरूरत आसमान को होती है,
आप हमें भूल न जाना, क्योंकी
दोस्त की जरूरत हर इंसान को होती है......."

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"वो रात दर्द और सितम की रात होगी;
जिस रात रुखसत उनकी बारात होगी;
उठ जाता हूँ मैं ये सोचकर नींद से अक्सर;
कि एक गैर की बाहों में मेरी सारी कायनात होगी।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"हम रूठे तो किसके भरोसे, कौन आएगा हमें मनाने के लिए;
हो सकता है, तरस आ भी जाए आपको;
पर दिल कहाँ से लाये, आप से रूठ जाने के लिए!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

"हर कदम पे आपका एहसास चाहिए;
मुझे आपका साथ अपने पास चाहिए;
खुदा भी रो पड़े हमारी जुदाई से;
ऐसा एक रिश्ता ख़ास चाहिए।"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

'Ek Ek Pathar Jor Kay Maine Jo Deewaar Banai Thi
Jhaanko Us kay Peeche To Ruswaai Hi Ruswaai Hai

Yoon Lagta Hai Sote Jaagte Auron ka Mohtaaj Hoon

Aankhen Meri Apni Hain Par In Mein Neend Parai Hai,

Dekh Rahe Hain Hayrat Se Sab Neele Paani Ko

Pooche Kon Samundar Se Tujh Mein Kitni Gehraai Hai,

Aaj Howa Maloom Mujhe Is Shaher K Chand Saayon Se

Apni Raah Badalte Rehna Sab Se Bari Danaai Hai,

Tor Gaye Paymaan-e-Wafa Is Dard Mein Kaise Kaise Log

Yeh Mat Soch "Qateel" Kay Bas Ek Yaar Tera Harjaai Hai.'

2020 की शायरी [शायरी 2020]

'Hawaa Ne Baandh Diya Raat Silsila Ayse
Bula Raha Hai Koi Door Se Lagaa Ayse,

Jahaan Bhi Dekho Wahaan Phol Khilne Lagte Hain
Zameen Pe Chor Giya Koi Naqsh-e-Paa Ayse,

Humen Laga Koi Shair Keh Liya Hum Ne
Zara Si Dair Koi Mil Giyaa Ayse,

Sakoot Aysa Kay Ab Khaak Tak Nahi Urti
Hawaaen Bhool Bhi Sakti Hain, Raasta Ayse,

Na Dhoop Mein Woh Tarap Hai, Na Saaye Mein Woh Kashish
Kisi Faqeer Ne Kiyaa Di Hai Bad Dua Ayse.'

2020 की शायरी [शायरी 2020]

* मैं अल्फाज़ हूँ तेरी हर बात समझता
हूँ ना,..*..
* मैं एहसास हूँ तेरे जज़्बात समझता
हूँ ना,..*...
कब पूछा मैंने कि क्यूँ दूर हो मुझ
से ना तुम,..*..
* मैं दिल रखता हूँ तेरे हालात समझता
हूँ ना...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*"चाकू*.
*खंजर*..
*तीर* *और,*
*तलवार..*

*लड़ रहे थे..*
*कि...,*
कौन..
*ज्यादा गहरा घाव* देता है,

और *शब्द..*
पीछे बैठे..
मुस्कुरा रहे थे...।" 😊

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*"समय की किमत अखबार से पूछो*
*जो सुबह चाय के साथ होता है वही रात को रद्दी हो जाता है"*

*ज़िन्दगी मे जो भी हासिल करना हो..*
*उसे वक्त पर हासिल करो.!*
*क्योंकि.....*
*ज़िन्दगी मौके कम*
*और.....*
*अफसोस ज्यादा देती* *हे.!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*"समय बहाकर* ले जाता है
*नाम और निशान*...
कोई *हम* में रह जाता है
कोई *अहम* में रह जाता है..

बोल मीठे ना हों तो *हिचकियाँ* भी नहीं आती....
*घर बड़ा हो या छोटा*,
अगर *मिठास* ना होंतो *इंसान* क्या,
*चींटियां* भी नहीं आती"...!✍

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*Beautiful Lines*
👉🏼 एक सच छुपा होता है जब कोई कहता है । *"मजाक था यार"*
👉🏼 एक फीलिंग छुपी होती है जब कोई कहता है *"मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता ।*
👉🏼 एक दर्द छुपा होता है जब कोई कहता है *"Its ok"*
👉🏼 एक जरूरत छुपी होती है जब कोई कहता है *"मुझे अकेला छोड़ दो"*
👉🏼 एक गहरी बात छुपी होती है जब कोई कहता है । *"पता नहीं "*
👉🏼 बातों का समंदर छुपा होता है जब कोई *"खामोश रहता है"*

👌🏼इसीलिए एक ओपन हार्ट सर्जरी की यूनिट के बाहर लिखा था कि...
"अगर दिल खोल लेते अपने यारों के साथ ।
तो आज नहीं खोलना पड़ता औजारों के साथ " ॥

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*Sabko Bhagwan pyara hota hai.*

*Koi na koi kisi ka sahara hota hai,*

*Kisi ki thodi si Judai se jo tadap jaye,*

*Log kahte hai wahi Rishta sabse pyara hota hai.*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*_"हमारी खामोशी हमारी आहट है,_*
*_हमारी आंखें हमारी चाहत हैं,_*
*_हमारी जिंदगी अगर खूबसूरत है,_*
*_तो उसकी वजह बस आपकी मुस्कुराहट है।"_*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*_मसरुफ हो तुम भी मसरूफ है हम भी..._*


*_तुम्हें खुद से फुरसत नही और हमें तुमसे फुरसत नही ...!!_*

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*_मेहनत से उठा हूँ, मेहनत का दर्द जानता हूँ,_*
*_आसमाँ से ज्यादा जमीं की कद्र जानता हूँ।_*

*_लचील पेड़ था जो झेल गया आँधिया,_*
*_मैं मगरूर दरख्तों का हश्र जानता हूँ।_*

*_छोटे से बडा बनना आसाँ नहीं होता,_*
*_जिन्दगी में कितना जरुरी है सब्र जानता हूँ।_*

*_मेहनत बढ़ी तो किस्मत भी बढ़ चली,_*
*_छालों में छिपी लकीरों का असर जानता हूँ।_*

*_कुछ पाया पर अपना कुछ नहीं माना,_*
*_क्योंकि आखिरी ठिकाना मेरा मिटटी का घर जानता हूँ।_*

*_बेवक़्त, बेवजह, बेहिसाब मुस्कुरा देता हूँ,_*
*_आधे दुश्मनो को तो यूँ ही हरा देता हू।...*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*_वो शायर ही होते है_*
*_जो शायरी लिखते है._*

❥════❥❥ *_हम तो बदनाम आशिक है._*
❥════❥❥💔 *_दर्द लिखते है........_*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*~___.•●__☆♡__.•●___.•●____~*
*_👉🏻🌹न जाने कब इश्क में इम्तहान आ जाए_*
📿✍🏻
*_👉🏻🌹न जाने कब जिंदगी में तूफान आ जाए_*
📿✍🏻
*_👉🏻🌹जल रहा है ये दीया उस रोशनी के लिए जिसे पाकर बुझने का अरमान आ जाए_*
📿✍🏻
*_👉🏻🌹हम तो गुजार दें उस गली में ये जिंदगी जिस रास्ते पर उसका मकान आ जाए_*
📿✍🏻
*_👉🏻🌹उससे इश्क में इसलिए हारता ही रहा कि जीत कर उसे चैनो-आराम आ जाए_*
📿✍🏻 *📄*✍🏻☔
*~___.•●__☆♡__.•●___.•●____

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*अच्छा वक़्त उसी का होता हैं...*

*जो किसी का बुरा नहीं सोचते हैं...*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*अच्छा वक़्त उसी का होता हैं...*
*जो किसी का बुरा नहीं सोचते हैं...*


*मत सोच की तेरा*
*सपना क्यों पूरा नहीं होता*
*हिम्मत वालो का इरादा*
*कभी अधुरा नहीं होता*
*जिस इंसान के कर्म*
*अच्छे होते है*
*उस के जीवन में कभी*
*अँधेरा नहीं होता* ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*अफ़सोस होता है उस पल*
*जब अपनी पसंद कोई ओर चुरा लेता है..*
*ख्वाब हम देखते है..*
*और हक़ीक़त कोई और बना लेता है.*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*असंभव*

इस दुनिया में असंभव कुछ भी नहीं| हम वो सब कर सकते है, जो हम सोच सकते है और हम वो सब सोच सकते है, जो आज तक हमने नहीं सोचा|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*इतनी मेहरबानी मेरे ईश्‍वर बनाये*
*रखना जो रास्ता सही हो उसी पर*
*चलाये रखना ना दुखे दिल किसी*
*का मेरे शब्दो से इतना रहम तू मुझपे*
*बनाये रखना*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*उड़ा भी दो सारी रंजिशें इन हवाओं में यारो*

*छोटी सी जिंदगी है नफ़रत कब तक करोगे*

*घमंड न करना जिन्दगी मे तकदीर बदलती रहती हे*

*शीशा वही रहता है बस तस्वीर बदलती रहती है*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*ऐ चांद चला जा क्यो आया है ...मेरी चौखट पर…..!!*


*छोड गये वो शख्स जिसकी ...याद मे हम तुझे देखा करते थे …!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*कई शाम गुजर गई., कई राते गुजर गई..!!*


*ना गुजरा तो सिर्फ एक लम्हा.,...वो तेरे इंतजार का...!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*कमियाँ तो मुझमें भी बहुत है,*
*पर मैं बेईमान नहीं।*
*मैं सबको अपना मानता हूँ,*
*सोचता फायदा या नुकसान नहीं।*
*एक शौक है ख़ामोशी से जीने का,*
*कोई और मुझमें गुमान नहीं।*
*छोड़ दूँ बुरे वक़्त में दोस्तों का साथ,*
*वैसा तो मैं इंसान नहीं।..........

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*कैसे लफ्जों में बयां करूँ मैं खूबसूरती*
*तुम्हारी....!!*



*सुंदरता का झरना भी तुम हो मोहब्बत का दरिया*
*भी तुम हो......!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*चार दिनों की उम्र मिली है*
*और*
*फ़ासले जन्मों के...*
*इतने कच्चे रिश्ते क्यूँ हैं;*
*इस दुनिया में अपनो के...!!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*ज़्यादा ख्वाहिशें नहीं*
*ऐ ज़िंदगी मुझे तुझसे...*
*बस*
*ज़िंदगी का अगला लम्हा*
*पिछले से बेहतरीन हो.. ।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*जितना बडा सपना होगा*
*उतनी बडी तकलीफें होगी*
*और जितनी बडी*
*तकलीफें होगी उतनी* *बडी*
*कामयाबी होगी*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*जिस्म पर जो #निशान हैं न*,
जनाब-
वो सारे #बचपन के हैं..

बाद के तो #सारे-
*दिल पर #लगे है...*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*जीवन*

जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोए थे जबकि पूरी दुनिया ने जश्न मनाया था। अपना जीवन ऐसे जियो कि तुम्हारी मौत पर पूरी दुनिया रोए और तुम जश्न मनाओ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*तकदीर के खेल से*
*नाराज नहीं होते*
*जिंदगी में कभी*
*उदास नहीं होते*
*हाथों किं लक़ीरों पे*
*यक़ीन मत करना*
*तकदीर तो उनकी भी होती हैं ,*
*जिन के हाथ ही नहीं होते*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*तुमसे किसने कह दिया कि मुहब्बत की बाजी हार गए हम*?

*अभी तो दाँव मे चलने के लिए मेरी जान बाकी है*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*दुपट्टा क्या रख लिया उसने सर पर*

*वो दुल्हन नजर आने लगी*
*उसकी तो अदा हो गई और*
*जान हमारी जाने लगी*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*नजरे छुपाकर क्या मिलेगा...*

❣❣☄☄☄☄
*नजरे मिलाओ,शायद हम मिल जाये..*❤❤

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*ना चाँद अपना था और ना तू अपना था ...!!*

*काश दिल भी मान लेता ....की सब सपना था ...!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*ना रखो नाराजगी दिल में,,,,दिल को साफ कर दो...*

*जिस के बिना लगे खुद को अधुरा,,, बेहतर है उन्हें माफ कर दो..!!?*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*नाराज़ होकर जिंदगी से नाता नहीं तोड़ते*
*मुश्किल हो राह फिर भी मंजिल नहीं छोड़ते*
*तनहा न समझना खुदको कभी*
*हम उनमे से हैं जो कभी साथ नहीं छोड़ते*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*बन के अजनबी*
*मिले थे जिन्दगी के सफर में*
*इन यादों के लम्हों को*
*मिटायेंगे नही*

*अगर याद रखना*
*फितरत है आपकी*
*तो वादा है हम भी*
*आपको कभी भुलायेंगे नही*

💞💞💞💞💞💞

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*बेशक तू बदल ले अपने आपको लेकिन ये याद रखना*
*तेरे हर झूठ को सच मेरे सिवा कोई नही समझ सकता*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*मिल गयी थी ....इसमें जो इक बून्द .....तेरे इश्क की,......*


*ज़िन्दगी.... की कड़वाहट को ......मैं बेझिझक पी गया ....*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*मुसलसल एक ही तस्वीर चश्म-ए-तर में रही,.....!!*

*चराग़ बुझ भी गया..... रौशनी सफ़र में रही...!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*मेहनत*

हम चाहें तो अपने आत्मविश्वास और मेहनत के बल पर अपना भाग्य खुद लिख सकते है और अगर हमको अपना भाग्य लिखना नहीं आता तो परिस्थितियां हमारा भाग्य लिख देंगी|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*मै कतरा हो कर तूफां से जंग लड़ता हूं*
*मुझे बचाना समंदर की जिम्मेदारी है*



*दुआ करो कि सलामत रहे मेरी हिम्मत*
*ये एक चराग कई आंधियों पे भारी है !!!!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*मैं सिगरेट तो नहीं पीता मगर हर आने वाले से पूँछ लेता हूँ...*

*माचिस है ?*

*बहुत कुछ है जिसे मैं फूँक देना चाहता हूँ...!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*राज दिल का दिल में छुपाते है वो
*सामने आते ही नजर झुकाते है वो*❣

*बात होती नही या करते नही ये तो वो जाने
*पर शुक्र है जब भी मिलते है मुसकुराते है वो*❣

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*रात* की सीढ़ी पर चढ़कर...
*आसमां* से कुछ सपने उतारने हैं…!!


*.....!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*विश्वास*

विश्वास में वो शक्ति है जिससे उजड़ी हुई दुनिया में प्रकाश लाया जा सकता है| विश्वास पत्थर को भगवान बना सकता है और अविश्वास भगवान के बनाए इंसान को भी पत्थर दिल बना सकता है|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*वो बोली क्या अब भी हमारी याद आती है…!!!!‼*

*हमने भी हसकर बोला अपनी बर्बादी को कोन भूल सकता है…!!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*सफलता*

दूर से हमें आगे के सभी रास्ते बंद नजर आते हैं क्योंकि सफलता के रास्ते हमारे लिए तभी खुलते जब हम उसके बिल्कुल करीब पहुँच जाते है|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*समय*

आप यह नहीं कह सकते कि आपके पास समय नहीं है क्योंकि आपको भी दिन में उतना ही समय (24 घंटे) मिलता है जितना समय महान एंव सफल लोगों को मिलता है|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*सिर्फ ख्वाब होते तो*
*क्या बात होती,*🌹💞

✨✨✨💖✨✨✨

*तुम तो ख्वाहिश बन बैठे,*
*वो भी बेइंतहा..*🌹💖

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*हमने कब कहा था कि*
*तुम हमारे बन जाओ*
*हमने तो बस इतना कहा*
*था की हमे अपना*
*बना लो"...*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*हार ना मानना*

बीच रास्ते से लौटने का कोई फायदा नहीं क्योंकि लौटने पर आपको उतनी ही दूरी तय करनी पड़ेगी जितनी दूरी तय करने पर आप लक्ष्य तक पहुँच सकते है|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*✍🏻एक हसीन पल की जरूरत है हमें*
*बीते हुए कल की जरूरत है हमें*
*सारा जहाँ रूठ गया हमसे जो कभी*
*ना रूठे ऐसे दोस्त की*
*जरूरत है हमें

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*❤❤किसने कहाँ तूफानों में जाने चली जाती है*

*❤❤अभी-अभी उसकी बाँहों से सही सलामत लौटा हूँ*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*🌹जन्म से ना तो कोई दोस्त पैदा*
*होता है और ना ही दुश्मन।*
*वह तो हमारे घमंड, ताकत या*
*व्यवहार से बनते है!*

*ज़िंदगी को अगर खुल कर जीना है*
*तो*
*थोडा सा झुक कर तो*
*देखो फिर देखना*
*ये ईश्वर आपको कितना ऊँचा उठा* *देंगा..*
*🌹दिल से लिखी बातें*
*दिल को छू जाती हैं*
*कुछ लोग मिलकर बदल जाते हैं*
*और*
*कुछ लोगों से मिलकर*
*जिन्दगी बदल जाती है.*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*🌹शिकायत नहीँ जिंदगी से*
*कि तेरा साथ नहीँ ❣*

*बस तुम खुश रहना यार,*
*हमारी तो कोई बात नही..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*💕💕 तेरे होंठो को छू-छू कर गुजर जाऊं मैं......😔😔*

*काश*
*कही हुई तेरी, हर बात बन जाऊं मैं.......✍😔😔💕💕*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*💖☄तू होठो से कितना भी ना कह ले ऐ सनम,‼*

*✏तेरी आँखों में मोहब्बत हमें दिख ही जाती है..!!Ⓜ*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*💖☄लाख बंद करें मैखाने ज़माने वाले…….‼*

*✏दुनिया में कम नहीं हैं आंखों से पिलाने वाले….!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*💖☄हमने भी जिन्दगी के आगे कभी हाथ न फैलाए थे;‼*

*वो तो ये आँखें ही खुदगर्ज निकल गईं,*

*✏जो रोज नए ख्वाब देख हमें नीचा दिखाती रहीं…!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*💖💖हुजुम उमडता नही यूँ ही तेरे रिहाइशगाह के बाहर रोज ...!💖💖

💖💖लोग जानते है यहाँ एक "सरफिरे शायर" की "गजल" रहती ह......💖💖

2020 की शायरी [शायरी 2020]

*💝बारिश में चलने से एक बात याद आई,.....!!*

*फिसलने के डर से वो मेरा हाथ पकड़ लेती थी...!!🎀*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

.

मुख्तसर सी जिंदगी मेरी... तेरे बिन बहुत अधूरी है....
इक बार फिर से सोच तो सही... कि.. क्या तेरा.. खफा रहना बहुत जरूरी है....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

.

शरारत नहीं है शिकायत नहीं है

तो ऐसी मोहब्बत मोहब्बत नहीं है


मैं जो हूँ वो माँ की बदौलत हूँ वरना

मेरी अपनी कोई हकीक़त नहीं है


बड़ी बेरूख़ी से वो पेश आ रहे हैं

क्या मैं ये समझ लूँ के उल्फत नहीं है


ख़ुशी की तम्मना तुझे होगी फैसल

हमें तो ग़मो से ही फुरसत नहीं है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

==================

🚥पैसे से सुख कभी खरीदा
नहीं जाता,
👉 और दुःख का कोई खरीदार
नहीं होता.
=================

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Aaj Toot Kar Uski Yaad Aayi To Ehsas Hua,
Yaaro....
Ek Baar Utar Jayen Jo Dil Mai Wo Bhulaye Nahi
Jate

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Aankho Ki Awaaz Kuch Aur Hoti Hai,
Aansuo Ki Aag Kuch Aur Hoti Hai,
Kon Chahta Hai Bichadna Apne Pyar Se,
Magar Kismat Ki Baat Kuch Aur Hoti Hai .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Aankhon Ka Hai Faraib Ya
Aks E Jamal Hai,
Aati Hy Kyun Nazar Teri Sorat
Jagah Jagah...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Aankhon Me Armaan Diya Karte Hai,
Hum Sabki Neend Chura Liya Karte Hai,
Ab Se Jab Jab Aapki Palkay Jhapkeygi…..
samaj Lena Tab Tab Hum Aapko Yaad kiya karte Hai…..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ab dua main khuda se kya mangu
Ab gairo ki ho gayi wah use main kaise mangu
Wafa ka wasta dekar bewafai ki jisne
Uss se apni mohababat ka haq kya mangu
Jan bujh kar anjan ban gaye jo
Uss se milne ki dua kya mangu
Mohababat main hamne ranjo-gam uthaye hain sada
Sanam ke khush rahne ki dua kya mangu
Jise main chahta hoon use kismat chhin leti hai
Tum kaho dosto main dua main kya mangu.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ab intezaar ki aadat bhi chodni hogi,
usne saaf saaf kah diya bhul jao mujhe..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Agar Kush Hai Woh Dekh Kar Ansu Meri Ankhon Me,
To Khuda Ki Kasam Hum Muskurana Hi Chod Denge.
Tadapte Rahenge Use Dekhne Ko
Magar Uski Taraf Palke Uthana Hi Chod Denge.
Wo Manjil Hi Kya Meri Jo Dukh De Us Ko,
Khuda Ki Kasam Us Manjil Pe Hum Jana Hi Chod Denge!…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Apna pan sikha kar juda ho gayi,
Na socha na samjha khafa ho gayi,
Duniya me ab hum kisko apna kahenge,
Woh bhi auron ki tarha bewafa ho gayi

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Apni nigahon se na dekh khudko
Heera bhi tujhe patthar lagega..

Sab kehte honge chand ka tukda hai tu
Meri nazar se dekh chand tera tukda lagega..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Baat badh jaati hai to gum milte hai. ...
Isliye hum sabse babut kam milte hai. ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Baaten karke rula na dijyega…
Youn chup rah ke saja naa dijyega…

Na de sake khushi , to gum hi sahi…
Par dost bana ke yonhi bhula naa dijyega…

Khuda ne dost ko dost se milaya…
Doston ke liye dosti ka rishta banaya…

Par kahte hai dosti rahegi uski kayam…
Jisne dosti ko dil se nibhaya…

Ab aur manjil paane ke hasrat nahi….
Kisi ki yaad main mar jaane ki fitrat nahin….

Aap jaise dost jabse mile….
Kisi aur ko dost banaane ki jaroorat nahin .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Badnam Zamane mein Mohabbat Nahin Karte

Dil Waly Tu Dushman Se Bhi Nafrat Nahin Karte

Ek Bar Jisy Chaha Sada Uss K Rahe Phir

Hum Log Amanat Mein Khayanat Nahin Karte

Tanhai Mein Karlete Hain Yaad Aansoo Baha Kar

Zahir Kabhi Hum Apni Ebadat Nahin Karte,

Waqt Aane Par Maaloom Yeh Ho Jaye Ga Tum Ko,

Hum Sirf Dikhawe Ki Mohabbat Nahen Karte,

Likhte Hain FAQAT Ek Tumhare Liye Ghazal,

Har Shakhs Pe hum Aise Enayat Nahi Karte.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Bahut Nazdeek Hoke Bhi Wo Itna Door Hai Mujhse,
Ishara Ho Nahi Sakta, Pukaara Ja Nahi Sakta.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Bari Ajeeb Hai Nadaan Dil Ki Khawahish YA RAB,
Amal Kuch Bhi Nahi Aur Dil Talabgaar Hai Jannat Ka...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Basa Hai Aankho Mein Unka Chehra Is Tarah,
Gulabo Mein Khushbu Basi Ho Jis Tarah,
ibadat ki Ho Aur Dua Na Mangi Ho,
Unki Kami khalti Hai mujhe Kuch Is Tarah.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Bharam Rakho Mohabbat Ka Wafa Ki "Shaan" Ban Jao
Kissi Pe "JAAN" De Do Ya Kissi Ki "Jaan" Ban Jao
Tumhare "Naam" Se Mujko Pukarain Ye "Jahan" Walay
Main Ban Jaon "Afsaana" Aur Tum "Unwaan" Ban Jao...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Bheegte Hain Jis Tarah Se Teri Yaadon Mein Doobkar
Iss Baarish Mein Kahan Woh Kashish Tere Khayalon Jaisi...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Bhula Ke Mujhko Agar Tum Bhi Ho
Salamat To Bhula Ke Tujhko,
Sambhalna Mujhe Bhi Aata
Hai Nahi Hai Meri Fitrat
Mein Ye Aadat Warna Teri
Tarah Badalna Mujhe Bhi Aata Hai.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ChaLo Uska NaHi To KhUdA Ka EhSaAn LeTe HeIn
FaRaZ ...

WoH MiNnAt Se NaHi MaAnA To MaNnaT Se MaAnG LeTe
HeIn ...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Chalo Mar Jatey Hain Tum Par
Yeh Toh Batao Bahon Me Dafan
Karoge Yaa Seene Mein...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Chupa lo mujhko Apni saaso k darmiyan.. Koi puche to kah Dena zindgi h meri... 💐

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Dard seh kar bhi dil unhe pyar karta hai,Juda hokar bhi unhe hi yaad karta hai,Diye hai ishq me itne dard-e-gum,Fir b Unhi ki khusiyo ki fariyad karta hai

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Dayare gair me kaise tumhe sada dete........

Wo Tera Gham Tha K Tasir Mere Lahje Ki
K Jis Ko Hal Sunate Use Rula Dete

Tumhen Bhulna Hi Awwal To Dastaras Mein Nahin
Jo Ikhtiyar Bhi Hota To Kya Bhula Dete

Tumhari Yad Ne Koi Jawab Hi Na Diya
Mere Khayal K Ansu Rahe Sada Dete

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Dil_E_MasoOm Ki MasoOm Si
Hasratain,
Chahna phir Chahna Aur Chahtay
Jana....!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Din beet jate hai suhani yaadein banker,
Baatein rah jati hai kahani banker,
Par dost to hamesha dil ke karib rahenge,
Kabhi muskan to kabhi aankhon ka pani banker...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Diye Hain Zakham Toh Marham Ka Takalluff Na
Karo...
Kuch To Rehne Do Meri Zaat Pe Ehsaan
Apna..!!.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Door ho ke bhi apke pass raha karte hai,
teri yaadon ke sahare jiya karte kai,
tujh se koi shikayat na gila karte hai,
tu salamat rahe bas yahi dua karte hai.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ehsaas Badaal Jaatey Hai Duniya Main,
Warna..,
‘MOHABBAT’
Aur
‘NAFRAAT’ Ek Hi Dil Se Hoti Hai….!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ek Alag Si Pehchaan Banane Ki Aadat Hai Humein,
Zakhm Ho Jitna Gehra Utna Muskurane Ki Aadat Hai Humein,
Sab Kuch Luta Dete Hai Dosti Mein,
Kyunki Dosti Nibhaane Ki Aadat Hai Humein.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Haan hum badalne lage
Girne sambhalne lage
Jab se hai jaana tumhein
Teri ore chalne lage
.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Har Adaawat Pe Mohabat Ko Saja Kr Milna.

Rasm-e-Dunia Hai Haqeeqat Ko Chupa Kr Milna.

Js Ka Kirdaar Sitaron Ki Trha Roshan Ho

Kitna Dushwaar HY Uss Shakhs Ko Ja Kr Milna.

Tm Mohabat Ko B Faraib Smjhty Ho

"dost"

Meri to Aadat HY Nigahon Ko Jhuka Kr milna...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Hr dil ka ek raz hota hai!
Hr bat ka ek andaz hota hai!
Jb tk na lage Bewfai ki Thokar!
Hr kisi ko Apni pasand par naaz hota hai..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Hum iss qadar tum per mar mittenge,
Tum jahan dekhoge hum hi tumhe dikhenge
Rakhna har pal iss dil mein hamari yaad,
Hmare bad hmare pyar ki dastan duniya vale likhenge

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Husn ko Chand se na de nisbat, Husn kab dagh daar hota hai,

Ishq se puchho husn ka rutba, Husn parvardigar hota hai...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Intezar to ab bhi tumhara kiya karte hain,
Tumhare ane ki aas kiya karte hain,
Hamari dosti hichkiyon ki mouhtaj nahi dost,
Tumhe sanso ke saath yaad kiya karte hain…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ishq Mein Mombati Sa Jal Raha Hoon Main.
Tere Moh Ki Tapish Hai,
Pal Pal Har Pal Pighal Raha Hoon Main.
Roshni Hoga Ishq Mera Lakhon Dil Jalon Ke Liye,
Hasratein Dhagon Mein Piroye Chal Raha Hoon Main.
Bas Chal Raha Hoon Main……………..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ishq Paane Ki Tamanna Mein Sanam,
Zindagi Barbad Banker Reh Gayi,
Jis Surat Ko Dil Mein Basaya Tha Kabhi,
Aaj Woh Surat Ek Yaad Bankar Rah Gayi...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Itne Gour Se Na Dekh Meri Saadgi ko..,
Humdum..

Bikhre Hue Log Aaksar Isi Haal Mein Hote Hai..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Jab chote the hum to jor se rote the
Jo pasand hota tha us paane ke liye
Aaj bade hai to chupke se rote hain
Jo pasand hain use bhulane ke liye

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Jab koi khayal dil se takrata hai
dil na chah kar bhi khamosh reh jata hai,
koi sab kuch keh kar pyar jatata hai,
toh koi kuch na keh kar pyar nibhata hai....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Jinko Chaha Hai Humne Tutke Pagal Ki Tarah,
Unke Aankho Me Koi Aur Hai Kajal Ki Tarah,
Tujhko Fursat Hai To Fir Se Hasa De Mujhko,
Yun Toh Rona Hai Mukaddar Me Badal Ki Tarah.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Jise Aap Sabse Jyada Chaho,
Use Zindagi me Kabhi Mat Azmana,
Kyuki..,
Agar Wo Gunehgaar Bhi Nikla,

Tab Bhi Dil Apka hi Tutega..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Jisne Kabhi Chahaton Ja Paigaam Likha Tha
••
Jisne Apna Sab Kuch Mere Naam Likha Tha
••
Suna Hai Aaj Use Mere Zikar Se Bhi Nafrat Hai
••
Jisne Kabhi Apne Dil Par Mera Naam Likha Tha

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kaanton se daaman uljhana meri aadat hai,
Dil me paraya dard basana meri aadat hai,
Jin ko duniya ne thukraya ho,
Aise logon ko apnana meri aadat hai.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kab Kon Kisi Ka Hota Hai
Sub Choote Rishtey Naate Hai
Sub Dil Rakhney Ki Batein Hai
Sub Asal Roop Chupatey Hai
Mohabbat Ke Khali Log Yaha
Lafzo Ke Teer Chalete Hai
Ek Bar Nigahon Mai Agar
Phir Sari Zindagi Rulate Hai
Woh Jis Ne Diya Hai Asshk Humey
Ab Woh Hi Hum Ko Bhool Jatey Hai...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kabhi Soch ke Dekho…
Agar “Kisi se Judaa Hona Itna Aasan Hota,

To Jism Se Rooh Ko Lene Kabhi Bhi Farishtey Nahi Aate..!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kaise Kahoon Ke Tum Bin Ab Nahi Raha Jaata,
Ye Dil Mein Ek Ehsaas Hai Zabaan Se Nahi Kaha Jaata...😘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Khushi Ke Aasu Rukne Na Dena
Gum Ke Aasu Bahne Na Dena
Yeh Zindagi Na Jane Kab Ruk Jayegi
Magar Ye Pyari Si Relationsip Kabhi Tutne Na Dena...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kisi Ko chahne ka koi bahana nahi hota
Dil lgane se koi diwana nahi hota....!!

.Aashiqi sikhni hai to humse sikho
Mohabbat karne Ka mtlb sirf use pana nahi hota..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kisi Sham Mujhe Tut Ke Bikhrte Dekho,

Meri Rooh Me Zehar-E-Judai Ko Utarte Dekho,

Kis-Kis Ada Se Tumhe Manga Hai Rabse,

Aao KabHi Mujhe Sajde Me Sisakte dekho

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kisi ko pyar itna dena ki had na rahe,
Par etbaar b itna rakna ki shak na rahe
Wafa itni karna ki bewafai naa ho,
Aur dua bus itni karna ki judai na ho.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kismat ke aage jor hamesha chale jaruri toh nahi
Tamannaye lakh ho par sab puri ho jaruri to nahi

Keemat toh har kadam par sabko chukani padti h

Fir b zindagi ka har karz chuk paye jaruri toh

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Kya rakha hai apni zindagi k is afsane mein.....💔

Kuch guzri hai usse chahne mein....💔

or kuch guzar jayegi usse bhool jane mein...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Logon Ne Kaha Ki Main Sharabi Hoon,
Maine Kaha Unho Ne Ankhon Se Pilaiee Hai.
Logon Ne Kaha Ki Main Ashiq Hoon,
Maine Kaha Ashiqi Unho Ne Sikhaiee Hai.
Logon Ne Kaha Tu Shayar Dewana Hai,
Maine Kaha Unki Mohabbat Rang Laiee Hai.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Maana K Mujhse Wo Khafa Rahe Honge
Ho Sakta Hai Wo Mujhe Aazma Rahe Honge
Hum Utni Hi Shiddat Se Yaad Karenge Unhe
Jitni Shiddat Se Wo Hume Bhula Rahe Honge.........

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Maana Ki Naseeb Mein Mere Koi Sanam Nahi,
Fir Bhi Koi Shikwa Koi Gam Nahi,
Tanha The Aur Tanha Jiye Jaa Rahe Hai,
Badnasib To Wo Hai Jinke Nasib Mein Hum Nahi.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Mahak me'n phoolon ki Baad-e-
Saba bhi shaamil hai
Mere Urooj me'n teri dua bhi
shaamil hai..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Manzil Bhi Kho Chuke Humsafar Bhi Nahin Raha....
Meri Kisi Bhi Duaa Main Shayad Asaar Hi Nahin Raha....
Jab Se Huyee Hai Dil Ko Khabar wo bichaddh raha hai mujhse....
Lafzoon Ko Jodnay Ka Tabse Hunaar Bhi Nahi Raha…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Manzilo ki har Sadak sirf aap ke naam,
Mohabbat ki har adaa bas aap ke naam,
Pyaar bhari har nigah aap ke naam,
labon par aane wali har Dua aapke naam.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Me tujhse dur kese reh paunga
Mar bhi gaya to tujhe na bhul paunga
Pr ek wada jrur nibhaunga
Maut se pehle tere hathon me apne naam ki mehndi saja jaunga.....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Mere Nazdeek Aa K Dekh Mere Ahsas Ki Shiddat
Mera Dil Kitna Dharakta Hai Sirf Tere Naam Ke Sath...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Mere dil ki ummido ka hausla to dekho,
intezaar uska hai jise mera aehsaas tak nahi..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Meri Paalkon ka Ab Neend se Koi Tal’luqq Nahi Rahaa..,

Mera Koun Hai Iss Soch Mein Raat Gujhaar Jaati Hai..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Meri zindagi mai ek aisa saksh bhi hai yaaron,
Jo meri puri zindagi hai aur mai uska ek lamha bhi nahi.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Mohabbat bhi Tune Kaisi Aajab Cheez Banai Hai..
Ae Khuda..!
Tere hi Darbaar me, Tere hi Insaan, Tere hi Saamne..

Rote Hai Kisi Aur ke Liye.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Mohabbat meri unko bekrar karegi,
Har dhadkan unka hi intezaar karegi,
Hamne to unse aisa pyaar kiya hai,
Ki bewafai bhi 100 janmo tak intezar karegi.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Muhabbat Main Hamesha Badshah Samjha Mene Apne Aap ko,
Ehsas Tab Huwa Jab Tujh ko Manga Faqeeron ke Tarah...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Mumkin Nahi Kisi Ko Samjh Pana ,
Samjhe Bina Kisi Se Dil Lagana...

Aasan Hai Kisi Ko Pyaar Karna ,
Par Bahut Muskil Hai..
Zindagi Mein Kisi Ka Pyaar Pana ...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Na Jaane Kis Shakhs Ka Intezaar Hame Aaj Bhi Hai...
.
Sukoon To Bahut Hai Par Dil Bekaraar Aaj Bhi Hai...
.
Tumne Hame Nafraton Ke Siva Kuch Na Diya Lekin...
.
Hame Tumhari Nafraton Se Pyaar Aaj Bhi Hai...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Na Kar Tamnna Tu Kisi Ko Pane Ki

Badi Be'dard Nigah Hai Is Zmane Ki

Khud Ko Bna Le Kabil Is Kadar

Ki Rakhe Log Tamanna Sirf Tujhe Pane Ki.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Na jaagte hue khwaab dekha karo
Na chaho usse jise paa na sako
Pyaar kahan kisi ka poora hota hai
Pyaar ka pehla akshar adhoora hota hai

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Na jany kiya chupa hai uske nigha e ulfaat mai.....!!
Na chahte huye b usse izhaar e Dil Lagi kr bethe....😘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Na wo aa sake na hum kabhi ja sake,
Na dard dil ka, Kisi ko suna sake,
Bus baithe hai yadon me unki..
Na unhone yaad kiya or na hum unko bhula sake.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ojhal Sahi nigah se,____ dooba nahi hun main,
"Ay raat hoshyaar!_____ k haara nahi hun main,

"Darpesh subh-o-shaam yehi kashmakash hy ab,
"Us ka banoon main kese K apna nahi hun main,

"Mujh ko Farishta hone ka daawa nahi magar,
"Jitna bura samjhte ho utna___ nahi hun main,

"Es tarha phair phair k________ batein na kijiye,
"Lehjay ka rukh samjhta hun bacha nahi hun main,

"Mumkin nahi hai mujh se ye tarz-e-munafqat,
"Dunya tere mizaaj ka____ banda nahi hun main,

"Amjad thi bheerh Aesi____ K chalte chale gaye,
"Girnay ka Aisa khauf tha thehra nahi hun main...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Puchha Saada Haal Unna Nu Humse Dosto,
Zindagi Saadi Hor Haseen Ho Gayi,
Assi Ta Bhatkate Firte Si Tanhaiyo Wich,
Unke Aane Se Saadu Raahe Rangeen Ho Gayi.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Pyaar to zindgi ko sajaane k liye hai.
Par zindgi bus dard bahane k liye hai.
Mere ander ki udaasi kaash koi padhe.
Ye hasta hua chehra to zamaane k liye hai.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Pyar usse iss qadar karta chala jaaun,Wo zakhm de aur main bharta chala jauUsski zid hai ki wo mujhe maar hi dale,To meri b zid hai ki uspe marta chala jaau

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Qadmo Main Kayenat Bhi
Rakhi Gai Magar
Hum ny phir bhi Teri yaad ka
Sauda nahi kiya...😘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Rait bhari hai ankho me aansu se tum dho lena
Koi sukha ped mile toh usse lipat kar ro lena,

Kuch to rait ki pyas bujhao, janam-2 ki pyasi hai.
Sahil k dhalne se phele apne paau bhigo lena,

Mene dariya se sikhi hain pani ki pardadari,
Upar upar hanste rehna gehrayi mein ro dena.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Rang Hai Khushboo Hai Saba Hai Koi
Mausam-E-Gul Ki Tarah Mujhse Mila Hai Koi
Husn Ho Kar Mohabbat Hai Wafa Hai Koi
Aisa Lagta Hai Zamane Se Juda Hai Koi
Apni Pehchaan Hui Jati Hai Mushkil Mujh Ko,
Yun Aaj Meri Taraf Dekh Raha Hai Koi..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Rishta Banao To Dhoka Mat Dena
Kisi Ko Ansoo Ka Tohfa Mat Dena
Dil Se Roye Koi Tumhe Yaad Karke
Aisa Kisi Ko Tum Moka Mat Dena

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Saada Door Raho Gham Ki Parchaiyon Se,
Samna Na Ho Kabhi tumhara Tanhaiyon Se,
Har Armaan Har Khawab Poora Ho Aapka,
Yahi Dua Hai hamari aapko Dil Ki Gehraiyon Se.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Sabke chehro me wo baat nahi hoti,
Thode se andhere se raat nahi hoti.
Zindagi me kuch log bahut khaas hote hai,
Kya kare unse hi mulaqat nahi hoti.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Sher-O-Shayari:
Do Consider rating us and share the link with your friends :
https://telegram.me/tchannelsbot?start=shayarizone

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Sher-O-Shayari:
Sher-O-Shayari:
Do Consider rating us and share the link with your friends :
https://telegram.me/tchannelsbot?start=shayarizone

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Suna Hai Pyaar me Log Jaan Dete Hai..
Per Jo Log Waqt Nahi dete Wo Jaan Kaha Se Denge

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Suna Hai ki Jab Wo Mayus Hote Hai tab Humein Bahut Yaad kiya Karte Hai,
Ae Khuda ..Tu Hi Baata,

Ab Duaa Uski ‘Khushi’ Karu Ya ‘Mayusi’ Ki..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Tamaam Umar Isi Baat ka Gharoor Raha Mujhe..,

“Kisi Ne Mujh Se Kaha Tha ke Hum Tumhare Hain..”

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Tanhayi mere dil mein samati chali gayi
Kismat bhi apna khel dikhati chali gayi,
Mehkti fiza ki khusbu me jo deka pyar ko
Bas yaad unki aayi aur rulati chali gayi…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Tera Intezaar Mujhe Har Pal Rehta Hai,
Har Lamha Mujhe Tera Ehsaas Rehta Hai,
Tujh Bin Dhadkane Rukk Si Jaati Hai,
Ki Tu Mere Dil Me Meri Dhadkan Banke Rehta Hai.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Tere Chehre Me Mera Noor Hoga Fir Tu Na Kabhi Mujhse Dur Hoga Soch Kya
Khusi MiLegi Jaan Us Pal Jis Pal Teri Maang Me Mere naam ka Sindoor Hoga

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Tere Dil Mein Kya Hai Ek Baar Bata To Sahi,.
Apnana Tere Bas Mein Nahi Thukra To Sahi,.
.
Mere Dard Pe Teri khamoshi Nahi Achi Lagti,.
Rona Tere Bas Mein Nahi Muskura To Sahi,.
...
Meri Kitaab Ka Har Panna Teri Nazar Ka Muhtaj Hai,.
Padna Tere Bas Mein Nahi Jala To Sahi,.
.
Tere Shahar Jabse Aaye Pyase Hain Hum,.
Pani Tere Bas Mein ......Nahi Zehar Pila To Sahi,.
.
Samundar Mein Lakar Tune Chhoda Hai Saath Mera,.
Bachana Tere Bas Mein Nahi Duba To Sahi,.
.
Kab Taq Rahega Tujhse Milne Ka Muntazir Ye faraz
Aana Tere Bas Mein Nahi Bula To Sahi,.
.
Ab Kyun Karta Hai Naqaam Koshish Neend Se Uthane Ki,.
Jagana Tere Bas Mein Nahi Dafna To Sahi,.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Tere Har Gum Ko Apni Rooh Mein Utaar Lun Zindagi Apni Teri Chahat Mein Sawaar Lun Mulaqat Ho Tujhse Kuch Is Tarah Meri Sari Umar Bas Ek Mulaqat Mein Gujaar L
un.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Teri Duniyaa Mein Roshni Kar De,
Rab tere Gham Ko Teri Khushi Kar De,
Jab Bi Doobny Lage Teri Saansein,
Khuda Tujh Mein Shamil Meri Zindagi Kar De...😘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Teri Majbooriya Bhi Hogi...Chalo Maan Leta Hu...Magar Tera Waada Bhi Toh Tha..Hamesha Muhje Yaad Rakhne Ka..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

The Best Thing In Life Is

Having A Loving Partner
In Your Life ...

Who Won’t Walk Away In
Your Darkest Moments ...

And Loves You
Exclusively..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Tujse hi har subha ho meri,
Tujse hi har sham,
Kuch aisa rishta ban gaya tujhse,
Ki Har saaso mein sirf tera hi naam.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Tumhare Chand Se Chehre Pe Gum Achchhe Nahi Lagte,
Hume Keh Do Chale Jao Jo Hum Achcche Nahi Lagte,


Hume Vo Zakhm Do Jana Jo Saari Umra Na Bhar Paye,
Jo Jaldi Bhar Ke Mit Jaye vo Zakhm Achchhe Nahi Lagte.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Umar jalwo mein basar ho ye zaruri nahi.
har shab-e-gam ke sahar ho ye zaruri nahi.

neend to dard ke bistar par bhi aa sakti hai.
unke aagosh mein sar ho ye zaruri nahi.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Un Ki Palko0n Say Shuru Hoi Hy Hamari Muhabat Ki Kahani..
Jis Ka Jhukna Bhi Qayamat Hy Or Uthna Bhi Qayamat Hy...😘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Uss Ny Pocha
koe Aakhri
khowahish..!
Zubaan pay phir
"TuM"
Aa gaya..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Wo Zarur Khuch Hamse Chupaya Honga.
Aise Hi Nahi Unke Aankhon Mein Ashq Aaye Honge..!!

Mujhe Bhulna To Aasaan Nahi Hoga
Khabhi Na Khabhi Hum Unhe Zarur Yaad Aaye Honge..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Wo kahkar chal diye itni mulakaat bahut hai,
Hamne kaha ruk jao abhi raat bahut hai,
Tham jaye mere aansoo to shauk se jana,
Aise me kahan jaoge barsaat bahut hai.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Wo keh gaye mera intezar mat krna,
Me kahu to bhi mera aitabar mat krna,
Ye bhi kaha unhe pyar nahi mujhse
Aur ye bhi keh gye kisi Aur se pyar mat krna

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Wo khafa hai humse to khafa hi rehne do,,,

Humko unka Gunahgaar hi rehne do...

Wo samjhte hain ke humne chhod diya unko,,,

Baat to jhoot hai magar sach hi rehne do...

Muddato mangi hai KHUDA se khushiyan unki,,,

Jo aata hai ilzam hum pe to ilzam hi rehne do...

Unki shart hai k main BEWAFA banu,,,

Agar khushi mile unko to mujhe BEWAFA hi rehne do...

Aayega waqt to dikhayenge unko apna ZAKHAM,,,

Abhi khamosh hain humko bas KHAMOSH HI RAHNE DO...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Woh khush hai par shayad hum se nahi
💔
Woh naraz hai par shayad hum se nahi

Kon kehta hai unke dil me mohabbat nahi

Mohabbat to hai par shayad humse nahi.!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Yar K Ghum Ko Ajab Nakash Giri Ati Hai
Por Por Ankh Ni Manid Phari Ati Hai
Bay Taluq Na Hamain Jan K Hum Jantain Hain
Kitna Kuch Jaan K Ye Bay Khabri Ati Hai
Is Qadar Gundna Perti Hai Laho Se Mati
Hath Ghul Jatain Hain To Koza Giri Ati Hai
Kitna Rakhtay Hai Wo Is Shahary Khamosha Ka Khayal
Roz Ik Nao Gulabo Se Bhari Ati Hai
Zindgi Kese Bus Ho Gai K Hum Ko Tabish
Sabar Ata Hai Na Ashfta Sari Ati Hai

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ye Bhi Ek Tamasha Hay Bazar-e-Ulfat Main “GHALIB”

DIL Kisi Ka Hota Hay Aur Bus Kisi Ka Chalta Hay....!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Ye aarzoo nahi ki kisi ko bhulaye hum,
Na tamanna hai kisi ko rulaye hum,
Bas jisko jitna yaad karte hain,
Usey bhi utna yaad aayein hum.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Zinda the to kisi ne pass bhi nahi bithaya,
Ab sabhi mere pass baithe ja rahe the,
Pehle kisi ne rumal bhi bhent nahi kiya,
Ab kapde udhaye ja rahe the,
Sabko pata hai ki ab unke kaam ka nahi main,
Phir bhi bechare duniyadaari nibhaye ja rahe the,
Jinda tha to kisi ne kadar bhi nahi ki,
Jindagi me ek kadam saath na chala koi,
Ab phoolon se sajakar kandho pe leja rahe the,
Aaj pata chala maut jindagi se kitni behtar hai,
Arre yaar hum to yun he jiye ja rahe the.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Zindagi ek chahat ka silsila hai,
Koi mil jata hai, koi bichhad jata hai,
Jise mangte hai hum apni duaon mein,
Woh kisi ko bina mange hi mil jata hai.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

Zindagi roz koi taaza safar maangti hai...

Aur bechari thakan shaam ko ghar maangti hai...

Tujh se main kaise miloon kaise nibhaun rishta...

Dushmani bhi to baharhaal hunar maangti hai...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

_*एक गुनाह रोज,*_

_*किये जा रहा हूँ मैं...!!!*_

_*तुझसे दूर रहकर भी,*_

_*जिए जा रहा हूँ मैं...!!!*_

2020 की शायरी [शायरी 2020]

bahut...shaame'n rangeen guzarti hai...
Kisi ko kya khabar yaro'n..ki ek aashiq ke dilpr kya guzarti hai...

Mahaul hota h aesa ki log waah waah krte nhi thakte...
Lekin kisi ko kya khabar us shayari me us shayar k zindgi ki haqeeqat jhalakti hai...

Mehfile'n sajti hai'n bahut...shaame'n rangeen guzarti hai...
Kisi ko kya khabar yaro'n..ki ek aashiq ke dilpr kya guzarti hai...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

mehnat lagti h sapno ko hakikat bnane m,
Hosla lagta h bulandiyo ko pane m,
Arsa lag jata h jindgi bnane m,
Jindgi kam padti h 1 sacha dost pane m

2020 की शायरी [शायरी 2020]

 ऐ परिंदे!!
यूँ ज़मीं पर बैठकर क्यों
आसमान देखता है..
पंखों को खोल, क्योंकि,
ज़माना सिर्फ़ उड़ान देखता है !!
🕊🕊🕊🕊🕊🕊

2020 की शायरी [शायरी 2020]

 यदि आप प्यार से रहते हो, प्यार के साथ रहतो हो, तो आप एक महान जिंदगी जी रहे हो, क्योकि प्यार ही जिंदगी को महान बनाता है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अकेलापन क्या होता है
ये तो तब पता चला ...

जब किसी से महोब्बत करके
जुदा हो गये ...

💕💕💕💕💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अगर बात ख्वाब की करूँ तो बस इतना कहूँगा,💖
🌹
तुमसे जुड़ा हो तो हसीन और तुम्हारा हो तो बेहतरीन !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अगर मेरे अल्फाज भी
खूबसूरत लगते है
तो सोचिए
जिसे देखकर लिखता हूँ
वो कितने खूबसूरत होंगे

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अगर वाकई में कामयाब जिंदगी बनाना चाहते हो तो याद रखना

बेशक पाँव फिसल जाये पर जुबान को कभी मत फिसलने देना

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अछा हुआ मालूम हो गया, अपनो की मोहब्बत अब
मोहब्बत नही रही….
वरना हम तो अपना घर भी चोर्ड रहे थे, उनके
दिल मैं रहने के लिए….

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अजनबी ख्वाहिशें सीने में दबा भी न सकूँ
*ऐसे जिद्दी हैं परिंदे के उड़ा भी न सकूँ*

फूँक डालूँगा किसी रोज ये दिल की दुनिया
*ये तेरा खत तो नहीं है कि जला भी न सकूँ*

मेरी गैरत भी कोई शय है कि महफ़िल में मुझे
*उसने इस तरह बुलाया है कि जा भी न सकूँ*

इक न इक रोज कहीं ढ़ूँढ़ ही लूँगा तुझको
*ठोकरें ज़हर नहीं हैं कि मैं खा भी न सकूँ*

फल तो सब मेरे दरख्तों के पके हैं लेकिन
*इतनी कमजोर हैं शाखें कि हिला भी न सकुँ.....*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अजनबी गलियों से हम गुजरा नहीं करते;
दर्द-ए-दिल हम लिया और दिया नहीं करते;
ये दोस्ती का रिश्ता सिर्फ तुमसे है;
वर्ना इतने मैसेज हम भी किसी को किया नहीं करते।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अजब सी आग थी जलता रहा बदन सारा
तमाम उम्र वो होंटों पे बन के प्यास रहा!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अज़ीब सी कश्मकश मे उलझ कर रह गयी है आजकल ज़िन्दगी हमारी,
..
..
उन्हें याद करना नही चाहते और भूलना तो जैसे नामुमकिन सा है।
💕💕💕💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अजीब कहानी है इश्क और मोहब्बत
की,
उसे पाया ही नहीं फिर भी खोने से
डरता हूँ…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अजीब रिश्ता हैं मेरा ऊपर वाले के साथ
जब भी मुसीबत आती हैं
न जाने किस रूप मे आता हैं
हाथ पकड़ कर पार लगा देता हैं
मैं उसके सामने सर झुकाता हूँ
वो सबके के सामने मेरा सर उठाता हैं ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अपना आशियाना अपने हाथों से जला दिया होगा..
इंतना आसान नहीं था मुझे भूलाना उसने खुद को ही गवा दिया होगा..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अपनी महफ़िल में मुझे तुम ग़ौर से देखा न करो,
मैं तमाशा हूँ मगर अब तुम तो तमाशा न करो…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अपने सीने से लगाए हुए उम्मीद की लाश;
मुद्दतों जीस्त को नाशाद किया है मैंने;
तूने तो एक ही सदमे से किया था दो-चार;
दिल को हर तरह से बर्बाद किया है मैंने!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अफ़वाह थी कि मेरी तबीयत खराब है,
लोगों ने पूछ पूछ के बीमार कर दिया।
दो गज़ सही, मगर ये मेरी मिल्कियत तो है,
ए मौत तूने मुझको ज़मींदार कर दिया।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अब उदास होना भी अच्छा लगता है,😔
किसी का पास न होना भी अच्छा लगता है,
मैं दूर रह कर भी किसी की यादों में हूँ,
ये एहसास होना भी अच्छा लगता है।😍

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अब ऐसे घर के दरीचों को बंद क्या रखना
हवा के आने का कोई तो रास्ता रखना

तमाम झगड़े यहां मिल्कियत के होते हैं
कहीं भी रहना मगर घर किराए का रखना

ताअल्लुकात कभी एक से नहीं रहते
उसे गँवा के भी जीने का हौसला रखना

जब अपने लोग ही आएंगे लूटने के लिये
तो दोस्ती का तक़ाजा है घर खुला रखना

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अब तो हम तेरे लिए अजनबी हो गये
💔
बातो के सिलसिले भी कम हो गये
💔
खुशियो से ज़्यादा हमारे पास गम हो गये

क्या पता ये वक़्त बुरा है या बुरे हम हो गये…✍🏿

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अब दर्द को पीना भा रहा है

यूँ तड़प तड़प जीना भा रहा है

हैं काटें तो भी सज़ा लूँ दामन में

काटों के साथ यूँ जीना भा रहा है

थोड़ी थोड़ी तड़प बढ़ाते रहना

यूँ मर मर कर जीना भा रहा है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अबके बरस भी वो नहीं आये बहार में,
गुजरेगा और एक बरस इंतज़ार में.

ये आग इश्क़ की है बुझाने से क्या बुझे?
दिल तेरे बस में है ना मेरे इख्तियार में.

है टूटे दिल में तेरी मुहब्बत, तेरा ख़याल,
कुछ रंग है बहार के उजड़ी बहार में.

आंसू नहीं है आँख में लेकिन तेरे बगैर,
तूफ़ान छुपे हुए हैं दिल-ए-बेकरार में.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अभी न पूछो हमसे की मंजिल कहा हैं ,
अभी तो हमने चलने का इरादा किया हैं।

न हारे हैं न हारेंगे कभी ,
ये किसी और से नही खुद से वादा किया हैं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अभी ना पूछो हमसे मंजिल कहाँ है;
अभी तो हमने चलने का इरादा किया है!
ना हारें हैं ना हारेंगे कभी;
ये किसी और से नहीं खुद से वादा किया है!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

अहसास की नदी में कभी डूब के तो देख ।
*आँखों की इस नदी में कभी डूब के तो देख ।।*

पैमाना अपने आप ही भर जायेगा तेरा ।
*औरों की तिश्नगी में कभी डूब के तो देख ।।*

बिखरें पड़े हैं खुशियों के मोती यहाँ वहां ।
*तूँ अपनी ज़िन्दगी में कभी डूब के तो देख ।।*

आ जाएगीं समझ में जो बातें हैं अनकही ।
*लफ़्ज़ों की खामोशी में कभी डूब के तो देख ।।*

मुमकिन है ज़िन्दगी का ये अंदाज़े -इश्क हो ।
*तूँ उसकी बेरुखी में कभी डूब के तो देख ।।*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँख भर देखा मुहब्बत कर ली ।
सर झुकाया तो इबादत कर ली ।।

इश्क़ को हद से गुजरना ही था ।
ख़्वाब की बात हक़ीक़त कर ली ।।

उनका हर नक़श तराशा रब ने ।
अपनी हर सोच सदाक़त कर ली ।।

अपनी तक़दीर संबर जानी है ।
इसलिए ही यह हमाक़त कर ली ।।

अब तो हर हाल में है ख़ुश(... )।
उसने भी दिल से हिमायत कर ली ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँखों को जब किसी की चाहत हो जाती है उसे देख के ही दिल को राहत हो जाती है कैसे भूल सकता है कोई किसी को ‘ऐ’ दोस्त जब किसी को किसी की आदत हो जाती है मोहोब्बत कुछ इस कदर हो जाती है उसे के रब से पहले उसकी इबादत हो जाती है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँखों मे आ जाते है आँसू,
फिर भी लबों पे हँसी रखनी पड़ती है,
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते है उसी से छुपानी पड़ती है !!✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँखों मे आ जाते है आँसू,
फिर भी लबो पे हसी रखनी पड़ती है,

ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते है उसीसे छुपानी पड़ती है…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँखों में आंसुओं की लकीर बन गई;
जैसी चाहिए थी वैसी तकदीर बन गई;
हमने तो सिर्फ रेत में उंगलियाँ घुमाई थी;
गौर से देखा तो आपकी तस्वीर बन गई!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँखों में इश्क़, लब पे ख़ामोशी;
अंदाज़ में इकरार, जिस्म में इंकार;
कहाँ जाएं मोहब्बत करने वाले;
एक तरफ जन्नत, दूसरी तरफ जहन्नुम।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँधियों में भी जो जलता हुआ
मिल जायेगा ,,:

उस दीये से पूछना,

मेरा पता मिल जायेगा "

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँसू आ जाते हैं आँखों में;
पर लबों पर हंसी लानी पड़ती है;
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो;
जिस से करते हैं उसी से छुपानी पड़ती है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँसू न होते तो आँखें
इतनी ख़ूबसूरत न होतीं

दर्द न होता तो
ख़ुशी की क़ीमत न होती

गर मिल जाता सब-कुछ
केवल चाहने ही से

तो दुनिया में ऊपर वाले की
ज़रूरत ही न होती !!
❣❣❣

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आँसू निकल पडे ख्वाब में उसको दूर जाते देखकर;

आँख खुली तो एहसास हुआ इश्क सोते हुए भी रुलाता है!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आंखो को जब किसी की चाहत हो जाती हे,
उसे देख के ही दिल को राहत हो जाती हे,
केसे भूल सकता हे कोई किसी को,
जब किसी को किसी की आदत हो जाती हे..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है,
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है,
यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का,
उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आओ खुदा से हम दुआ मांगे ..

जिंदगी जीने की अदा मांगे ..

अपनी खातिर तो बहुत माँगा है ..


आओ आज सबके लिए खुशियाँ मांगे !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आज इश्क से नज़र मिला आई हू,
मै,आँखों के सब पर्दे,उतार आई हू,

कल जो जला कर गया था दिल मेरा,
आज,उसके सब ख़त जला आई हू

इश्क के फरेब में,लुटाया सुकून अपना,
मै,हसरतों को बहुत दूर सुला आई हू,

उसके इश्क में,जीना भूल गई थी
मै,जिंदगी को फिर,घर बुला लाई हू,

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आज नही तो कल ये एहसास हो ही
जायेगा....!!..
कि "नसीब वालो" को ही मिलते है फिकर
करने वाले"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आज फिर की थी मैंने मोहब्बत से तौबा,
आज फिर उनकी तस्वीर देख कर नियत बदल गई...!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आज फिर वो हमें रुला के चली गयी , आज फिर वो हमें बहका कर चली गयी , दिल हमारा ले गयी और बदले , अपना शौपिंग का बिल थमा कर चली गयी..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आप ही अपनी अदाओं पे जरा गौर करें,
हम अगर अर्ज करेंगे तो शिकायत होगी..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आपको बिना बात के ही रूठने की आदत है किसी अपने का साथ न पाने की आदत है आप हमेशा खुश रहो मेरा क्या है दोस्तों मैं तो आईना हूं मुझे तो टूटने की आदत है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आपको मिस करना रोज़ की बात हो गई आपको याद करना आदत की बात हो गई आपसे दूर रहना किस्मत की बात हो गई मगर इतना समझ ऐ मेरे प्यारे अजीज की आपको भूलना अपने बस से बहार की बात हो गई

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आशिक पागल हो जाते हैं प्यार में, जब भी देखो रहते है इन्तजार में , लेकिन ये उनकी दिलरुबा नही समझतीं, वो बैठ कर चली जाती है किसी और की कार में..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

आसू निकल पड़े खवाब में उसको दूर जाते
देखकर..
आख खुली तो एहसास हुआ इशक सोते हुए भी
रुलाता है!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गई है;
खामोशियों की आदत हो गई है;
ना शिकवा रहा ना शिकायत किसी से;
अगर है तो एक मोहब्बत, जो इन तन्हाईयों से हो गई है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इक कहानी-सी दिल पर लिखी रह गयी
*वह नज़र जो मुझे देखती रह गयी*

रंग सारे ही कोई चुरा ले गया
*मेरी तस्वीर अधूरी पडी रह गयी*

लोग बाज़ार मे आके बिक भी गये
*मेरी क़ीमत लगी-की-लगी रह गयी*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इतना शौंक मत रखो इन इश्क की गलियों में जाने का;
क़सम से रास्ता जाने का है आने का नहीं!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इतनी तवील उम्र को जल्दी से काटना
जैसे दवा की पन्नी को कैंची से काटना

ये फ़न कोई फ़क़ीर सिखाएगा आपको
हीरे को एक फूल की पत्ती से काटना...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इत्तेफ़ाक़ से यह हादसा हुआ है;
चाहत से मेरा वास्ता हुआ है;
दूर रह कर बड़ा बेताब था दिल;
पास आ कर भी हाल बुरा हुआ है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इन आँखों में जो तस्वीर है वो तेरी है,
दिल की हर धड़कन बस तेरी है,
नहीं चाहिए सारे जहाँ की खुशियां मुझे,
खुदा करे तुझे मिल जाएँ,
वो सारी खुशियाँ जो मेरी है…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इन्सान इस एक कारण से अकेला हो जाता है,
अपनो को छोड़ने की सलाह ग़ैरों से लेता है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इश्क के रिश्ते कितने अजीब होते है?
दूर रहकर भी कितने करीब होते है;
मेरी बर्बादी का गम न करो;
ये तो अपने अपने नसीब होते हैं!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इश्क ने हमें बेनाम कर दिया हर खुशी से हमें अंजान कर दिया हमने तो कभी नहीं चाहा किहमें भी मोहब्बत हो लेकिन आप की एक नजर ने हमे नीलाम कर दिया !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इश्क़ का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करूँ,
आप भूल भी जाओ तो मैं हर पल याद करूँ,
इस इश्क़ ने बस इतना सिखाया है मुझे,
की खुद से पहले आपके लिए दुआ करूँ!!❤❤❤❤❤❤❤❤❤

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इस दुनिया से उम्मीद-ए-वफ़ा मत रखना;
लुट जाओगे दरवाज़ा खुला मत रखना;
ख्वाहिश है अगर जन्नत में जाने की तो;
अपने माँ-बाप को अपने से कभी जुदा मत रखना।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

इस दौर में इंसान का चेहरा नहीं मिलता
कब से मैं नक़ाबों की तहें खोल रहा हूँ

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उदास नहीं होना, क्योंकि मैं साथ हूँ!
सामने न सही पर आस-पास हूँ!
पल्को को बंद कर जब भी दिल में देखोगे!
मैं हर पल तुम्हारे साथ हूँ!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उदासी में लिपटी हर शाम आती है
दर्द घुली हुई रात आती है....
जी तो रहे हैं तेरे जाने के बाद भी हम
पर तेरे ही नाम से हर साँस आती है ......
इससे भी ज्यादा क्या ज़िक्र करूँ अपनी तन्हाई का
अब तो हर रात के बाद बस शाम ही आती है़......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उन ज़ज़्बातों से होती है मेरी गुफ्तगू शबो-रोज़,
कुछ मसीहा किताबों में जो अल्फ़ाज़ पिरो गए।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उनकी मोहब्बत का अभी निशान बाकी हैं,
नाम लब पर हैं मगर जान अभी बाकी हैं,
क्या हुआ अगर देख कर मूंह फेर लेते हैं वो..
तसल्ली हैं कि अभी तक शक्ल कि पहचान बाकी
हैं!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उनके जाने के बाद,तन्हाई का सहारा मिला है,इसकी आगोश में आये, फिर निकलना नही आया,उनकी फितरत ही रही, कुछ मौसम की तरह,हमें,मौसम की तरह, फिर बदलना नही आया,यू तो और भी बहुत,तलबगार थे,इस”मन”के पर इश्क में पाबंद थी फिर बहकना नही आया.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उनके लिए जब हमने भटकना छोड़ दिया,
याद में उनकी जब तड़पना छोड़ दिया,
वो रोये बहुत आकर तब हमारे पास,
जब हमारे दिल ने धडकना छोड़ दिया.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उनको अपने हाल का हिसाब क्या देते सवाल सारे गलत थे जवाब क्या देते वो तीन लफ्जों की हिफाजत ना कर सके उनके हाथ में जिंदगी की पूरी किताब क्या देते !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उनको डर है कि हम उन के लिए जान नही दे सकते, और मुझे खोफ़ है कि वो रोएंगे बहुत मुझे आज़माने के बाद !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उन्हें वहम है कि बस मुँह फेर कर भुला पाएँगें हमें...!!☝🏻

कोई समझाए कि आँखें मूँदने से रात नहीं हुआ करती...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उन्होंने कहा, बहुत बोलते हो, अब क्या बरस जाओगे….!!‼
हमने कहा, चुप हो गए तो तुम तरस जाओगे….!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उम्र की राह में रास्ते बदल जाते है,
वक़्त की आंधी में इंसान बदल जाते है,
सोचते है तुम्हे इतना याद न करे लेकिन,
आँख बंद करते ही ख़यालात बदल जाते है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उलझनें क्या बताऊँ ज़िन्दगी की

तेरे ही दर पे
तेरे ही गले लगकर
तेरा ही हाथ पकड कर
तेरी ही शिकायतें करनी है...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उस नज़र को मत देखो;
जो आपको देखने से इनकार करती है;

दुनियां की भीड़ में उस नज़र को देखो;

जो सिर्फ आपका इंतजार करती है!!!!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उसकी आँखों का खुमार उफ्फ...तोबा..!

💕💕💕💕💕
यकीन करो दिल ना देते तो जान चली जाती.....!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उसकी फितरत परिंदों सी थी मेरा मिज़ाज दरख़्तों जैसा,,

उसे उड़ जाना था और मुझे कायम ही रहना था,,

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उसकी यादों को किसी कोने में छुपा नहीं सकता,
उसके चेहरे की मुस्कान कभी भुला नहीं सकता,
मेरा बस चलता तो उसकी हर याद को भूल जाता,
लेकिन इस टूटे दिल को मैं समझा नहीं सकता.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उसके चेहरे पर इस कदर नूर था;
कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था;
बेवफ़ा भी नहीं कह सकते उसको फराज़;
प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उसने कहा दिखाओ अपनी हथेली मै किस लकीर मे हूं
मैने कहा छोटी सी लकीर मे नहीं~तुम मेरी हर धड़कन मे हो...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उसने ग़म देके बताया मेरी किस्मत क्या है।
में भी गम खा के अ बता दू मोहब्बत क्या है।
जमाना क्यों परेशान है मेरी तन्हाई पर।
इतनी गहरायी में जाने की जरुरत क्या है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

उसे मिल गए उसकी बराबरी के लोग....!!

मेरी गरीबी मेरी मोहब्बत .…..की कातिल निकली....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऊँची उड़ान की चाहत किसे नहीं होती, लेकिन उड़ान सबकी सफल भी तो नहीं होती।
कभी कमी होती है कि पंख छोटे पड़ गये, और कभी बड़े पंखों को कुतर दिया जाता है।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक उम्र गुजार दी हमने रिश्तों का मतलब समझने में,
लोग मशरूफ है मतलब के रिश्तें बनाने में !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक चाहत थी,तेरे संग जीने की वरना मोहब्बत तो किसी से भी हो सकती थी...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक जुर्म हुआ है हम से एक यार बना बैठे हैं
कुछ अपना उसको समझ कर सब राज़ बता बैठे हैं
फिर उसकी प्यार की राह में दिल ओर जान गवा बैठे हैं
वो याद बहुत आते हैं जो हुमको भुला बैठे हैं

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक दिन रौशनी करेंगे हम,
हमने सूरज निकलते देखा है।

*आप नाहक गुरूर करते हैं,*
*अच्छे-अच्छों को ढलते देखा है।*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक परवाज़ दिखाई दी है,
तेरी आवाज़ सुनाई दी है,

जिसकी आँखों में कटी थीं सदियाँ
उसने सदियों की जुदाई दी है

सिर्फ एक सफहा पलट कर उसने
सारी बातों की सफाई दी है

फिर वहीँ लौट के जाना होगा,
यार ने ऐसी रिहाई दी है

आग ने क्या-क्या जलाया है शब भर,
कितनी ख़ुश रंग दिखाई दी है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम,
दुसरे ही पल ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम,
जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से,
फिर भी बार बार तनहा छोड़ जाते हो तुम !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक प्यारी सी कली थी जो फूल बन गयी एक नन्ही सी मुस्कान थी जो हसी बन गयी ये छोटी छोटी सी मुलाकात अब तो प्यार बन गयी और आपका हर पल साथ तो जैसे बहार बन गयी .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक बचपन का जमाना था,
जिस में खुशियों का खजाना था..
चाहत चाँद को पाने की थी,
पर दिल तितली का दिवाना था..
खबर ना थी कुछ सुबहा की,
ना शाम का ठिकाना था..
थक कर आना स्कूल से,
पर खेलने भी जाना था...
माँ की कहानी थी,
परीयों का फसाना था..
बारीश में कागज की नाव थी,
हर मौसम सुहाना था..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक बाज़ार है ये दुनिया...
सौदा संभाल के कीजिए...
.
.
.
मतलब के लिफ़ाफ़े में...
बेशुमार दिल मिलते हैं...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक बात कहुँ,
नाराज़ तो नहीं होगे न...?
°
जब तुम को लगे कि तुम मेरे हो,
देर न करना आने में...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक मैं हूँ कि...
समझा नहीँ खुद को आज तक l

एक दुनिया है कि...
न जाने मुझे क्या-क्या समझ लेती है...💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक रोज तुमसे जरूर मिलेंगे !
दिल के सारे अरमान कहेंगे !!
तुम हमारी साँसे बनना !
हम तुम्हारी जान बनेंगे !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक वक्त था
जब बातें ही खत्म नही होती थी..
आज सब कुछ खत्म होने को है
मगर बात नही होती..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक शब्द है (आँसू)
दिल में छुपा कर रखो
तुम्हारी आँखों से ना निकल जाए तो कहना,💞💕💞💕💞💕💞💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक हम है,
जो " इश्क़ " की बारीश
करते है, बेवज़ह
और एक वो है,
जो हमारी " मोहब्बत " में भीगने को तैयार ही नही, !!🌹💔

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एक हम है, जो " इश्क़ " की बारिश
करते है, " बेवज़ह "

और एक वो है, जो हमारी " मोहब्बत " में भीगने को तैयार ही नही, !!🌹💔

2020 की शायरी [शायरी 2020]

एहसास की जमी पर , ईश्क तु मेरा मेहफुज़ कर,

मन दिखाई नही देता,मन की बातें महसुस कर।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐ ज़िन्दगी तेरी किताब के फ़लसफ़े समझ नहीं आते
किसको संभलो किसको फाड् दू क्यों कोई कोरे रह गए पन्ने समझ नहीं आते
अब तेरे शगूफे समझ नहीं आते

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐ दिल मत कर इतनी मोहब्बत किसी से;
इश्क़ में मिला दर्द तू सह नहीं पायेगा;
एक दिन टूट कर बिखर जायेगा अपनों के हाथों से;
किसने तोडा ये भी किसी से कह नहीं पायेगा।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐ मेरी "ज़िन्दगी" यूँ मुझसे "दगा" ना किया कर...!!!
उसे भूलकर "ज़िन्दा" रहूँ ये दुआ ना भी कर...!!!
कोई उसे देखता है तो होती है हमे "तकलीफ़"...!!!
ऐ हवा तू भी उसके बदन और जुल्फो को "छुआ" ना कर...!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐ वाइज़-ऐ-नादाँ करता है तू एक क़यामत का चर्चा।
यहाँ रोज़ निगाहें मिलाती हैं, यहाँ रोज़ क़यामत
होती है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐसा न हो अपना वजूद ही मिटा लो..
इश्क़ का चिराग़ जलाते जलाते उँगलियाँ जलालो

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐसा नहीं कि आप याद आते नहीं
खता सिर्फ इतनी है कि हम बताते नहीं
रिश्ता आपका अनमोल है हमारे लिये
समझते हो आप इसलिये हम जताते नहीं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐसा नहीं देखा कहीं हाल किसी और का ..

पहलू में कोई और ..

ख्याल और किसी का ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐसा नहीं है की दिन नहीं ढलता या रात नहीं होती,
सब अधूरा सा लगता है जब तुमसे बात नहीं होती !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐसी ही गुजार ली जिन्दगी मैं ने...
कभी खुदा की रजा समझ कर...कभी अपने गुनाहें की सजा समझ कर...!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ऐसे न बिछड़ आँखों से अश्क़ों की तरह तूँ ।
आ लौट के आ फिर तिरी यादों की तरह तूँ ।।
सुख चैन मिरा लूटने वाले आ किसी दिन ।
मुझको भी चुरा ले मिरी नींदों की तरह तूँ ।।
चाहा था बहुत मैंने भुला दूँ लेकिन ।
जाता नहीं दिल से उम्मीदों की तरह तूँ ।।
मुँह फेर के जाना है तुझे तेरी मर्जी ।
मत रूठ मगर मुझ से नसिबों की तरह तूँ ।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

औकात नही थी इस दुनिया में किसी की जो हमारी कीमत लगा सके,
लेकिन प्यार में पड गया आखिर और मुफ़्त में खुद बिक गया.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कई बार ये सोच के भी
मेरा दिल रो देता है की
मुझे ऐसा क्या पाना था
जो मैंने खुद को भी खो दिया..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कटता नहीं है दिन मेरा इस दो ह़ज़ार में
कब तक मिलेगी पान-ओ- बीड़ी उधार में

कह दो इन शादियों से अभी और कुछ टलें
कितना हम बांटे न्योता अब दो हज़ार में

बैंक से हम आज जुगाड़ के लाये थे चार नोट
दो बीवी ने झटक लिए, दो गए उधार में

दिन आज का भी ख़त्म हुआ शाम हो गई
सोऊंगा आज रात भी मैं बैंक की कतार में

कितना है बदनसीब "अज्जत" नोट के लिये
पीटा है ATM गार्ड ने, कू-ए-यार मे

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कदम कदम पर तेरी इबादत तेरा फसाना तेरी कहानी...!


किताब जहाँ जहाँ से खोली मोहब्बत तेरी ही निकली...!!!❤❤❤❤❤

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कब यादों में तेरा साथ नहीं ..,
.. कब हाथों में तेरा हाथ नहीं ...
मत पूछ इंतज़ार कितना है ..,
.. जबसे मुझे तेरा इंतज़ार नहीं ...
तेरा अक्स अजनबी राहों में ..,
.. जो तेरे लब.., तेरी बाहर नहीं ...
तेरी यादें हैं जब इन रातों में ..,
.. फिर हिज्र कि कोई रात नहीं ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कबूल -ए-इश्क तो हमें भी है

...साहिबा ...

लेकिन कोई मिले तो सही ...

इश्क -ए-कबूल करने वाली...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कभी अकेले में मिल कर झंझोड़ दूंगा उसे
जहाँ जहाँ से वो टूटा है जोड़ दूंगा उसे
मुझे छोड़ गया ये कमाल है उस का
इरादा मैंने किया था के छोड़ दूंगा उसे

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कभी कभी , ऐसा होता है
प्यार का असर देर से होता है।
आपको क्या लगता हम आपके बारे कुछ नही सोचते
पर हमारी हर बात में आपका जिक्र होता है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कभी कभी मोहब्बत में वादे टूट जाते हैं;
इश्क़ के कच्चे धागे टूट जाते हैं;
झूठ बोलता होगा कभी चाँद भी;
इसलिए तो रुठकर तारे टूट जाते हैं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता
कहीं ज़मीं तो कहीं आसमाँ नहीं मिलता

बुझा सका है भला कौन वक़्त के शोले
ये ऐसी आग है जिसमें धुआँ नहीं मिलता

तमाम शहर में ऐसा नहीं ख़ुलूस न हो
जहाँ उमीद हो सकी वहाँ नहीं मिलता

कहाँ चिराग़ जलायें कहाँ गुलाब रखें
छतें तो मिलती हैं लेकिन मकाँ नहीं मिलता

ये क्या अज़ाब है सब अपने आप में गुम हैं
ज़बाँ मिली है मगर हमज़बाँ नहीं मिलता

चिराग़ जलते ही बीनाई बुझने लगती है
खुद अपने घर में ही घर का निशाँ नहीं मिलता

जिसे भी देखिये वो अपने आप में गुम है
ज़ुबाँ मिली है मगर हमज़ुबा नहीं मिलता

तेरे जहान में ऐसा नहीं कि प्यार न हो
जहाँ उम्मीद हो इस की वहाँ नहीं मिलता

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कभी जो मिला हक़ मुझे अपनी तक़दीर
लिखने का,
,
कसम खुदा की तेरा नाम लिख दूंगा और कलम
तोड़ दूंगा !! 💓

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कभी तो आसमाँ से चाँद उतरे जाम हो जाये
तुम्हारे नाम की इक ख़ूबसूरत शाम हो जाये

हमारा दिल सवेरे का सुनहरा जाम हो जाये
चरागों की तरह आँखें जलें जब शाम हो जाये

अजब हालात थे यूँ दिल का सौदा हो गया आख़िर
मोहब्बत की हवेली जिस तरह नीलाम हो जाये

समंदर के सफ़र में इस तरह आवाज़ दो हमको
हवायें तेज़ हों और कश्तियों में शाम हो जाये

मै ख़ुद भी एहतियातन उस गली से कम गुज़रता हूँ
कोई मासूम क्यों मेरे लिये बदनाम हो जाये

मुझे मालूम है उस का ठिकाना फिर कहाँ होगा
परिंदा आसमाँ छूने में जब नाक़ाम हो जाये

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
ना जाने किस गली में ज़िन्दगी की शाम हो जाये

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कभी सहरा तिरा लहजा, कभी बारिश तिरी बातें
कभी ठंडा तिरा लहजा, कभी आतिश तिरी बातें

यही शीरीं-ओ-तल्ख़ी तबियत सैद करती है
कभी कड़वा तिरा लहजा, कभी किशमिश तिरी बातें

नही कोई तबीब दिल सितम माइल तिरा जैसा
कभी फाया तिरा लहजा, कभी सोजिश तिरी बातें

अँधेरा है अगर डूबे, अगर उभरे तो सूरज है
कभी कोरा तिरा लहजा, कभी दानिश तिरी बातें

भड़कती बुझती है पल पल चिराग़-ए-ज़िन्दगी की लौ
कभी रसिया तिरा लहजा, कभी रंजिश तिरी बातें

मताएं ज़ीस्त है "नैना" यही ग़ुरबत यही दौलत
कभी कासा तिरा लहजा, कभी बख़्शिश तिरी बातें

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कमाले इश्क़ है दीवाना हो गया हूँ मैं
*ये किस के हाथ से दामन छुड़ा रहा हूँ मैं*

तुम्हीं तो हो जिसे कहती है ना-ख़ुदा दुनिया
*बचा सको तो बचा लो कि डूबता हूँ मैं*

ये मेरे इश्क़ की मजबूरियाँ मा'ज़-अल्लाह
*तुम्हारे राज़ तुम्हीं से छुपाता रहा हूँ मैं*

इस इक हिजाब पे सौ बे-हिजाबियाँ सदक़े
*जहाँ से चाहता हूँ तुम को देखता हूँ मैं*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कमी तेरी आज
फिर मुझको खटक गयी

ज़िन्दगी आज
फिर से काश पे अटक गयी...!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

करके अरमानो का कत्ल कांधा देता है कोई खुद ही रुलाकर उन्हे, रुमाल थमा देता है कोई यूं तो इंसाफ ख़ुदा का पाता है हर कोई लेकिन अपनी नज़र मे गिरकर कैसे जी लेता है कोई

2020 की शायरी [शायरी 2020]

करता हूँ इश्क़ तुझसे मोहब्बत ए- जुनून बनकर,
हर लम्हा बहती है तू मेरी नस नस में खून बनकर...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

करें किसका यक़ीन यहाँ सब अदाकार ही तो हैं,
गिला भी करें तो किससे करें सब अपने यार ही तो हैं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कश्ती तेरा नसीब चमकदार कर दिया
इस पार के थपेड़ो ने उस पार कर दिया..
खबर थी कि मेरी तबियत खराब है
लोगो ने पुछ पुछ के बिमार कर दिया....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कहने वालों का कुछ नहीं जाता,
सहने वाले कमाल करते हैं..

कौन ढूँढ़े जवाब दर्दों के,
लोग तो बस सवाल करते हैं...!🌹🌹🌹🌹

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कहाँ मांग ली थी कायनात
जो इतनी मुश्किल हुई- ऐ-खुदा..??

सिसकते हुए शब्दों में बस
एक शख्स ही तो मांगा था.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कहानी जिसकी थी उसके ही जैसा हो गया था मैं.

तमाशा करते करते खुद तमाशा हो गया था मैं.

न मेरा नाम था ना दाम बाज़ार-ए-मोहब्बत में.
बस उसने भाव पूछा और महेंगा हो गया था मैं.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कांटो के बदले फूल क्या दोगे,
आँसू के बदले खुशी क्या दोगे,
हम चाहते है आप से उमर भर की दोस्ती,
हमारे इस शायरी का जवाब क्या दोगे ?.......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कामयाबी कभी बड़ी नही होती,
पाने वाले हमेशा बड़े होते है.
दरार कभी बड़ी नही होती,
भरने वाले हमेशा बड़े होते है.
इतिहास के हर पन्ने पर लिखा है,
दोस्ती कभी बड़ी नही होती,
निभाने वाले हमेशा बड़े होते है…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

काश कि मिल जाये मुझे मुक़द्दर की स्याही और क़लम,,

लम्हे-लम्हे की खुशी लिख दूं तुम्हारी ज़िंदगी के लिये..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

काश फिर वो मिलने कि वजह मिल जाएँ … साथ वो बिताया , वो पल मिल जाये चलो अपनी अपनी आँखें बंद कर लें क्या पता खाव्बों मैं गुजरा हुआ कल मिल जाएँ

2020 की शायरी [शायरी 2020]

काश वो पल संग बिताये न होते जिनको याद कर आज ये आँसू आये न होते अगर इस तरह उनको मुझसे दूर ले जाना था तो इतनी गहराई से दिल मिलाये न होते!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कितना अजीब है, अन्दाज तेरी मोहब्बत का..
रुला के कहते हो अपना ख्याल रखना

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कितना और बदलू खुद को जिंदगी जीने के लिए ...
ए जिंदगी , मुझको थोड़ा सा..
मुझमे बाकी रहने दे!...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कितना दुश्वार है दुनिया ये हुनर आना भी
*तुझी से फ़ासला रखना तुझे अपनाना भी*
ऐसे रिश्ते का भरम रखना बहुत मुश्किल है
*तेरा होना भी नहीं और तेरा कहलाना भी*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कितना बेबस है इंसान किस्मत के आगे;
कितना दूर है ख्वाब हकीकत के आगे;
कोई रुकी हुई सी धड़कन से पूछे;
कितना तड़पता है यह दिल मोहब्बत के आगे।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कितनी अजीब है कुछ क़रीबी रिश्तों की रोशनी,
उजालो कें बावजूद भी चेहरे पहचाने नहीं जाते !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कितनी आसानी से कह दिया तुमने,
की बस अब तुम मुझे भूल जाओ,
साफ साफ लफ्जो मे कह दिया होता,
की बहुत जी लिये अब तुम मर जाओ.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कितनी आसानी से दुनिया की गिरह खोलता है ,
मुझ में इक बच्चा बुज़ुर्गों की तरह बोलता है .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कितनी मासूम होती है ये दिल की धड़कने,

कोई सुने ना सुने ये ख़ामोश नहीं रहती....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किताब ए इश्क़ लिखने ...की मुझे फ़ुरसत नहीं.....!!

अभी तक बेवफ़ाई पर ...तहक़ीक़ात जारी हैं....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किस हक़ से मांगू अपने हिस्से का वक़्त तुमसे,क्यूंकि न ये वक़्त मेरा है और न ही तुम मेरे हो !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी और के दीदार के लिए उठती नहीं ये आँखे

बेईमान आँखों में थोड़ी सी शराफ़त आज भी है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी की यादों ने पागल बना रखा है,
कहीं मर ना जाऊं कफ़न सिला रखा है,
जलने से पहले दिल निकाल लेना,
कहीं वो ना जल जाए जो दिल में छुपा रखा है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी के ऐब को तू बेनकाब ना कर,
खुदा खुद हिसाब करेगा,तू हिसाब ना कर,
बुरी नजर से ना देख मुझको देखने वाले,
मैं लाख बुरा सही,मगर तू तो अपनी नजर खराब ना कर ....!!!!!!!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी के धडकते दिल के पीछे कोई बात होती हैं, किसी के उदास दिल के पीछे कोई याद होती हैं, आप को पता हो या ना हो, आप की खुशी के लिए कही रोज फरियाद होती हैं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी के लिये किसी.......
की अहमियत खास होती है......
एक के दिल की चाबी .....
हमेशा दूसरे के पास होती है......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी को इश्क़ की अच्छाई ने मार डाला किसी को इश्क़ की गहराई ने मार डाला करके इश्क़ कोई ना बच सका जो बच गया उससे तन्हाई ने मार डाला

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी को तकलीफ़ देकर मुझसे अपनी ख़ुशी की दुआ मत करना लेकिन अगर किसी को एक पल की भी ख़ुशी देते हो तो अपनी तकलीफ़ की फ़िक्र मत करना.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी ने क्या खूब सही कहा है
खुशीयॉ आये जिंदगी मै तो
चख लेना मिठाई समझ कर ....!
जब गम आये तो वो भी
कभी खा लेना दवाई समझ कर ॥

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी ने फिर ना सुना दर्द के फसाने को,
मेरे ना होने से राहत हुई जमाने को।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किसी ने मुझसे पूछा ” वादें ” और ” यादें ” में क्या अन्तर है
… मैंने
सिर्फ इतना कहा …. वादें इन्सान तोड़ता है और यादें इन्सान
को तोड़ती हैं …

2020 की शायरी [शायरी 2020]

किस्मत से अपनी सबको शिकायत क्यों है?
जो नहीं मिल सकता उसी से मुहब्बत क्यों है?
कितने खायें है धोखे इन राहों में!
फिर भी दिल को उसी का इंतजार क्यों है?

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ आँसू होते हैं जो बहते नहीं;
लोग अपने प्यार के बिना रहते नहीं;
हम जानते हैं आपको भी आती है हमारी याद;
पर जाने क्यों आप हमसे कहते नहीं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ इस तरह करता है वो मेरे जख्मों का इलाज....
कुरेद के देखता है और कहता है, अभी वक्त लगेगा...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ उनकी मजबुरीयां,
कुछ मेरी कश्मकश
बस युँ ही,एक खूबसूरत कहानी को
खत्म कर दिया हमने..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल
जाने क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल
किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही
बस कुछ अपनों को खोने से डरता हे ये दिल...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ किस्से दिल में कुछ हमारी गजलों में आबाद रहे,
बताओ कैसे भूलें उसे जो हर साँस में याद रहे...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ गरुर सा होने लगा था अपनी हस्ती पे,
कुछ डूबने लगा था दुनिया जहान की मस्ती में,

आज घूम आया फिर उस रास्ते पर जहाँ...
श्मशान में बिखरी पड़ी थी कई सिकंदरों की राखें वहां...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ तो असर दिखा दिया ऐ यार तेरी रुसवाई ने
तब्दील कर दिया तूने मेरी चाहत को बेवफाई में... 💖 💖

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ तो बात है तेरी फितरत में ऐ दोस्त; वरना तुझ को याद करने की खता हम बार-बार न करते!.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ नही बदला उसके जाने के बाद इस जिंदगी में,
ऐ दोस्तों,
बस कल जिस जगह दिल हुआ करता था
आज वहा दर्द होता है..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ पल में ज़िंदगी की तस्वीर बन जाती है;
कुछ पल में ज़िंदगी की तक़दीर बदल जाती है;
कर दो हमे माफ़ तुम ना होना यूँ हमसे खफा ऐ मेरे दोस्त;
क्योंकि इसी रुस्वाई से पूरी ज़िंदगी बिखर जाती है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ भी नहीं मेरे पास दुआओं के सिवा,
मैं ग़रीब हूँ बस मेरे जज़्बात देख.
मुझे दो कौड़ी का समझने वाले,
ज़रा खुद की भी तो औक़ात देख.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ यूँ हो रहा है आजकल,
*रिश्तों*का विस्तार~
जितना जिस से मतलब
उतना उस से *प्यार*..!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ लोग खोने को प्यार 💖 कहते हैं,
तो कुछ पाने को प्यार 💖 कहते हैं,
पर हकीक़त तो ये है,
हम तो बस निभाने को प्यार
💖 कहते हैँ..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ लोग तो आपसे
सिर्फ

इसलिए भी नफरत
करते हैं क्योंकि,

बहुत सारे
लोग आपसे *प्यार* करते हैं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कुछ लोग हमारी *सराहना* करेंगे,
कुछ लोग हमारी *आलोचना* करेंगे।

दोनों ही मामलों में हम *फायदे* में हैं,

एक हमें *प्रेरित* करेगा और
दूसरा हमारे भीतर *सुधार* लाएगा।।


अच्छा सोचें
खुश रहें

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कैदी हैं सभी यहाँ...


कोई ख्वाबों का तो कोई ख़्वाहिशों का..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कैसे लफ्जों में बयां करूँ मैं खूबसूरती तुम्हारी सुंदरता का झरना भी तुम हो मोहब्बत का दरिया भी तुम हो...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कोई दीवाना कहता है कोई पागल समझता है मगर धरती की बेचानी को बस बादल समझता है में तुझसे दूर कैसा हूँ तू मुझसे दूर कैसी है ये तेरा दिल समझता है या मेरा दिल समझता है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कोई पूछे मेरे बारे में... तो कह देना इक लम्हा था जो गुज़र गया,,
कोई पूछे तेरे बारे में... मैं कह दूंगा इक लम्हा था जो मैं जी गया..!!.....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कोई प्यार पाने की ज़िद्द में है,
शायद कोई आज़माने की ज़िद्द में है,
मुझे जिस की याद आती है इतनी शिद्दत से,
शायद वो मुझ से दूर जाने की ज़िद्द में है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कोई रुस्वा तो कोई मोतबर होता ही रहता है.
यहाँ ये खेल प्यारे उम्र भर होता ही रहता है.

अगर गैरत सलामत है तो गुरबत के भी आलम में.
बड़ी इज़्ज़त से मुफ़लिस का गुज़र हो भी सकता है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कोन कहता है कि मुझे ठेस का एहसास नही,
ज़िन्दगी एक उदासी है जो
तुम पास नही,
मांग कर न पीयू तो यह मेरी
खुद्दारी है,
इसका मतलब यह तो नही की मुझे
प्यास नही, !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

कौन आएगा यहाँ, कोई ना आया होगा,
मेरा दरवाज़ा हवाओं ने हिलाया होगा.

दिल-ए-नादाँ ना धड़क, ए दिल-ए-नादाँ ना धड़क,
कोई ख़त ले के पडौसी के घर आया होगा.

गुल से लिपटी हुई तितली को गिराकर देखो,
आँधियों तुमने दरख्तों को गिराया होगा.

"कैफ़" परदेस में मत याद करो अपना मकान,
अबके बारिश ने उसे तोड़ गिराया होगा.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

क्या इतना बडा गुनाह हुआ हमसे... जो देखा ना गया इस जमाने से । एक मोहब्बत ही तो हुई थी हमसे..! जो साँसे ही छीन ली हमारी हमसे ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

क्या करोगे ये जानकर कि कितना प्यार करते हैं तुमसे.. . बस इतना जान लो, कि वो नम्बर तुम्हारा ही था जो मुझसे पहली बार याद हो पाया था.....❗❗❗

2020 की शायरी [शायरी 2020]

क्यूँ करते हो मुझसे
इतनी ख़ामोश मुहब्बत..
लोग समझते है
इस बदनसीब का कोई नहीँ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खफा न होना हमसे, अगर तेरा नाम जुबां पर आ जाये;
इंकार हुआ तो सह लेंगे और अगर दुनिया हंसी, तो कह देंगे;
कि मोहब्बत कोई चीज़ नहीं, जो खैरात में मिल जाये;
चमचमाता कोई जुगनू नहीं, जो हर रात में मिल जाये;

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खामोश पलकों से बह कर जब आँसू आते है,
आप क्या जाने आप हमे कितने याद आते है,
आज भी उस मोड पे खडे है,
जहाँ आपने कहा था ठहरो हम अभी आते है…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खिड़की से झांकता हूँ मै सबसे नज़र बचा कर बेचैन हो रहा हूँ क्यों घर की छत पे आ कर क्या ढूँढता हूँ जाने क्या चीज खो गई है इन्सान हूँ शायद मोहब्बत हमको भी हो गई.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खुद को आज औरों की नजरों से भी देखा जाए,
एक पत्थर ही सही खुद पर भी फेंका जाए .
जिंदगानी की बुनावट को समझने के लिए,
उसके धागों को जरा खोल के देखा जाए .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खुद को भुला दिया रिश्ते निभाते-निभाते खुद को खो दिया अपनों को पाते पाते लोग कहते हैं कि दर्द बहुत हैं मेरे सीने में मगर हम हैं कि थक गए मुस्कुराते- मुस्कुराते !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खुदा पे छोड़ा दुआओं से घर नही बाँधा.
सफ़र पे निकले तो रखते सफ़र नही बाँधा.

कमाया जैसे उसी शान से उड़ाया भी.
कभी भी नोट पे हम ने रबर नही बाँधा.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खुदा से कोई बात अंजान नहीं होती;
इंसान की बंदगी बेईमान नहीं होती;
कहीं तो माँगा होगा हमने भी एक प्यारा सा दोस्त;
वर्ना यूंही हमारी आपसे पहचान न होती।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खुशबु आ रही है ताजे गुलाब की,,,!!!

शायद खिडकी खुली रह गई होगी उनके मकान की,,,!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खुशमिजाजी मशहूर थी हमारी,
सादगी भी कमाल की थी..
हम शरारती भी इंतेहा के थे,
अब तन्हा भी बेमिसाल हैं..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

खून अभी वो ही है ना ही शोक बदले ना ही जूनून, सून लो फिर

से, रियासते गयी है रूतबा नही, रौब ओर खोफ आज भी वही हें |

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ख्वाइस तो यही है कि तेरे बाँहों में पनाह मिल जाये शमा खामोस हो जाये और शाम ढल जाये प्यार इतना करे कि इतिहास बन जाये और तुम्हारी बाँहों से हटने से पहले शाम हो जाये

2020 की शायरी [शायरी 2020]

गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया!
इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!
थक के जब सितारों से पनाह ली!
नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ग़ज़ल

रोज़ नखरे न तुम यूँ दिखाया करो
घर समझते अगर हो तो आया करो

वक़्त को बेसबब यूँ न जाया करो
बात बनती अगर हो बनाया करो

खूब विश्वास पहले जमाया करो
उंगलियों पर उसे फिर नचाया करो

हो कहीं गर न कुछ यार सोचा हुआ
जी न अपना कभी भड़भड़ाया करो

इल्म बढ़ता सदा बांटने से हमीद
सीख कर दूसरों को सिखाया करो



✏_____हमीद कानपुरी

2020 की शायरी [शायरी 2020]

गुज़रते लम्हों में सदियाँ
तलाश करता हूँ।।
🌹
ये मेरी प्यास है नदियाँ
तलाश करता हूँ ।।
🌹🌹
यहाँ लोग गिनाते हैं
खूबियां अपनी-अपनी
🌹
एक मैं अपने आप में
कमियाँ तलाश करता हूँ।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

गुनहगारों की आँखों में झूठे ग़ुरूर
होते हैं....

शर्मिन्दा तो यहाँ सिर्फ़ बेक़सूर
होते हैं......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

गुलाब खिलते रहे ज़िंदगी की राह् में,
हँसी चमकती रहे आप कि निगाह में.
खुशी कि लहर मिलें हर कदम पर आपको,
देता हे ये दिल दुआ बार–बार आपको.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

घायल कर के मुझे उसने पूछा, करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे;

लहू-लहू था दिल मगर होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

घूँघट गिरा है जरा घूँघट उठा दे कोई मेरे माथे की बिंदिया

सजा दे रे मैं दुल्हन सी लगती हूँ , दुल्हन बना दे रे

आँखों में रात का काजल लगा के मैं आंगन में ठंडे सवेरे

बिछा दूँ जो पैरो में मेहँदी सी अगनी लगा दे रे

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चलो आज चक्कर लगाने जाते हे दुश्मन की गली मे,
देखना हे अपने दिल की धड़कन तेज होती हे या दुश्मन की.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चलो कुछ बात करते हैं..

बिन बोले..❣
बिन सुने.....❣

एक तन्हा मुलाक़ात करते हैं.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चलो हम गलत थे ये मान लेते है..
ऎ जिंदगी..
पर एक बात बता.. क्या वो शख्स सही था
जो बदल गया इतना.. करीब आने के बाद...✍

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चाँद पागल है अँधेरे में निकल पड़ता है,
रोज तारों की नुमाइश में खलल पड़ता.
उनकी याद आई है सांसे जरा धीरे चलो,
धडकनों से भी इबादत में खलल पड़ता है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चाँद से फूल से या मेरी ज़ुबान से सुनिये
*हर तरफ आप का किस्सा जहाँ से सुनिये*

सब को आता है दुनिया को सता कर जीना
*ज़िन्दगी क्या मुहब्बत की दुआ से सुनिये*

मेरी आवाज़ पर्दा मेरे चेहरे का
*मैं हूँ खामोश जहाँ मुझको वहां से सुनिये*

क्या ज़रूरी है की हर पर्दा उठाया जाये
*मेरे हालात अपने मकाँ से सुनिये*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चांदनी, जंगल, मरुस्थल, भीड़, चौराहे, नदी
हर कहीं हिरनी बनी भटकी हुई है जिंदगी

टूटने का दर्द तुमको ही नहीं है आइनों
जिस्म के इस फ्रेम में चटकी हुई है जिंदगी

चुप्पियों के इस शहर में ऊंघती निस्तब्धता
छटपटाहट एक आहट की, हुई है जिंदगी

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चाहत वो नहीं जो जान देती है,
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,
ऐ दोस्त चाहत तो वो है,
जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चुभता तो बहुत कुछ मुझको भी है तीर की तरह...!!!
मगर ख़ामोश रहता हूँ, अपनी तक़दीर की तरह...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

चेहरा भूल जाओगे तो शिकायत नही करेंगे,
नाम भूल जाओगे तो गिला नही करेंगे,
हमे मालूम है के आप बीझी रहते हो,
पर हमे भूल जाओगे तो माफ़ नही करेगे|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

छोटी सी बात पे लोग रूठ जाते हैं;
हाथ उनसे अनजाने में छूट जाते हैं;
कहते हैं बड़ा नाज़ुक है अपनेपन का यह रिश्ता;
इसमें हँसते-हँसते भी दिल टूट जाते हैं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

छोटी सी ज़िन्दगी में अरमान बहुत थे;
हमदर्द कोई न था इंसान बहुत थे;
मैं अपना दर्द बताता भी तो किसे बताता;
मेरे दिल का हाल जानने वाले अनजान बहुत थे।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी आरजू करनी;
जिसे मोहब्बत की कद्र ना हो उसे दुआओ में क्या माँगना!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

छोड़ दिया मुझको आज मेरी मौत ने यह कहकर...

हो जाओ जब ज़िंदा तो
ख़बर कर देना…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

छोड़ दिया सबको
बिना वजह तंग करना,
जब कोई अपना समझता ही नहीं
तो उसको अपनी याद दिला कर क्या करना है। ।।।।
💔💔💔💔💔

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जब आप किसी से रूठ कर नफरत से बात करो, और वो उसका जवाब मोहब्बत से दे, तो समझ जाना के वो आपको खुद से ज्यादा प्यार करता hai

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जब आप, बगैर किसी वजह से,
ख़ुशी महसूस करो तो
यकीन कर लो,
कि
कोई ना कोई,
कही ना कही, आपके लिये,,
दुआ, कर रहा है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जब तक तुम्हें न देखूं!
दिल को करार नहीं आता!
अगर किसी गैर के साथ देखूं!
तो फिर सहा नहीं जाता!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जब तेरे ख्याल से मुलाकात हो जाती है!
तूझे याद करते करते रात हो जाती है!
रूकता नहीं है सिलसिला इरादों का मेरे,
जब ख्वाबों से रूबरू बात़ हो जाती है!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जब हुई थी मुहब्बत तो लगा किसी अच्छे काम का है सिला
ख़बर ना थी की गुनाहो की सजा ऐसे भी मिलती है🌹

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जब्र का ज़हर कुछ भी हो पीता नहीं
*मैं ज़माने की शर्तों पे जीता नहीं*

देखे जाते नहीं मुझसे हारे हुए
*इसलिए मैं कोई जंग जीता नहीं*

अपनी सुबहों के सूरज उगाता हूँ ख़ुद
*मैं चराग़ों की साँसों से जीता नहीं*

उम्र भर ज़ाब्तों की हदों में रहा
*इसलिए मैं किसी का चहीता नहीं*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जमाने से नही तो तनहाई से डरता हुँ,
प्यार से नही तो रुसवाई से डरता हुँ,
मिलने की उमंग बहुत होती है,
लेकिन मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरता हुँ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जरा सी गर्द-ए-हवस दिल पर लाजमी है 'फ़राज़'
वो इश्क़ ही क्या जो दामन को पाक चाहता हो...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जरूरी नहीं कि सारे सबक़
किताबों से ही सीखें ,

कुछ सबक़ जिंदगी और
रिश्ते भी सिखा देते हैं .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जला चराग कि कब तक न जाने रात रहे
रौशनी में कम से कम ये साया साथ रहे

वजूद रह गया मुझमें जगा हुआ हरदम
नींद न आई तो बस मौत की फरियाद रहे

चलेंगे साथ वफा के, तूम चलो ना चलो
इसी तरह से सलामत मेरे जज़्बात रहे

किसी के साथ मरासिम, कोई मेरा दुश्मन
हम किसी भी रिश्ते में न कामयाब रहे

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जवानी को ज़िंदगी की निखार कहते हैं,
पतझड़ को चमन का मझदार कहते हैं,
इस दुनिया के चलन निराले हैं यारो,
धोखे को हम सब क्यों प्यार कहते हैं

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जहाँ खामोश फिजा थी, साया भी न था,
हमसा कोई किस जुर्म में आया भी न था.
न जाने क्यों छिनी गई हमसे हंसी,
हमने तो किसी का दिल दुखाया भी न था.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जहाँ तलक भी ये सहरा दिखाई देता है
मेरी तरह से अकेला दिखाई देता है

न इतना तेज़ चले सर-फिरी हवा से कहो
शजर पे एक ही पत्ता दिखाई देता है

बुरा न मानिये लोगों की ऐब-जूई का
इन्हें तो दिन का भी साया दिखाई देता है

ये एक अब्र का टुकड़ा कहाँ- कहाँ बरसे
तमाम दश्त ही प्यासा दिखाई देता है

वो अलविदा का मंज़र वो भीगती पलकें
पस-ए-ग़ुबार भी क्या क्या दिखाई देता है

मेरी निगाह से छुप कर कहाँ रहेगा कोई
के अब तो संग भी शीशा दिखाई देता है

सिमट के रह गये आख़िर पहाड़- से क़द भी
ज़मीं से हर कोई ऊँचा दिखाई देता है

ये किस मक़ाम पे लाई है जुस्तजू तेरी
जहाँ से अर्श भी नीचा दिखाई देता है

खिली है दिल में किसी के बदन की धूप "शकेब"
हर एक फूल सुनहरा दिखाई देता है...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़ख्म इतने गहरे हैं इज़हार क्या करें; हम खुद निशान बन गए वार क्या करें; मर गए हम मगर खुलो रही आँखें; अब इससे ज्यादा इंतज़ार क्या करें!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़रूरी काम है लेकिन रोज़ाना भूल जाता हूँ,
मुझे तुम से मोहब्बत है बताना भूल जाता हूँ,
तेरी गलियों में फिरना इतना अच्छा लगता है,
मैं रास्ता याद रखता हूँ ठिकाना भूल जाता हूँ,
बस इतनी बात पर मैं लोगों को अच्छा नहीं लगता,
मैं नेकी कर तो देता हूँ, जताना भूल जाता हूँ|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़िंदगी में बार बार सहारा नही मिलता,
बार बार कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
है जो पास उसे संभाल के रखना,
खो कर वो फिर कभी दुबारा नही मिलता

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़िंदगी हसीन है इससे प्यार करो…
हर रात की नई सुबा का इंतजार करो
वो पल भी आएगा, जिसका आपको इंतजार है
बस अपने रब पर भरोसा और वक़्त पर ऐतबार करना…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़िन्दगी मिलती हैं एक बार
मौत आती हैं एक बार
दोस्ती होती हैं एक बार
प्यार होता हैं एक बार
दिल टूटता हैं एक बार
जब सब कुछ होता हैं एक बार
तो फिर आपकी याद क्यों आती हैं बार बार!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़िन्दगी में यही देखना ज़रूरी नहीं है,
कि कौन हमारे आगे है या कौन हमारे पीछे............
कभी यह भी देखना चाहिये कि,
हम किसके साथ हैं, और कौन हमारे साथ है......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जागे है रात दिन ये, पागल बना रहा है,
दिल जाग जाग कर यूँ सपने सजा रहा है।

मुड़मुड़ के देखते हैं, करते नहीं इशारा,
नादान दिल ये मेरा, यूँ आसना रहा है।

डूबा नज़र में तेरी, मिलता नहीं मेरा दिल,
देखा है जबसे तुझको, दिल लापता रहा है।

चलते रहे अकेले, आया न साथ कोई,
बढ़ते रहे कदम दो, ये काफिला रहा है।

मुश्किल मेरी बढाकर, पूछे है हाल मेरा,
दुश्मन जो तू नहीं तो, क्यों आजमा रहा है।

हारा नहीं कभी वो, जीती है जंग उसने,
आयी है बात घर की, तय हारना रहा है।

आधे अधूरे तन से, करता है पुरे सपने,
झुकता खुदा "सरिता" जहाँ हौंसला रहा है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जानकार भी तुम मुझे जान ना पाए;
आजतक तुम मुझे पहचान ना पाए;
खुद ही की है बेवाफाई तुमने;
ताकि तुम पर इल्ज़ाम ना आए!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जिंदगी एक आइना है, जो हमारे ही चेहरे की प्रतिकृति दिखाता है. जिंदगी में हमेशा दोस्ती से रहे तब तभी आपके जीवन में मित्रता बनी रहेंगी.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जिंदगी तेरी इबादत मैं भला कैसे करूँ |
तुमसे तेरी ही शिकायत मैं भला कैसे करूँ |
दर्द को दिल में समेटा है मरने के लिए ,
अब कोई भी चाहत मैं भला कैसे करूँ |
टूट जाएगा ये आईना, छूट जाएगा जिस्म ,
इस हकीकत से बगावत मैं भला कैसे करूँ |
जो मुझे ना दिखे पर सीने पे खंजर मारे,
ऐसे दुश्मन से अदावत मैं भला कैसे करूँ ||

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जिंदगी में हंमेशा ऐसे लोगों को पसंद करो

जिसका दिल चेहरे से ज्यादा खूबसूरत हो

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जितना  बडा
सपना  होगा,
उतनी  बडी
तकलीफें  होगी.

और  

जितनी  बडी  
तकलीफें  होगी,
उतनी बडी         
कामयाबी होगी !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जितना तक़ब्बुर इंसान के दिल में दाखिल होता है, उतनी ही अक़्ल निकल जाती है... इसलिए खुद को इतना कीमती मत समझना के हर कोई तुम्हें दिल से निकाल दे, क्योंकि जिस चीज़ की कीमत ज़्यादा होती है अक्सर लोग उसको छोड़ देते हैं...।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जिन्दंगी को समझना
बहुत मुशकिल हैं,
कोई सपनों की खातिर
"अपनों" से दूर रहता हैं,
और,
कोई "अपनों" के खातिर
सपनों से दूर!!....🌺

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जिन्दगी का एक और वर्ष कम हो चला,
कुछ पुरानी यादें पीछे छोड़ चला..

कुछ ख्वाइशें दिल में रह जाती हैं..
कुछ बिन मांगे मिल जाती हैं ..

कुछ छोड़ कर चले गये..
कुछ नये जुड़ेंगे इस सफर में ..

कुछ मुझसे बहुत खफा हैं..
कुछ मुझसे बहुत खुश हैं..

कुछ मुझे मिल के भूल गये..
कुछ मुझे आज भी याद करते हैं..

कुछ शायद अनजान हैं..
कुछ बहुत परेशान हैं..

कुछ को मेरा इंतजार हैं ..
कुछ का मुझे इंतजार है..

कुछ सही है
कुछ गलत भी है.
कोई गलती तो माफ कीजिये और
कुछ अच्छा लगे तो याद कीजिये।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जिस राह पर ....हर बार मुझे,
अपना कोई.....छलता रहा !

फिर भी ....न जाने क्यों मै,
उस राह ही....चलता रहा !

सोचा बहुत....इस बार,
रोशनी नहीं....धुआं दूंगा...

लेकिन चिराग था...फितरत से,
जलता रहा...जलता रहा !!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जिसने तेरी आँखों की शरारत नहीं देखी,..!


वो लाख कहें पर उन्होंने...मोहब्बत नहीं देखी....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा।
वो याद में किसी के खोया जरूर होगा।
दिवार के सहारे, घुटनों में सिर छिपाकर ,
वो ख्याल में किसी के खोया जरुर होगा।
आँखों में आंसुओ के, आने के बाद उसने,
धीरे से उसको उसने, पोंछा जरुर होगा।
जिसने भी की मुहब्बत, रोया जरूर होगा।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जीने का तरीका काश वो
फूटपाथ पे खेल रहा
बच्चा मुझे सिखा दे..
ना जाने भूखा पेट लेकर
कैसे मुस्कुरा लेता हैं !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जीवन ये तेरे होने से गुलज़ार है बहुत,....!!

जो तू नही तो दिल ...मेरा बेज़ार है बहुत.....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जूस्तजू खोए हुए की उम्र भर करते रहे
*चाँद के हमराह हम हर शब सफर करते रहे l*

हम ने खुद से भी छुपाया और सारे शहर से
*तेरे जाने की खबर दीवार -ओ- दर करते रहे l*

*वो न आयेगा हमें मालूम था उस शाम भी
*इंतज़ार उस का मगर कुछ सोच कर करते रहे l*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जैसे बरस पड़ती है मेरी आंखे
तुझे याद करके,
क्या कभी तेरी बाहे नहीं तरसती
मुझे गले लगाने के लिए. 😊

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जो इश्क़ तकलीफ ना दे
वो इश्क़ कैसा...
और जो इश्क़ में तकलीफ न सहे
वो आशिक़ कैसा..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जो चाहत की कैद में हो कभी बगावत नहीं करते,
इश्क के मरीज कभी शिकायत नहीं करते;

किसी दुश्मन ने ये अफवाह फैलाई है जमाने में,
हम बस दिखावा करते हैं मोहब्बत नहीं करते

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जो तुम कर लो वादा हमारी ख़ामोशी को पढ़ने का,
खिलौने की तरह बेआवाज़ होने को तैयार हैं हम...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जो लोग मन मैं उतरते है
उन्हें *संभालकर* रखिये !
और
जो लोग मन से उतरते है
उनसे *संभलकर* रहिये !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जो लोग सिर्फ तुम्हे काम के वक़्त याद करते है
उन लोगो के काम ज़रूर आओ
क्यों के वो अंधेरो में रौशनी ढूँढ़ते है
और वो रौशनी तुम हो .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

जो ज़ख्म दे गए हो आप मुझे;
ना जाने क्यों वो ज़ख्म भरता नहीं;
चाहते तो हम भी हैं कि आपसे अब न मिलें;
मगर ये जो दिल है कमबख्त कुछ समझता ही नहीं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज्यादा फर्क नही रखा खुदा ने हम दोनों के बीच…!!


तुझे चाहने वाले बहुत है तो मुझे ठुकराने वाले बहुत…!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

टूटा हो दिल तो दुःख होता है करके मोहह्बत ये दिल रोता है दर्द का एहसास तो तब होता है आपको…… जब किसी से मोहह्बत हो और उसके दिल में कोई और होता है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

टूटे हुए ख़्वाबों की चुभन कम नहीं होती
अब रो के भी आँखों की जलन कम नहीं होती
कितने भी घनेरे हों तिरी ज़ुल्फ़ के साए
इक रात में सदियों की थकन कम नहीं होती
होंटों से पिएँ चाहे निगाहों से चुराएँ
ज़ालिम तिरी ख़ुशबू-ए-बदन कम नहीं होती l

2020 की शायरी [शायरी 2020]

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता
इश्क़ में मरीज को आराम नहीं आता
ये बेवफा दिल तोड़ने से पहले ये सोच तो लिया होता
के टुटा हुआ दिल किसी के काम नहीं आता ……..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ठहरी ठहरी सी तबियत में रवानी आई
आज फिर याद मोहब्बत की कहानी आई
आज फिर नींद को आँखों से बिछड़ते देखा
आज फिर याद कोई चोट पुरानी आई
मुद्दतो बाद चला उनपे हमारा जादू
मुद्दतो बाद हमें बात बनानी आई
मुद्दतो बाद पशेमा हुआ दरिया हमसे
मुद्दतो बाद हमें प्यास छुपानी आई
मुद्दतो बाद खुली वुसअत सेहरा हम पर
मुद्दतो बाद हमें ख़ाक उडानी आई
मुद्दतो बाद मय्यसर हुआ माँ का आँचल
मुद्दतो बाद हमें नींद सुहानी आई
इतनी आसानी से मिलती नहीं फन की दौलत
ढल गयी उम्र तो गजलो पे जवानी आई

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ठान लिया था कि, अब और,,,

नहीं लिखेंगे,,,..

पर उन्हें देखा,,, और अल्फ़ाज़

बग़ावत कर बैठे..!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ठुकराया हमने भी बहुतों को है तेरी खातिर;
तुझसे फासला भी शायद उन की बद-दुआओं का असर है!

शिकायतों की पाई-पाई जोड़कर रखी थी मैंने,
उसने गले लगाकर सारा हिसाब बिगाड़ दिया......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ठेहरी ठेहरी सी तबियत में रवानी आई.
आज फिर याद मोहब्बत की कहानी आई.

आज फिर नींद को आँखों से बिछड़ते देखा.
आज फिर याद कोई चोट पुरानी आई.

मुद्दतों बाद चला उन पे हमारा जादू.
मुद्दतों बाद हमें बात बनानी आई.

मुद्दतों बाद पशेमाँ हुआ दरिया हम से.
मुद्दतों बाद हमें प्यास छुपानी आई.

मुद्दतों बाद खुली वुसअते सेहरा हम पर.
मुद्दतों बाद हमें ख़ाक उड़ानी आई.

मुद्दतों बाद मयस्सर हुआ माँ का आँचल.
मुद्दतों बाद हमें नींद सुहानी आई.

इतनी आसानी से मिलती नहीं फन की दौलत.
ढल गई उम्र तो ग़ज़लो पे जवानी आई.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ठोकर ना लगा मुझे पत्थर नही हूँ मैं,
हैरत से ना देख कोई मंज़र नही हूँ मैं,
उनकी नज़र में मेरी कदर कुछ भी नही,
मगर उनसे पूछो जिन्हें हासिल नही हूँ मैं|

2020 की शायरी [शायरी 2020]

डूबना होगा अगर डूबना तक़दीर में है,
चाहे किश्ती पे रहो चाहे किनारे जाओ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तकलीफ की इन्तेहा तो तब होती है,
जब लोग ज़िंदा रहे और रिश्तें मर जाए !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तकल्लुफ़ बर तरफ़ जब चाहे हम को याद कर लिजिए,
मुहब्बत करने वाले तो सदा फ़ुर्सत में रहते है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तड़पने ने के लिए कभी खामोशी भी कुछ कह जाती है,
तड़पने ने के लिए सिर्फ़ यादें रह जाती है,
क्या फ़र्क पड़ता है दिल हो या कोयला,
जलने के बाद सिर्फ़ राख रह जाती है......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तब्दीली जब भी आती है
मौसम की अदाओं मे..
किसी का यूँ बदल जाना
बहुत याद आता है..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तमन्नाओ के बहलावे में अक्सर आ ही जाते हैं
कभी हम चोट खाते हैं, कभी हम मुस्कुराते हैं
हम अक्सर दोस्तों की बेवफ़ाई सह तो लेते हैं
मगर हम जानते है, दिल हमारे टूट जाते हैं
किसी के साथ जब बीते हुए लम्हों की याद आई
थकी आखों में अश्को के सितारे झिलमिलाते हैं

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तरस गए आपके दीदार को, फिर भी दिल आप ही को याद करता है, हमसे



खुशनसीब तो आपके घर का आइना है, जो हर रोज़ आपके हुस्न का दीदार करता है ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तरीका मेरे क़त्ल का, ये भी इजाद करो..
कि मर जाऊँ मै हिचकियो से, मुझे इतना याद करो..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ताउम्र भटकती रही लहरों में कश्ती मेरी,नसीबों को मयस्सर कभी किनारा ना हुआ,वो ऐसा गया मेरी नजरों से बहुत दूर कंही,नजरों को उनका फिर कभी नज़ारा ना हुआ,क्यों दिल लगाया था मैने उस बेबफा से,“मन”मेरा फिर कंही कभी गुजारा ना हुआ.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ताबीर जो मिल जाएं तो एक ख्वाब बहुत था;
जो शख्स गंवा बैठी हूं नायाब बहुत था;
मैं भला कैसे बचा लेती कश्ती-ए-दिल को सागर से;
दरिया-ए- मोहब्बत में सैलाब बहुत था।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ताल्लुक़ कौन रखता है किसी नाक़ाम इन्सान से,
पर मिले जो कामयाबी तो सारे रिश्ते बोल पड़ते है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तासीर इतनी ही काफी है
कि तू मेरा दोस्त है... .
क्या ख़ास है तुझमे, ऐसा
मैंने कभी सोचा ही नहीं.....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तु ऐक बार मेरी निगाहो मेँ देखकर कह दे कि हम तेरे काबिल नही,
कसम तेरे चलती सांसो की हम तुजे देखना तक छोड देँगे..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुझको सोचा तो पता हो गया रुसवाई को....
*मैंने महफूज़ समझ रखा था तन्हाई को....*

जिस्म की चाह लकीरों से अदा करता है....
*ख़ाक समझेगा मुसव्विर तेरी अँगडाई को.....*

अपनी दरियाई पे इतरा न बहुत ऐ दरिया.....
*एक कतरा ही बहुत है तेरी रुसवाई को.....*

चाहे जितना भी बिगड़ जाए ज़माने का चलन......
*झूठ से हारते देखा नहीं सच्चाई को.....*

साथ मौजों के सभी हो जहाँ बहने वाले......
*कौन समझेगा समन्दर तेरी गहराई को.....*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुझे पाने की इसलिए जिद्द नहीं करता,
कि तुझे खोने को दिल नहीं करता,
तु मिलता है तो इसलिए नजरें नहीं उठाते,
कि फिर नजरें हटाने को दिल नहीं करता,
दिल की बात इसलिए तुझ से नहीं करता,
कि तेरा दिल दुखाने को दिल नहीं करता,
ख्वाबो में इसलिए तुझको नहीं सजाते,
कि फिर निंद से जागने को दिल नहीं करता।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुझे पाने को तेरे नाम से कई दें चुका हूँ अर्जीयाँ,
चलती नहीं मेरी रज़ा सब चलती रब की मर्जीयाँ।
झूठी कसमें झूठे वादे झूठी तेरी मोहब्बते,
ठग कर मुझको ले गई तेरी व़फा ये फर्जीयाँ।
हाल भी पूछा नहीं जबसे मुझसे दूर गई,
कमरे में है पानी-पानी और दीवारें सिसकियाँ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुझे प्यार करना नही आता
मुझे प्यार के सिवा कुछ नही आता
जिन्दगी जीने के दो हि तरिके है
एक तुझे नही आता एक मुझे नही आता

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम अगर चाहो तो पूछ लिया करो खैरियत हमारी....!!

कुछ हक़ दिए नही जाते ...ले लिए जाते है ......!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम उदास होते थे तो मेरी रातों की नींद उड़ जाया करती थी..
और आज मैँ उदास हूँ तो तुमने महसूस तक ना किया

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम खुश-किश्मत हो जो हम तुमको चाहते है..‼
वरना
हम तो वो है जिनके ख्वाबों मे भी लोग इजाजत लेकर आते है…!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम चाहे कितनी भी दुरी बना लो मुझसे,

पर हरपल तुम्हे महेसुस होगा की कोई सिर्फ तुम्हारे लिये ही जी रहा है !!_

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम जब भी लिखना...लिखना पूरे होशोहवास में ,
दोस्त, शब्द धीरे-धीरे पूरे वजूद को जकड़ लेते हैं !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम जैसा कोई दूसरा इस जमीं पर होगा,
तो रब से शिकायत होगी,
और तुम्हारी तरफ रूह किसी और का हुआ,
तो क़यामत से पहले क़यामत होगी |

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम नाराज हो जाओ...
रूठो या खफा हो जाओ...
पर बात इतनी भी ना बिगाड़ो की...
जुदा हो जाओ..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम लाख छुपाओ ......मुझसे जो रिश्ता है.... तुम्हारा,.....


सयाने कहते हैं नजर.... अंदाज करना भी महोब्बत है..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम हँसों तो खुशी मुझे होती है...
तुम रूठो तो आँखे मेरी रोती हैं...
तुम दूर जाओ तो बेचैनी मुझे होती है...
महसुस कर के देखो मोहब्बत
ऐसी ही होती है........

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम हक़ीक़त नहीं हो हसरत हो
*जो मिले ख़्वाब में वो दौलत हो*

मैं तुम्हारे ही दम से ज़िंदा हूँ
*मर ही जाऊँ जो तुम से फुर्सत हो*

किस तरह छोड़ दूँ तुम्हें जानाँ
*तुम मेरी ज़िंदगी की आदत हो*

किस लिये देखती हो आईना
*तुम तो ख़ुद से भी ख़ूबसुरत हो*

दास्ताँ ख़त्म होने वाली है
*तुम मेरी आख़िरी मोहब्बत हो*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुमने अभी तक सीर्फ मेरी मोहब्बत देखी है

दुवा करना मेरी नफरत से कभी सामना ना हो

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम्हारी याद की ख़ुशबू को लेकर जब हवा आई
मैं तेरे दिल में बसता हूँ कुछ ऐसी ही सदा आई

मोहब्बत है मेरा ईमान बस मैं इसमें क़ायम हूँ
नहीं सोचा कभी हिस्से में कितनी बद्दुआ आई

कोई अपना कहे शकील को बस ये तमन्ना है
कि मैं भी कह सकूँ हिस्से में मेरे भी वफ़ा आई !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम्हारे नाम को होंठों पर सजाया है मैंने!
तुम्हारी रूह को अपने दिल में बसाया है मैंने!
दुनिया आपको ढूंढते ढूंढते हो जायेगी पागल!
दिल के ऐसे कोने में छुपाया है मैंने!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम्हे देखा तुम्हे चाहा तुम्ही को दिल भी दे डाला
अब अरमान है इतना कि तुम मेरे सामने आओ
कुछ तुम कहो कुछ हम कहे इकरार हो जाए
मिट जाए सारी दूरियां और प्यार हो जाए………..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम्हे मालूम है हम ये जुदाई सह  नही सकते"
"और उस पे शर्त है कैसी,के ये भी कह नही सकते"
"हमारी किस्मत है बस उन समंदर के किनारो सी"
"जो लहरों मैं तो डूबे हैं,मगर संग बह नही सकते"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम्हे सुनाए कैसे हाल-ए-दिल सुनाना मुश्किल सा हो गया है,के कश्ती पानी में आ गयी क्या चलाना मुश्किल सा हो गया है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तुम्हें शिकायत है कि
मुझे बदल दिया है वक़्त ने;
कभी खुद से भी तो सवाल कर
कि क्या तू वही है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तू ही सवालो में है
तू ही जबाबो में है
तू ही है मेरी जिन्दगी
तू ही ख्यालो में है ....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तू क़रीब आए तो क़ुर्बत का यूं इज़हार करूँ
*आईना सामने रख कर तेरा दीदार करूँ*
सामने तेरे करूँ हार का अपनी एलान
*और अकेले में तेरी जीत से इंकार करूँ*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तूने तो कह दिया अब तेरा मेरा कोई वास्ता नहीं हैं ...
फिर भी अगर तू आना चाहे तो रास्ता वही हैं !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तूने मेरा आज देख के मुझे ठुकराया है.

हमने तो तेरा गुजरा कल देख के भी मोहब्बत
की थी.
🌾💧🌾💧💲🌾💧🌾💧

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरा ख़याल तेरी आरजू न गयी,
मेरे दिल से तेरी जुस्तजू न गयी,
इश्क में सब कुछ लुटा दिया हँसकर मैंने,
मगर तेरे प्यार की आरजू न गयी

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी आँखों पर नगमें लिख तो दूँ हज़ार,
पर मेरी नज़र उनपर से हटे तो शुरू करूँ.....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी आँखों से लम्हे मै
चुराकर लाया हूँ....!!

चल दिल खाली कर मै
तेरी धडकन तक उतर
आया हूँ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी तस्वीर में वो रंग भरा है मैंने,

की लोग देखेंगे तुझे और पूछेंगे मुझे....💞💞💞💞

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी धड़कन ही ज़िंदगी का किस्सा है मेरा,
तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा..
मेरी मोहब्बत तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है,
तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी धड़कन ही ज़िंदगी का किस्सा है मेरा,
तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा..
मेरी मोहब्बत तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है,
तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी नज़र ने। मेरा इंतखाब कर डाला
ज़माने भर में मुझे ला जवाब कर डाला

वरक वरक सा में बिखरा हुवा था राहो में
मुझे समेट के तूने किताब कर डाला

में सोचता ही रहा और चन्द लम्हो में
तमाम उम्र का उसने हिसाब कर डाला

हमारे हाले परीशां का शुक्रिया जिसने
मोहब्बतो को तेरी बे नक़ाब कर डाला

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी बातें , तेरी खूशबु ने आज फिर से मुझे
सहलाया है...

जैसे नींद मे डूबी मेरी पलकों को तूने हौले से
जगाया है...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी मोहब्बत के लिए
ख़ुदा से और क्या माँगूँ।।
ख़ुदा तुम्हे खुशियाँ दे
और मुझे तुम्हारा साथ ।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी मोहब्बत पे शक नहीं है,
तेरी वफाओं को मानता हूँ

मगर तुझे किसकी आरजू है,
मैं ये हक़ीकत भी जानता हू

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी याद आती है तो तड़पता बहुत हु,
सच तुजे याद करके सिसकता बहुत हु,
मेरे सनम मैं तेरा प्यार भुला नहीं सकता,
तुजे पहुंचा ही नहीं पाता,ख़त लिखता बहुत हु !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी याद में आंसुओं का समंदर बना लिया तन्हाई के शहर में अपना घर बना लिया सुना है लोग पूजते हैं पत्थर को इसलिए तुझसे जुदा होने के बाद दिल को पत्थर बना लिया !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी हर अदा मोहब्बत सी लगती है,
एक पल की जुदाई मुद्दत सी लगती है,
पहले नही सोचा था अब सोचने लगे है हम,
जिंदगी के हर लम्हों में तेरी ज़रूरत सी लगती है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरी हर अदा मोहब्बत सी लगती है,
एक पल की जुदाई सदियों सी लगती है,
पहले नहीं सोचा था अब सोचने लगा हूँ,
ज़िन्दगी के हर लम्हे में तेरी ज़रूरत सी लगती है..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरे इश्क का बुखार है मुझको

और हर चीज खाने की मनाई है
इश्क़ के एक हकीम ने सिर्फ तेरे दीदार की दवाई बताई है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरे जो अपने हैं उनमें शुमार मैं भी हूँ?
जवाब दे तू अभी बेक़रार मैं भी हूँ

तेरे ग़मों की उदासी को मैं ख़ुशी दे दूँ
तू अब तो मान ले फ़स्ल ए बहार मैं भी हूँ

कभी तो लाए सफीना तेरा इधर भी हवा
सदी से मुन्तजिर इस पार यार मैं भी हूँ

ये किसने छेड़ दिया राग दिल के ज़ख्मों का
भरी सी बज्म में अब सोगवार मैं भी हूँ

के जैसे शाम है बेताब रात की खातिर
वो शाम तू है तो फिर रात यार मैं भी हूँ

वो अपनी हिज्र का दारु है ढूँढ़ते फिरते
उसी मरज़ का भी तो इक बीमार मैं भी हूँ

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरे दीदार का नशा भी .. .. .. अजीब हैं .. ❣
तु ना दिखे तो .. .. दिल तडपता हैं .. ❣
और .. तु दिखे हैं तो .. .. .. नशा और चढता हैं❣

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरे बगैर इस ज़िन्दगी की हमें जरुरत नहीं,
तेरे सिवा हमे किसी और की चाहत नहीं,
तुम ही रहोगे हंमेशा मेरे दिल में,
किसी और को इस दिल में आने की इजाज़त नहीं !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरे बिना जीना
मुश्किल हे..

ये तुझे बताना
और भी मुश्किल हे...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तेरे हाथ की काश मैं वो लकीर बन जाऊं, काश मैं तेरा मुक़द्दर तेरी तक़दीर बन जाऊं.. मैं तुम्हें इतना चाहूँ कि तुम भूल जाओ हर रिश्ता, सिर्फ मैं ही तुम्हारे हर रिश्ते की तस्वीर बन जाऊं.. तुम आँखें बंद करो तो आऊं मैं ही नज़र, इस तरह मैं तुम्हारे हर ख्वाब की ताबीर बन जाऊं.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तैरना तो आता था हमे मोहब्बत के समंदर मे लेकिन…
जब उसने हाथ ही नही पकड़ा तो डूब
जाना अच्छा लगा…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तो सुनो एक सच्चाई ...के ये शेरो शायरी तो महज दिल बहलाने के
बहाने हैं...
कागज पर लफ्ज उतारने से महबूब नही
लौटा करते...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

तोड़ना होता तो रिश्ता ना बनाते,
उम्मीद ना होती तो सपने ना सजाते,
एतबार किया है हमने आपकी दोस्ती पे,
भरोसा ना होता तो दिल का हिस्सा ना बनाते !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

थाम लो मुझे ,आंखों में बेहोशी छा रही है
पलको में आंसू ले कर तेरी याद आ रही है
प्यार तो बे पनहा मेरे दिल ने तुमसे किया है हमदम
फिर सजा क्यों मेरी नजरे पा रही है ???

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दरवाज़ों पे खाली तख्तियां अच्छी नहीं लगती,
मुझे उजड़ी हुई ये बस्तियां अच्छी नहीं लगती !

चलती तो समंदर का भी सीना चीर सकती थीं,
यूँ साहिल पे ठहरी कश्तियां अच्छी नहीं लगती !

खुदा भी याद आता है ज़रूरत पे यहां सबको,
दुनिया की यही खुदगर्ज़ियां अच्छी नहीं लगती !

उन्हें कैसे मिलेगी माँ के पैरों के तले जन्नत,
जिन्हें अपने घरों में बच्चियां अच्छी नहीं लगती !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दर्द का एहसास जानना है तो प्यार करके देखो,
अपनी आँखों में किसी को उतार कर देखो,
चोट उनको लगेगी आँसू तुम्हें आ जायेंगे,
ये एहसास जानना हो तो दिल हार कर देखो..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दर्द क्या होता है बताएगे किसी रोज इस दिल की गजल सुनाएंगे किसी रोज उड़ने दो इन परिंदों को आजाद फिजाओ में हमारे हुए तो लौट आएंगे किसी रोज !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दिया,
जिस पर मरते थे उसने ही हमे भुला दिया,
हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे,
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दर्द ही सही मेरे इश्क का इनाम तो आया,खाली ही सही हाथों में जाम तो आया,मैं हूँ बेवफ़ा सबको बताया उसने,यूँ ही सही, उसके लबों पे मेरा नाम तो आया

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल से नाज़ुक नही,
. . . दुनिया में कोई चीज साहब,
लफ्ज़ का वार भी
. . . . खंजर की तरह लगता है..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं,
झुकी निगाह को इक़रार कहते हैं,
सिर्फ़ पाने का नाम इश्क़ नहीं,
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल की उम्मीदों का हौसला तो देखो...
इन्तजार उसका..
जिसको एहसास तक नहीं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल की चोटों ने कभी चैन से रहने न दिया
जब चली सर्द हवा, मैंने तुझे याद किया

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल की धड़कन और मेरी सदा है वो;
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है वो;
चाहा है उसे चाहत से बड़ कर;
मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है वो!🌺

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल के बदले दिल दे दो तो-दिलबर ... क्योंकि इश्क तुझसे हम करते हैं औरों की औकात नहीं तुझे चाहने की ! आँखें तुजसे चार तो हम करते है !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल को आता है जब भी ख़याल उनका,
तस्वीर से पूछते हैं फिर हाल उनका.

वो कभी हमसे पुछा करते थे जुदाई क्या है,
आज समझ आया है सवाल उनका…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल को हमसे चुराया आपने,
दूर होकर भी अपना बनाया आपने,
कभी भूल नहीं पायेंगे हम आपको,
क्योंकि याद रखना भी तो सिखाया आपने.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल को हमसे चुराया आपने,
दूर होकर भी अपना बनाया आपने,
कभी भूल नहीं पायेंगे हम आपको,
क्योंकि याद रखना भी तो सिखाया आपने...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल जित ले वो नजर हम भी रखते है भीड़ में नजर आये वो असर हम भी रखते है यु तो वादा किया है किसीसे मुस्कुराने का वरना आँखों में समंदर हम भी रखते है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल में एक जख्म यूं बनाया है
जैसे कागज पे तेरा अक्स बनाया है

हम तेरी मुहब्बत में ऐसे जिए जाते हैं
जिस तरह तूने हमें जीना सिखाया है

तुमसे मेरे जिस्म की दूरी है तो क्या
रूह में मेरे तू ही तो समाया है

सबसे पहले मैं आज ये कुबूल करूं
तेरे खातिर ये दिल जहां में आया है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल में छिपी यादों से मैं सवारूँ तुझे,
तू दिखे तो अपनी आँखों मै उतारू तुझे !
तेरे नाम को अपने लबों पर ऐसे सजाऊ,
गर सो भी जाऊ तो ख्वाबो में पुकारू तुझे !!
🌹

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल में तुम्हारे अपनी कमी छोड जाऐंगे,
आँखों में इंतज़ार की लकीर छोड जाऐंगे,
याद रखना मुझे ढूँढते फिरोगे एक दिन,
जिन्दगी में देस्ती की कहानी छोड जाऐंगे.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल में बहुत कुछ हे कहेने के लिए,
ज़िंदगी हे बस तूने पाने के लिए,
दिमाग़ तैयार हे सहेने के लिए,
बस थोड़ा वक़्त दे कुछ कहेने के लिए !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल में है जो दर्द वो दर्द किसे बताएं!
हंसते हुए ये ज़ख्म किसे दिखाएँ!
कहती है ये दुनिया हमे खुश नसीब!
मगर इस नसीब की दास्ताँ किसे बताएं!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया,
रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया,
हम से लोग हैं नाराज़ किस लिये,
हमने कभी किसी को खफा तो नहीं किया!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिल है उदास आज बहुत
कोई पैगाम लिख दो..;

💞💕💞💕💞💕

तुम अपना नाम न सही गुमनाम ही लिख दो...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिलसे तेरी याद को जुदा तो नही किया,
रखा जो तुझे याद बुरा तो नही किया,
हमसे लोग है नाराज़ किस लिए,
हमने कभी किसको खफा तो नही किया

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दिलों को खरीदने वाले हजार मिल जाएंगे तुमको दगा देने वाले बार-बार मिल जाएंगे मिलेगा न तुमको हम जैसा कोई मिलने को दोस्त बेशुमार मिल जाएंगे !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दूर चलें गये मेरे चाहने वाले,
रूठ गये मेरे अपने मनाने वाले..!



अब तो हिचकियां भी मुझसे पुछती हैं.
कि कहां गये तुझकों रोज याद करनें वालें!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दूरियों " का ग़म नहीं अगर "फ़ासले" दिल में न हो।

"नज़दीकियां" बेकार हे अगर जगह दिल में ना हो।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दूरियों की ना परवाह कीजिये;
दिल जब भी पुकारे बुला लीजिये;
कहीं दूर नहीं हैं हम आपसे;
बस अपनी पलकों को आँखों से मिला लीजिये।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

देखो सब लगे है किसी ना किसी काम में,
पर हम आज भी खाली बैठे है आप के इंतजार में.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दो ही गवाह थे मेरी मोहब्बत के

वक़्त और सनम

एक गुजर गया

और दूसरा मुकर गया...😔

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दो ही गवाह थे मेरी मोहब्बत के !
वक़्त और सनम...
एक गुजर गया और दूसरा मुकर गया !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दोस्त समझते हो तो दोस्ती निभाते रहना, हमें भी याद करना, खुद भी याद आते रहना, मेरी तो ख़ुशी दोस्तों से ही हैं मैं खुश हूँ या नहीं , तुम मुस्कुराते रहना..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,
आप भूल भी जाओ तो मे हर पल याद करू,
खुदा ने बस इतना सिखाया हे मुझे
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

दोस्ती होती नहीं भूल जाने के लिए दोस्ती मिलती नहीं बिखर जाने के लिए दोस्ती हमसे रहो तू खुश रहोगे इतना वक्त मिलेगा नहीं आंसू बहाने के लिए !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

धोखा ना देना कि तुझपे ऐतबार बहुत है;
ये दिल तेरी चाहत का तलबगार बहुत है;
तेरी सूरत ना दिखे तो दिखाई कुछ नही देता;
हम क्या करें कि तुझसे हमें प्यार बहुत है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

न जाने इस जिद का नतीजा क्या होगा...
समझता दिल भी नही,,,
वो भी नही और... ,,,,मे भी नही...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

न पूछो हालत मेरी रूसवाई के बाद,
मंजिल खो गयी है मेरी, जुदाई के बाद,
नजर को घेरती है हरपल घटा यादों की,
गुमनाम हो गया हूँ गम-ए-तन्हाई के बाद!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

नजर से दुर है दिल से दुर मत करना,

हम जैसे है वैसे ही कबूल करना,

हम मे लाख बुराइयाँ सही,



इन्ही बुराइयों के बहाने हमे याद जरूर करना…!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

नज़र में ख़्वाब नए रात भर सजाते हुए
*तमाम रात कटी तुमको गुनगुनाते हुए*

तुम्हारी बात, तुम्हारे ख़याल में गुमसुम
*सभी ने देख लिया हमको मुस्कराते हुए*

फ़ज़ा में देर तलक साँस के शरारे थे
*कहा है कान में कुछ उसने पास आते हुए*

हरेक नक्श तमन्ना का हो गया उजला
*तेरा है लम्स कि जुगनू हैं जगमगाते हुए*

दिल-ओ-निगाह की साजिश जो कामयाब हुई
*हमें भी आया मज़ा फिर फरेब खाते हुए*

बुरा कहो कि भला पर यही हक़ीकत है
*पड़े हैं पाँव में छाले वफ़ा निभाते हुए.............l*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

नतीजा एक ही निकला,
कि थी किस्मत में नाकामी,
कभी कुछ कहके पछताए,
कभी चुप रहके पछताए।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

नदी को सागर से मिलने से ना रोको,
बारिस की बूंदों को धरती से मिलने से ना रोको,
जिन्दा रहने के लिए तुमको देखना जरुरी है,
मुझे तुम्हारा दीदार करने से ना रोको.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

नही है ये ख्वाहिश...
कि इस जहाँ..या..उस जहाँ में...
पनाह मिले,,,

बस इतना करम कर..."ऐ खुदा,,
कोई ऐसा मिले...
जिससे प्यार बेपनाह मिले........

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ना तंग करो इतना हम सताए हुए हैं मोहब्बत का गम दिल पे उठाए हुए हैं खिलौना समझ कर हम से ना खेलो हम भी उसी खुदा के बनाए हुए हैं !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ना तू रूह, ना धड़कन, ना साँसों की डोरी है...

फिर भी ज़िंदा रहने को, तू ही क्यूँ ज़रूरी है...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ना दिन अच्छा है, ना हाल अच्छा है।
किसी जोगी ने कहा था ये साल अच्छा है।
मैंने पूछा लोग कब चाहेंगे मुझे मेरी तरह,
मुस्कराते हुवे वो भी चले गए यह कहकर,
तेरा ये सवाल बड़ा अच्छा है।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

नादां सही, पर इतने नादान नहीं हैं हम,
खुद हमने जान-जान कर, कितने फरेब खाएं हैं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

नज़रे न होती तो नज़ारा न होता,

दुनिया मैं हसीनो का गुज़ारा न होता,

हमसे यह मत कहो की दिल लगाना छोड़ दे,

जा के खुदा से कहो हसीनो को बनाना छोड़ दे..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

पतंग सी हैं जिंदगी, कहाँ तक
जाएगी…..!!
रात हो या उम्र, एक ना एक दिन कट
ही जाएगी….!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

पत्थर का मेरी सम्त तो आना जरूर था
मैं ही गुनाहगारों में इक बेक़सूर था
सचाई आग ठहरी तो लब जल के रह गए
हक़गोई पर हमें भी कभी क्या ग़रूर था
शबनम पहन के निकले थे शोलों के क़ाफिले
देखे तहे-लिबास ये किसको शऊर था
बैठा हुआ था कोई सरे-राहे-आरज़ू
इक उम्र की थकन से बदन चूर-चूर था

2020 की शायरी [शायरी 2020]

परख फज़ा की, हवा का जिसे हिसाब भी है
*वो शख्स साहिबे फन भी है, कामयाब भी है*

जो रूप आप को अच्छा लगे वो अपना लें
*हमारी शख्सियत कांटा भी है, गुलाब भी है*

हमारा खून का रिश्ता है सरहदों का नहीं
*हमारे जिस्म में गंगा भी है, चनाब भी hai*

हमारा दौर अंधेरों का दौर है, लेकिन
*हमारे दौर की मुट्ठी में आफताब भी है*

किसी ग़रीब की रोटी पे अपना नाम न लिख
*किसी ग़रीब की रोटी में इन्क़लाब भी है*

मेरे सवाल कोई आम सा सवाल नहीं
*मेरा सवाल तेरी बात का जवाब भी है*

इसी ज़मीन पे हैं आख़री क़दम अपने
*इसी ज़मीन में बोया हुआ शबाब भी है ... !!!*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

परिंदों को कैद करने का कोई शौक नहीं है मुझको,
.
हम तो वो दीवाने है, जो साथ उड़ने में विश्वास रखते है...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

पहली ही नज़र में उनसे प्यार हो गया
उसके बाद तो फिर दिल का करार हो गया !

उस एक लम्हे ने ऐसा असर किया
कि हर लम्हा जैसे खुद इन्तज़ार हो गया !

अपने होकर भी अपने ना हो सके हम
वो अजनबी होकर भी राज़दार हो गया ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

पहले मुफ़्त में प्यास बटेगी
बाद में इक-इक बूंद बिकेग

कितने हसीं हो माशा अल्लाह
तुम पे मुहब्बत ख़ूब जचेगी

ज़ालिम बस इतना बतला दे
क्या रोने की छूट मिलेगी

आज तो पत्थर बांध लिया है
लेकिन कल फिर भूक लगेगी

मैं भी पागल, तू भी पागल
हम दोनों की ख़ूब जमेगी

यार ने पानी फेर दिया है
ख़ाक हमारी ख़ाक उड़ेगी

दुनिया को ऐसे भूलूंगा
दुनिया मुझको याद करेगी

2020 की शायरी [शायरी 2020]

पानी में अक्स देखकर खुश
हो रहे थे हम..
पत्थर किसी ने मार कर
मंजर बदल दिया....!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

प्यार का पौधा लगाने से पहले..
एक बार मिट्टी जरूर परख लेना..
हर मिट्टी की फितरत मे
वफा नही होती.🌾🌾

2020 की शायरी [शायरी 2020]

प्यार किसी को करोगे रुस्वाई ही मिलेगी,
वफ़ा कर लो चाहे जितनी, बेवफाई ही मिलेगी,
जितना मर्जी किसी को अपना बना लो,
जब आँख खुलेगी तन्हाई ही मिलेगी !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

प्यार क्या होता है हम नहीं जानते,
ज़िन्दगी को हम अपना नहीं मानते,
गम इतने मील के एहसास नहीं होता,
कोई हमें प्यार करे अब विश्वास नहीं होता.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

प्यार ने प्यार को दूर से देखा,
प्यार ही   प्यार को करीब लाया,
प्यार भी प्यार में समा गया,
मगर अफ़सोस ,प्यार ही  प्यार को समझ ना पाया...!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

प्यार में बेवफाई मिले तो गम ना करना,
अपनी आँखे किसी और के लिए नम ना करना,
वो चाहे लाख नफरत करें तुमसे,
पर तुम अपना प्यार कभी उसके लिऐ कम ना करना ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

प्यार व्यार कुछ नही होता है ! जो जिसके ज्यादा करीब रहता है ! वो उसका हो जाता है !! जिस दिन बंद कर ली हमने आंखें, कई आँखों से उस दिन आंसु बरसेंगे, जो कहते हैं के बहुत तंग करते है हम, वही हमारी एक शरारत को तरसेंगे.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फटे कपड़ों में अपना तन छुपाना सीख लेते हैं ,
वो खाली पेट रहकर मुस्कुराना सीख लेते हैं ,
ग़रीबी बेबसी चेहरे की रंगत छीन लेती है ,
ज़रा सी उम्र में बच्चे कमाना सीख लेते हैं

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फ़ैसला बाद में भी कर लेना पहले हालात पर नज़र डालो

ज़िंदगी जब बहुत उदास लगे कोई छोटा गुनाह कर डालो

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फासले मिटा कर आपस में प्यार रखना दोस्ती का ये रिश्ता हमेशा बरकरार रखना बिछड़ जाएं कभी आपसे हम आंखों में हमेशा हमारा इंतजार रखना !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फिर से बाजार में अफवाह फैल गयी है,.....


हमारी मोहब्बत हमें.... याद कर रही है....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फिर से मिलने का वादा तो उनके मुँह से निकल ही गया,
जब हमने जगह पुछी तो कहने लगे ख़्वाबों में आते थे आते रहेंगे..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फिर हुआ तमाशा उनकी गली में,

में उन्हें,वो मुझे और लोग हमें देखते रहे...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फूल का शाख पर आना भी बुरा लगता है.
*तू नही है तो ज़माना भी बुरा लगता है.*

ज़ायका जिस्म का आँखों में सीमट आया है.
*अब तुझे हाथ लगाना भी बुरा लगता है.*

मैंने रोते हुए देखा है अलीबाबा को.
*बअज़ औक़ात खज़ाना भी बुरा लगता है.*

अब बिछड़ जा के बहोत देर से हम साथ में है.
*पेट भर जाए तो खाना भी बुरा लगता है.*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फूल खिल कर उदास है,
सागर को आज पानी की प्यास है,
एक बार आप भी मुस्कुरा दो,
क्योंकि खुदा को दुनिया की सबसे अच्छी हसी की तलाश है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फूल बनकर मुस्कुराना जिन्दगी है,
मुस्कुरा के गम भूलाना जिन्दगी है,
मिलकर लोग खुश होते है तो क्या हुआ,
बिना मिले दोस्ती निभाना भी जिन्दगी है🌷🌷🌷🌷🌷

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फूल शबनम में डूब जाते है,
जख्म मरहम में डूब जाते है,
जब आती है कभी याद तेरी,
हम तेरे गम में डूब जाते है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

फूलों को मैं बिछाऊं...
कहां है मेरी बिसात..

कांटे उठा लिए हैं मगर ...
मैने तेरी राह के...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बंजारे हैं रिश्तों की तिज़ारत नहीं करते
हम लोग दिखावे की मोहब्बत नहीं करते
मिलना है तो आ के जीत ले मैदान में हम को
हम अपने कबीले से बगावत नहीं करते ।।
तूफान से लड़ने का सलीका है जरूरी ।
हम डूबने वालों की हिमायत नहीं करते ।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बचा कर रखी थी कुछ रोशनी जमाने से,
हवा चराग़ उड़ा ले गई सरहाने से ।
बहेकते रहने की आदत हैं मेरे कदमों को ,
शराब-खाने से निकलुं के चाय-खाने से ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बड़ी मुद्दत से चाहा है तुझे! बड़ी दुआओं से पाया है तुझे! तुझे भुलाने की सोचूं भी तो कैसे! किस्मत की लकीरों से चुराया है तुझे!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बड़ी हसरत है पूरा एक दिन इक बार मैं अपने लिए रख लू ,

तुम्हारे साथ पूरा एक दिन बस ख़र्च करने की तमन्ना है !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बडी देर से देख रहा हूँ आज तस्वीर तेरी.


देखकर जाने कयूँ लगा कि तुम वो ना रहे जो पहले थे.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बदल गया वक़्त बदल गयी बातें बदल गयी मोहब्बत
कुछ नहीं बदला तो वो है इन आँखों की नमी और तेरी
कमी....✍🏻

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बरबाद कर देती है मोहब्बत हर मोहब्बत करने वाले को क्यूकि इश्क़ हार नही मानता और दिल बात नही मानता..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बस मुश्किल से बच के निकलना आता है
*अब किसको माहौल बदलना आता है*

भेष बदलने में तुम माहिर हो बेशक
*उसको तो किरदार बदलना आता है*

साथ उसी के चलते तो कैसे आता
*ये जो हमको गिर के संभलना आता है...*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बसना हो तो…
‘ह्रदय’ में बसो किसी के..!

‘दिमाग’ में तो..
लोग खुद ही बसा लेते है..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बहुत चाहेंगे तुम्हें मगर भुला ना सकेंगे ख्यालों में किसी और को ला ना सकेंगे किसी को देखकर आसू तो पोंछ लेंगे मगर कभी आपके बिना मुस्कुरा ना सकेंगे !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बहुत सौचकर आज खुद से ये सवाल किया मैने..

ऐसा क्या है मुझमे के लोग मुझसे वफा नही करते.!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बात करनी मुझे मुश्किल कभी ऐसी तो न थी
तिरी महफ़िल कभी ऐसी तो न थी .......।

ले गया छीन के कौन आज तिरा सब्र ओक़रार
बे-क़रारी तुझे ऐ दिल कभी ऐसी तो न थी .।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बात कोई और होती तो हम कह भी देते
आपसे....!!!
कम्बखत मोहब्बत है....बताई भी तो
नही जाती....!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बात मोहब्बत की थी तभी तो लूटा दी जिंदगी तुझ पे......
.
जिस्म से प्यार होता तो तुझ से भी हसीन चेहरे बिकते है बाजार में....!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बीते पल वापस ला नहीं सकते,
सूखे फूल वापस खिला नहीं सकते,
कभी कभी लगता है आप हमें भूल गए,
पर दिल कहता है कि आप हमें भुला नही सकते

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बे मुरव्वत है तू बे दर्द है हरजाई है
फिर भी ये दिल मेरा तेरा ही तमन्नाई है
तू खतावार नही इस मे मेरे परदेसी
मेरी रातो के मुकद्दर मे ही तन्हाई है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बेवक़्त को झुँझलाकर रो पड़े,
खोकर कभी उसे तो कभी पाकर रो पड़े,
खुशिया हमारे पास कहा मुस्तकिल रही,
बाहर कभी हासे तो घर आकर रो पड़े,
कब तक रोएंगे किसिके सोग में बैठकर,
हम ये खुदको कितनी बार समझा कर रो पड़े…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बेशक थोड़ा इंतजार मिला हमको, पर दुनिया का सबसे हसीं यार मिला हमको, न रही तमन्ना अब किसी जन्नत की, तेरी दोस्ती में वो प्यार मिला हमको.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बड़ी तफ़सील से रपट लिखवाई उन्होंने,
मेरी गुमशुदगी की....
मैं कतरा-कतरा बरामद हुआ,
उनकी आँखों के कैद खाने से....!!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

बड़े अनमोल हे ये खून के रिश्ते, इनको तू बेकार न कर ,
मेरा हिस्सा भी तू ले ले मेरे भाई, घर के आँगन में दीवार ना कर !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

भीगे मौसम की खुशबु हवाओं में हो;
आपके साथ का एहसास इन फिजाओं में हो;
यूहीं सदा रहे आपके होंठो पे मुस्कुराहट;
इतना असर मेरी दुआओं में हो✍🏻

2020 की शायरी [शायरी 2020]

भूक के एहसास को शेर-ओ-सुखन तक ले चलो.
अब अदब को मुफलिसों की अंजुमन तक ले चलो.

जो ग़ज़ल माशूक के जलवों से वाकिफ़ हो चली.
उसको अब बेवा के माथे की शिकन तक ले चलो.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मंजिले बड़ी ज़िद्दी होती हैँ..,
हासिल कहाँ नसीब से होती हैं..,
मगर वहाँ तूफान भी हार जाते हैं..,
जहाँ कश्तियाँ ज़िद पर होती हैँ..,

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मंजिलें बड़ी ज़िद्दी होती
हैँ..,
हासिल कहाँ नसीब से होती हैं..,
*मगर वहाँ तूफान भी हार जाते हैं..,*
*जहाँ कश्तियाँ ज़िद पर होती हैँ..,, ,,

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मकान बन जाते है कुछ दिनों में,
ये पैसा कुछ ऐसा है,

और घर टूट जाते है चंद पलों में,
ये पैसा ही कुछ ऐसा है....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मत नराज हो हमसे इतना, की वक्त के फसलो पे आपको भी अफसोस हो जाये, कल क्या पता आप बात करने आओ हमसे, और तब तक हमरी रुह ही खामोश हो जाये.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मत परवाह कर जो आज देते है ताना,
झुक जायेंगे ये सर जब आएगा तेरा ज़माना,
लहरें बन जाए तूफ़ान, कश्ती का काम है बहना,
कुछ तो लोग कहेंगे, लोगों का काम है कहना !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मत पूछ दिल का.
आलम क्या है
ए सनम,....

इंतज़ार है बस
तुझ में सिमट जाने का. ✍

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मत बहा आंसुओं में जिंदगी को;
एक नए जीवन का आगाज़ कऱ;
दिखानी है अगर दुश्मनी की हद तो;
ज़िक्र भी मत कर, नज़र अंदाज़ कर।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मरने वाले तो एक दिन बिन
बताए मर जाते है ....
रोज़ तो वो मरते है ....
जो खुद से ज़्यादा किसी को चाहते हैं ....!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मसीहा दर्द के हमदर्द हो जायें तो क्या होगा
रवादारी के ज़ज़्बे सर्द हो जायें तो क्या होगा,
ये जो लाखों करोड़ों पाँच वक़्तों के नमाज़ी है
अगर सच मुच में दहशत गर्द हो जायें तो क्या होगा..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मांगी थी मौत तो जिंदगी दे दी अंधेरों में भी रोशनी दे दी खुदा से पूछा क्या तोहफा है मेरे लिए तो उसने हमें आपकी दोस्ती दे दी !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये!
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये!
दिल की क्या औकात आपके सामने!
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मिट्टी के घरोंदे है, लहरों को भी आना है,ख्बाबों की बस्ती है, एक दिन उजड़ जाना है,टूटी हुई कश्ती है, दरिया पे ठिकाना है,उम्मीदों का सहारा है,इक दिन चले जाना है,बदला हुआ वक़्त है, ज़ालिम ज़माना है,यंहा मतलबी रिश्ते है, फिर भी निभाना है,वो नाकाम मोहब्बत थी, अंजाम बताना है,इन अश्कों को छुपाना है, गज़ले भी सुनाना है, इस महफ़िल में सबको अपना ही माना है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मिलने आयेंगे हम आपसे ख्वाबों में,
ये ज़रा रौशनी के दिये बुझा दीजिए,
अब नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाकात का,
ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुँह की बात सुने हर कोई दिल के दर्द को जाने कौन
आवाज़ों के बाज़ारों में ख़ामोशी पहचाने कौन

सदियों-सदियों वही तमाशा रस्ता-रस्ता लम्बी खोज
लेकिन जब हम मिल जाते हैं खो जाता है जाने कौन

जाने क्या-क्या बोल रहा था सरहद, प्यार, किताबें, ख़ून
कल मेरी नींदों में छुपकर जाग रहा था जाने कौन

वो मेरा आईना है या मैं उसकी परछाई हूँ
मेरे ही घर में रहता है मुझ जैसा ही जाने कौन

किरन-किरन अलसाता सूरज पलक-पलक खुलती नींदें
धीमे-धीमे बिखर रहा है ज़र्रा-ज़र्रा जाने कौन

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुकाम ऐ महोब्बत तूने
समझा ही नहीं..!!
वरना जहा तक था तेरा साथ
वही तक थी ज़िंदगी मेरी..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुझपे ऐतबार किया था तुमने एक दिन
तुम भले तोड़ दो, हम कभी न तोड़ेंगे
तेरे वादे, तेरे कसमों को चुन-चुनकर
अपने यादों की ये कलियां सजाई है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुझे भी सिखा दो भूल जाने
का हुनर..!!
मैं थक गया हूँ,
हर लम्हा हर सांस,तुझे
याद करते करते..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुझे मालूम है कि ये ख्वाब झूठे हैं और ख्वाहिशें
अधूरी हैं,
मगर जिंदा रहने के लिए कुछ गलतफहमियां जरूरी हैं…!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुद्दत हो गयी।
कोई शख्स तो अब ऐसा मिले,
बाहर से जो दिखता हो,
अन्दर भी वैसा मिले....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुसलसल हादसे, टूटन, घुटन, खामोश पछतावे
मैं अपनी पुरखुलुसी की बड़ी कीमत चुकाता हूँ

निहायत सादगी, बेहद शराफत, गहरी हमदर्दी
ये डसते हैं मुझे अक्सर, मैं अक्सर तिलमिलाता हूँ

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुस्कारने के मकसद न ढूँढ,
वर्ना जिन्दगी यूँ ही कट जाएगी,
कभी बेवजह भी मुस्कुरा के देख,
तेरे साथ साथ ‎जिन्दगी भी मुस्कुरायेगी।
🌹👌

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुस्कुराकर मिला करो हमसे
कुछ कहा और सूना करो हमसे

बात करने से बात बढती है
रोज़ बातें किया करो हमसे

दुश्मनी से मिलेगा क्या तुमको
दोस्त बनकर रहा करो हमसे

देख लेते हैं सात पर्दों में
यूं न पर्दा किया करो हम से...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुस्कुराने के बहाने जल्दी खोजो ,वरना जिन्दगी रुलाने के मौके तलाश लेगी !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुहब्बत एक एहसासों की पावन सी कहानीं है।
कभी कबिरा दिबाना था कभी मीरा दिवानी है।
यहां सबलोग कहते हैं मेरी आखों मे आसूं है।
जो तू समझे तो मोंती है जो ना समझे तो पानी है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मुहब्बत में कोई ख़त मुख़्तसर अच्छा नहीं लगता ..
लिफ़ाफ़े में फ़क़त तितली का पर अच्छा नहीं लगता

तुम अपने दिल के कमरे में मुझे क्यूँ क़ैद करते हो
मुसाफिर हूँ ,मुसाफिर को तो घर अच्छा नहीं लगता

महक जिसमें न हो बाक़ी वो गुल, गुलदान में क्यूँ हो
न उटठे टीस तो ज़ख्मे –जिगर अच्छा नहीं लगता

मैं चढ़ कर ख़ुद दरख्तों पर फलों को तोड़ लेता हूँ
परिन्दें जो गिराए वो समर अच्छा नहीं लगता..

तुम्हारे हिज्र में मेरा अजब सा हाल होता है ...
इधर अच्छा नहीं लगता ,उधर अच्छा नहीं लगता

दिवानों को दरे-मक़तल कहीं आवाज देता हैं ...
मुझे अब अपने शानों पर ये सर अच्छा नहीं लगता ...

न जिसके फल मयस्सर हों, न जिससे छाँव मिलती हो
मुझे ऐसा बहुत ऊँचा शजर अच्छा नहीं लगता ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरा कुछ सामान तुम्हारे पास पड़ा है
सावन के कुछ भीगे भीगे दिन रखे हैं
और मेरे एक ख़त में लिपटी रात पड़ी है
वो रात बुझा दो, मेरा वो सामान लौटा दो

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरा दिल मुझसे कहता है कि
वो वापिस आयेगी,,,,
मैँ दिल से कहता हूँ कि उसने
तुझे भी झूठ बोलना सिखा दिया

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरा हर दिन तेरी रात से अच्छा होगा,
मेरा हर शेर तेरे जसबात से अछा होगा,
इन्ही निगाओं से देखना ए बेवफा.
मेरा जनाज़ा तेरी बारात से अच्छा होगा !!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरी आँखों के जादु से
अभी तुम कहा वाकिफ हो ,
हम उसे भी जीना सिखा देते हैं
जिसे मरने का शौक हो.🌺

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरी खामोशियों में भी फसाना ढूंढ लेती है बड़ी शातिर है ये दुनिया बहाना ढूंढ लेती है हकीकत जिद किये बैठी है चकनाचूर करने को मगर हर आंख फिर सपना सुहाना ढूंढ लेती है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरी ज़िंदगी मे तन्हाई का आलम
कुछ ऐसे गुज़र रहा है दोस्त..
अब जब कभी मेरी खुद की परछाई
भी नज़र आ जाए तो लगता है बड़ी भीड़ सी हो गयी..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरी तक़दीर में जलना है तो जल जाऊँगा;
तेरा वादा तो नहीं हूँ जो बदल जाऊँगा;
मुझको समझाओ न मेरी जिंदगी के असूल;
एक दिन मैं खुद ही ठोकर खा के संभल जाऊँगा।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरी बर्बादियों को देखकर मुंह मोड़ गए सब लोग. ।।
इस हालत पे तरस खाने को बस तेरी नजर बाकी है..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरी मंज़िल मेरी हद ।
बस तुमसे तुम तक ।।
ये फ़क्र है कि तुम मेरे हो ।
पर फ़िक्र है कि कब तक.....!!!!!❤❤💞💖💗💘💘.......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरी सादगी से लोग जलें तो मेरा क्या कसूर,
पैसौ की अमीरी तो आम बात है।
दिल की अमीरी खुदा किसी किसी को देता है।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरे अन्दर रोज टूटती है आवाज़
जो मुझे रोने नहीं देती
सोख लेती हूँ वो पन्ना
जो झुलसा बदरंग सा है..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरे अल्फाज़ो से बहुत एतराज है उनको,
जो उम्र सारी, मेरी गजलों को गुनगुनाते रहे,,,,,

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरे चाहने में कोई कमी तो न थी ऐ खुदा....
फिर क्यों उसे किसी और के नसीब में लिख दिया।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरे नसीब की
बदनसीबी देखो..
ये उसपे मरता है
जो मेरे नसीब में ही नहीं

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरे मिज़ाज को समझने के लिए,
बस इतना ही काफी है,

मैं उसका हरगिज़ नहीं होता...
जो हर एक का हो जाये।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरे वजूद मे काश तू उतार जाए
मे देखु आईना ओर तू नज़र आए,
तू हो सामने और वक़्त ठहर जाए,
ये ज़िंदगी तुझे यू ही देखते हुए गुज़र जाए..

जब खामोश आँखो से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते हैं
पता नही कब दिन और कब रात होती है……..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मेरे होठों की हसी
मेरी कहानी तू है

लबों पे जो रह गई
प्रेम निशानी तू है !|!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मैं इस उम्मीद पे डूबा के तू बचा लेगा
अब इसके बाद मेरा इम्तेहान क्या लेगा

ये एक मेला है वादा किसी से क्या लेगा
ढलेगा दिन तो हर एक अपना रास्ता लेगा

मैं बुझ गया तो हमेशा को बुझ ही जाऊँगा
कोई चराग़ नहीं हूँ जो फिर जला लेगा

कलेजा चाहिए दुश्मन से दुश्मनी के लिए
जो बे-अमल है वो बदला किसी से क्या लेगा

मैं उसका हो नहीं सकता बता न देना उसे
सुनेगा तो लकीरें हाथ की अपनी जला लेगा

हज़ार तोड़ के आ जाऊँ उस से रिश्ता नवाज
मैं जानता हूँ वो जब चाहेगा बुला लेगा

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मैं जब चलूं तो यह दौलत भी साथ रख देना,
मेरे बुजुर्ग मेरे सर पे हाथ रख देना........!
मैं एक सच हूं अगर सुन सको तो सुनते रहो,
गलत कहूं तो मेरे मुंह पे हाथ रख देना....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मैं तलाशती हूँ,तुझे हर लम्हें में,
तु वक्त में मुझे,तलाशता क्यूँ नहीं,

गर आरजूएँ,एक सी नहीं हैं साथी,तो
ख्वाब बनकर,तू मुझ पर बरसता यूँ नहीं...❤❤❤❤

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मैं तो चिराग हूं तेरे आशियाने का,
कभी ना कभी तो बुझ जाऊंगा,
आज शिकायत है तुझे मेरे उजाले से
कल अंधेरे में बहुत याद आऊंगा।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मैं थक गया था ...
परवाह करते करते,
जब से ला-परवाह हुआ हूँ
आराम सा है..!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मैं दिल से हर किसी के साथ रहता हूँ..!!

शायद इसी लिए मै उदास रहता हूँ....!!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मैं नज़र से पी रहा हूँ
ये समा बदल ना जाऐ

ना झुकाओ तुम निगाहैं
कहीं रात ढल ना जाऐ

अभी रात कुछ है बाक़ी
ना उठा नक़ाब साक़ी

तेरा रिंद गिरते गिरते
कहीं फिर संभल ना जाऐ

मुझे फूंकने से पहले
मेरा दिल निकाल लेना

ये किसी की है अमानत
कहीं साथ जल ना जाऐ

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मैं हँसती हूँ तो बस अपने ग़म छिपाने के लिए,
और लोग देख के कहते है काश हम भी इसके जैसे होते !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहबत को जो निभाते हैं उनको मेरा सलाम है,
और जो बीच रास्ते में छोड़ जाते हैं उनको, हुमारा ये पेघाम हैं,
“वादा-ए-वफ़ा करो तो फिर खुद को फ़ना करो,
वरना खुदा के लिए किसी की ज़िंदगी ना तबाह करो”

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत अब तिजारत बन गयी है,
तिजारत अब मोहब्बत बन गयी है.
किसी से खेलना फिर छोड़ देना,
खिलौनों की तरह दिल तोड़ देना,
हसीनों की ये आदत बन गयी है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत का ये कौन सा अंदाज है जरा ...हमको भी
समझा दे,.....!!
मरने से भी रोकते हो ...और जीने
भी तो नहीं देते....!! :(
.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत का ये कौनसा अंदाज है जरा हमको भी समझा दो,
लोग
मरने से भी रोकते हैं और जीने भी तो नहीं देते...😊....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत का शौक
यहां किसे था.


तुम पास आती गई
और मोहब्बत होती गई....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत की आँधियो से टकराने में ही तो मज़ा हैं...!!

दोस्तो

अगर मरना ही हैं तो मोहब्बत में क्यों नहीं.।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत जिनको होती है, मुकद्दर रूठ जाता है
मुसाफिर संग जो चलता सफर मे छूट जाता है
दिलो से खेलने मत दो कभी नादान लोगो को
खिलौना कांच का है ,ये अक्सर टूट जाता है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत दिल लिए दर पर खड़ी है।
बड़ी नादान है ज़िद पर अड़ी है।

तुझे महलों की आदत है मेरी जाँ,
मेरी किस्मत में टूटी झोपडी है।

पता है आख़िरी मंज़िल कज़ा है,
मग़र ये ज़िन्दगी पीछे पड़ी है।

बज़ाहिर प्यार छलकाता है मुझ पर,
दगा देने की ख़्वाहिश हर घडी है।

जिबह किसने किया है सभ्यता का,
पलट कर देख किसकी खोपड़ी है।

मची है होड़ हथियारों की हरसू,
ये दुनियां मौत के दर पर खड़ी है।

ये मुश्किल चुटकियों में हल न होगी,
तुम्हारी सोच से ज़्यादा बड़ी है।

ख़ुशी के पल मोहब्बत में कहाँ हैं,
अरे '... ' ये तो हथकड़ी है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत नहीं है कोई किताबों की बाते!
समझोगे जब रो कर कुछ काटोगे रातें!
जो चोरी हो गया तो पता चला दिल था हमारा!
करते थे हम भी कभी किताबों की बाते!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत मुक्कदर है कोई खवाब नहीं, ये वो अदा है जिसमें सब कामयाब नहीं, जिन्हें पनाह मिली उन्हें उंगलियों पे गिनो, जो बर्बाद हुऐ उनका हिसाब नहीं....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मोहब्बत में टूटे, तो फिर संभालना नही आया,उनसे बिछड़े है जबसे, फिर मचलना नही आया,मेरे दिल की,तासीर ही कुछ ऐसी रही कि,उनसे किये वादों से, फिर मुकरना नही आया.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

मौसम है बारिस का और याद तुम्हारी आती है, बारीश के हर कतरे से आवाज तुम्हारी आती है, बादल जब गर्जते है, दिल की धडकन बढ़ जाती है, दिल की हर एक धडकन से आवाज तुम्हारी आती है,.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

यादों की किम्मत वो क्या जाने; जो ख़ुद यादों को मिटा दिए करते हैं, यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो, यादों के सहारे जिया करते हैं!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

यादों के सहारे दुनिया नही चलती बिना किसी शायर के महफ़िल नही बनती एक बार पुकारो तो आए दोस्तों क्यों की दोस्तों के बिना ये धड़कने नही चलती..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

यूँ असर डाला है मतलबी लोगो ने दुनियाँ पर,
हाल भी पूछो तो लोग समझते है की कोई काम होगा !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

यूँ नहीँ है कि हम आपको याद नहीं करते
हिचकियों को मना किया हुआ है हमने
कभी समझो अपने दिल की धड़कन को
भरोसा सिर्फ हिचकियों पे ना करो साहेब

2020 की शायरी [शायरी 2020]

यूं लम्हा-लम्हा सहारों का कर्ज दार न कर,
गिराना है तो गिरा दे संभालता क्यों है।
वो मिलेगा तो इक बात उस से पूछूंगा,
वो मार डालेगा मुझको तो पालता क्यों है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये कैसा शख्स है कितनी ही अच्छी बात कहो
कोई बुराई का पहलू निकाल लेता है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये कैसी ख्वाहिश है कि मिटती ही नहीं... ♥♥
जी भर के तुझे देख लिया फिर भी नजर हटती नहीं!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये कौन आ गई दिलरुबा महकी महकी
*फ़िज़ा महकी महकी हवा महकी महकी*
वो आँखों में काजल वो बालों में गजरा
*हथेली पे उसके हिना महकी महकी*
ख़ुदा जाने किस-किस की ये जान लेगी
*वो क़ातिल अदा वो सबा महकी महकी*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये चांदनी रात बड़ी देर के बाद आयी;
ये हसीं मुलाक़ात बड़ी देर के बाद आयी;
आज आये हैं वो मिलने को बड़ी देर के बाद;
आज की ये रात बड़ी देर के बाद आयी

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये जिदंगी तमन्नाओं
का गुलदस्ता ही तो है
कुछ महकती हैं,
कुछ मुरझाती हैं और
कुछ चुभ जाती हैं.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये दिल भुलाता नहीं है मोहब्बत उसकी

*पड़ी हुई थी मुझे कितनी आदतें उसकी*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये दिल भुलाता नहीं है मोहब्बतें उसकी;
पड़ी हुई थी मुझे कितनी आदतें उसकी;
ये मेरा सारा सफर उसकी खुशबू में कटा;
मुझे तो राह दिखाती थी चाहतें उसकी।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये दुनिया अक्सर उन्हें सस्ते में लूट लेती है.....!!

जिन्हें खुद की कीमत ...का अंदाज़ा नहीं होता....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये देखा है हमने खुद को आज़माकर;
धोखा देते हैं लोग करीब आकर;
कहती है दुनिया पर दिल नहीं मानता;
कि छोड़ जाओगे तुम भी एक दिन अपना बनाकार।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये दोस्ती चिराग है जलाऐ रखना
ये दोस्ती खुशबु है महकाऐ रखना,
हम रहें हमेशां आपके दिल में,
हमेशां इतनी जगह बनाऐ रखना

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये नजर चुराने की आदत आज भी नही बदली उनकी …
कभी मेरे लिए जमाने से और अब जमाने के लिए हमसे…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये बरसात आज मुझसे कुछ कह गयी
आज फिर मेरी बाहो मे उसकी कमी रह गयी।
एक पल के लिये उसे छुआ मैंने और
आज फिर उसकी याद बारिश मे पानी कि तरह बह गयी...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये बेगानी शाम बस कुछ पल की मेहमान है
रु ब रु मेरे कोई अपना नही, एक सुनसान है
हम उधर को चले जिस डगर पे मेरी तन्हाई है
उस शहर मे जहाँ किसी से ना मेरी पहचान है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये बेवफा, वफा की कीमत क्या जाने;
ये बेवफा गम-ए-मोहब्बत क्या जाने;
जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर;
वो भला प्यार की कीमत क्या जाने।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ये लकीरें, ये नसीब, ये किस्मत सब फ़रेब के आईनें हैं,
हाथों में तेरा हाथ होने से ही मुकम्मल ज़िंदगी के मायने हैं..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रब से आपकी खुशी मांगते हैं दुआओं में आपकी हंसी मांगते हैं सोचते हैं आपसे क्या मांगें चलो आपसे उम्र भर की मोहब्बत मांगते हैं !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रात के टुकड़ों पे पलना छोड़ दे
शमा से कहना के जलना छोड़ दे
मुश्किलें तो हर सफ़र का हुस्न हैं
कैसे कोई राह चलना छोड़ दे
तुझसे उम्मीदे- वफ़ा बेकार है
कैसे इक मौसम बदलना छोड़ दे
मैं तो ये हिम्मत दिखा पाया नहीं
तू ही मेरे साथ चलना छोड़ दे
कुछ तो कर आदाबे-महफ़िल का लिहाज़
यार ! ये पहलू बदलना छोड़ दे

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रात गुजरी फिर महकती सुबह आई,
दिल धड़का फिर तुम्हारी याद आई,
आँखों ने महसूस किया उस हवा को,
जो तुम्हें छु कर हमारे पास आई..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

राह में खतरे भी हैं लेकिन ठहरता कौन है,
मौत कल आती है आज आ जाए डरता कौन है।
तेरे लश्कर के मुकाबिल में अकेला हूं मगर,
फैसला मैदान में होगा कि मरता कौन है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रिश्ते चाहे कितने भी बुरे हो लेकिन कभी भी उन्हे मत तोड़ना,
क्यूकी पानी चाहे कितना भी गंदा हो,
प्यास नही तो आग तो बुज़ाता ही हैं..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रिश्तों में इतनी बेरुख़ी भी
अच्छी नहीं..
देखना कहीं मनाने वाला ही ना रूठ जाए
तुमसे..!
.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रूठना तेरा और मनाना मेरा....
इक यही तो है बस ख़जाना मेरा....

सारी दुनिया को घूम आऊँ मैं..
इक तेरा दर है बस ठिकाना मेरा.... !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रूठना मत कभी हमसे...!!
मना नही पायेंगे......!
तेरी वो कीमत है मेरी जिंदगी में...!!!
कि शायद…….....!
हम अदा नहीं कर पायेंगे...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रेत पर नाम कभी लिखते नहीं;
रेत पर नाम कभी टिकते नहीं;
लोग कहते है कि हम पत्थर दिल हैं;
लेकिन पत्थरों पर लिखे नाम कभी मिटते नहीं!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

रोज कुरते ये कलफदार कहाँ से लाऊँ,,
तेरे मतलब का मैं किरदार कहाँ से लाऊँ..!!

दिन निकलता है तो सौ काम निकल आते हैं,,
ऐ ख़ुदा इतने मददगार कहाँ से लाऊँ..!!

सर बुलंदों के लिए सर भी कटा दूँ लेकिन,,
सरफिरों के लिए दस्तार कहाँ से लाऊँ..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

लफ्ज लिखता हूँ तॊ
अहसास लिखा जाता हैं
दर्द लिखता हूँ तॊ मोहब्बत लिखा जाता
मोहब्बत लिखता हूँ तॊ तेरा नाम लिखा जाता हैं !

2020 की शायरी [शायरी 2020]

लम्हों की खुली किताब हैं ज़िन्दगी …. ख्यालों और सांसों का हिसाब हैं ज़िन्दगी …. कुछ ज़रूरतें पूरी ,कुछ ख्वाहिशें अधूरी ….. इन्ही सवालों के जवाब हैं ज़िन्दगी

2020 की शायरी [शायरी 2020]

लिखने का शौक नहीं था मुझे
तुम्हारे अहसासों ने कलम थमा दी।
रोग कुछ ऐसा लगा इस दिल को
अश्कों की स्याही हमने खुद मिला ली।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

लोग कहते है की इतनी दोस्ती मत करो
की दोस्त दिल पर सवार हो जाए.
हम कहते हैं दोस्ती इतनी करो की
दुश्मन को भी तुमसे प्यार हो जाए....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी
अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की
कमी पूरी नहीं होती ह

2020 की शायरी [शायरी 2020]

लोगों से सुनते थे मोहब्बत के अफ़साने
खुवाब हम ने भी देखहे थे सुहाने
प्यार क्या है ?
हम अक्सर सोचते थे
इस बात से हम अपने दिल को रोकते थे
लेकिन अब तुम्हाइन इस दिल मैं बसा कर
यह ख़ाता एक बार करना चाहता है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वह इंसान जो भरोसा करता है वह जिंदगी में आराम करता है. और वह इंसान जो भरोसा नही करता वह परेशान, डरा हुआ और कमजोर रहता है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वारस्ता इससे हैं कि मुहब्बत ही क्यों न हो
कीजे हमारे साथ अदावत ही क्यूं न हो
है आदमी बजा-ए-ख़ुद इक महशर-ए-ख़याल
हम अंजुमन समझते हैं ख़लवत ही कयूं न हो
उस फ़ितना-ख़ू के दर से अब उठते नहीं 'असद'
उस में हमारे सर पे क़यामत ही क्यूं न हो....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो "दोस्त"मेरी नजर में.
बहुत माएने रखते हैं
जो वक़्त आने पर मेरे सामने
"आइने" रखते हैं..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो 'लम्हा'
मेरी ज़िंदगी का
बड़ा अनमोल होता है..
जब
तेरी बातें, तेरी यादेँ
और
तेरा माहौल होता है.!💗

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो जब अपने हाथो की लकीरों में मेरा नाम ढूंढ कर थक गये, सर झुकाकर बोले, लकीरें झूठ बोलती है तुम सिर्फ मेरे हो..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो दिन दिन नही..वो रात रात नही.. वो पल पल नही जिस पल आपकी बात नही.. आपकी यादो से मौत हमे अलग कर सके. मौत की भी इतनी भी औकात नही

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो दिल ना तोडता..तो यूँ आहों का ना मौसम होता
मै दूर नहीं होता...और वो मेरी निगाहों मे होता..

खता किसी की नहीं..बस किस्मत मे ही नहीं था...
कि वो मेरी होती.......और मैं...उसका होता..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो पानी की लहरों पे क्या लिख रहा था;
खुदा जाने हरफ-ऐ-दुआ लिख रहा था;
महोब्बत में मिली थी नफरत उसे भी शायद;
इसलिए हर शख्स को शायद बेवफा लिख रहा था।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो पुछती है ,
मैं उससे इतना प्यार क्यों करता हूँ ? ?

मैंने कहा एक तमन्ना हैं
तुम्हें पाने की. . . . .
वो कहती है ,
हर वक्त उदास क्यों रहते हो ? ?

मैनें कहा कोशिश है
तुम्हें हर खुशी दिलाने की. . . . .
वो कहती है ,
हर वक्त सोचते क्यों रहते हो ? ?

मैनें कहा आदत हो गई है
तुम्हें ख्यालों में अपना बनाने की . . . . .
वो कहती है ,
मैं न मिली तो ? ?

मैनें कहा तो तम्मना है
ये जिन्दगी मिटाने की. . . . .
वो कहती है ,
तुम्हें क्या मिलेगा मर कर ? ?

मैनें कहा एक उम्मीद ,
अगले जन्म में तुम्हें अपना बनाने की . . . . .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो मेरे हाथो की लकीरे देखकर
अक्सर मायूस हो जाती है....
शायद
उसे भी एहसास हो गया है की
वो मेरी क़िस्मत मे नही है....!!....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो रिश्ते बड़े प्यारे होते हैं
जिनमे_न_हक़_हो_न_शक हो.
न अपना हो, न पराया हो,

न_दूर_हो_न_पास_हो..
न जात हो, न ज़ज्बात हो,
सिर्फ_अपना पन का एहसास_ही_एहसास_हो

❣ ❣

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो रोए तो बहुत, पर मुझसे मूह मोड़ कर रोए
कोई मजबूरी होगी तो दिल तोड़ कर रोए
मेरे सामने कर दिए मेरे तस्वीर के टुकड़े
पता चला मेरे पीछे वो उन्हे जोड़ कर रोए

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो लफ्ज कहां से लाऊं जो तेरे दिल को मोम कर दें....!!
मेरा वजूद पिघल रहा है तेरी बेरूखी से......!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे!
दुनिया में हम खुश नसीब होंगे!
दूर से जब इतना याद करते है आपको!
क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे? 🍫

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो सो जाते हैं अक्सर हमें याद किये बगैर , हमें नींद नहीं आती उनसे बात किये बगैर , कसूर उनका नहीं कसूर तो हमारा है , उन्हें चाहा भी तो हमने उनकी इजाजत के बगैर ..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वो हमें कोसता रहता था जमाने भर में
और हम अपना कोई शेर सुना देते थे
घर की तामीर में हम बरसों रहे हैं पागल
रोज दीवार उठाते थे, गिरा देते थे

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वक़्त फिसलता है रेत की तरह,
हम बस उसे संभालना भूल जाते है,
कुछ लोग बहुत खास होते है ज़िंदगी में,
हम बस उन्हे बताना भूल जाते है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वफ़ा कहाँ मिलेगी समझ नही आया,
जो भी आया जिंदगी में सिर्फ लूटने को आया.
किसी ने बहाना बनाया इश्क का,
तो किसी ने जख्मों पर लगा टांका भी चुरा लिया.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

वफ़ा का नाम सुना था
पुराने लोगों से....

हमारे दौर में शायद ये हादसा हुआ ही नही....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

शाम की स्याही में कुछ सवाल बिखरे है.
💕💕

साफ़ करते करते पता लगा दिल पे दाग गहरे है💕💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

शाम को थक कर टूटे झोपड़े में सो जाता है वो मजदूर, जो शहर में ऊंची इमारतें बनाता है….

मुसीबत में अगर मदद मांगो तो सोच कर मागना क्योकि मुसीबत थोड़ी देर की होती है और एहसान जिंदगी भर का…..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

शायरी नहीं आती मुझे बस हाले दिल सुना रही हूँ;
बेवफ़ाई का इलज़ाम है, मुझपर फिर भी गुनगुना रही हूँ;
क़त्ल करने वाले ने कातिल भी हमें ही बना दिया;
खफ़ा नहीं उससे फिर भी मैं बस, उसका दामन बचा रही हूँ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

शायरी वही सही होती है जिसे पढ़ कर दिल को यूँ लगे कि....!!
अरे हाँ....!!
यही बात तो हम कहेना चाहते थे...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

शिकायत है उन्हें कि,
हमें मोहब्बत करना नही आता,
शिकवा तो इस दिल को भी है,
पर इसे शिकायत करना नहीं आता

2020 की शायरी [शायरी 2020]

शिद्दत वाली मोहब्बत
किसी से भी कर लो,
पर ईनाम में
आँसूही मिलेंगे मेरे "दोस्त"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

संघर्ष में आदमी अकेला होता है;
सफलता में दुनिया उसके साथ होती है;
जब-जब जग उस पर हँसा है;
तब-तब उसी ने इतिहास रचा है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सजते दिल मे तराने बहुत है,
ज़िंदगी जीने के बहाने बहुत है,
आप सदा मुस्कुराते र्हइए,
आपकी मुस्कुराहट के दीवाने बहुत है…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सफ़र में धूप तो होगी जो चल सको तो चलो
सभी हैं भीड़ में तुम भी निकल सको तो चलो

इधर उधर कई मंज़िल हैं चल सको तो चलो
बने बनाये हैं साँचे जो ढल सको तो चलो

किसी के वास्ते राहें कहाँ बदलती हैं
तुम अपने आप को ख़ुद ही बदल सको तो चलो

यहाँ किसी को कोई रास्ता नहीं देता
मुझे गिराके अगर तुम सम्भल सको तो चलो

यही है ज़िन्दगी कुछ ख़्वाब चन्द उम्मीदें
इन्हीं खिलौनों से तुम भी बहल सको तो चलो

हर इक सफ़र को है महफ़ूस रास्तों की तलाश
हिफ़ाज़तों की रिवायत बदल सको तो चलो

कहीं नहीं कोई सूरज, धुआँ धुआँ है फ़िज़ा
ख़ुद अपने आप से बाहर निकल सको तो चलो..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सब आते है खैरियत पूछने
तुम आ जाओ तो ये नौबत ही न आए....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सब एक चराग के परवाने होना
चाहते हैं,,,,

अजीब लोग हैं दीवाने होना
चाहते हैं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सब कुछ है मेरे पास पर दिल की दवा नहीं;
दूर है वो मुझसे पर मैं उससे ख़फ़ा नहीं;
मालूम है कि वो अब भी प्यार करता है मुझसे;
वो थोड़ा सा ज़िद्दी है मगर बेवफ़ा नहीं।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सब ने चाहा कि उसे हम ना मिलें हम ने चाहा उसे ग़म ना मिलें
अगर ख़ुशी मिलती है उसे हम से जुदा होकर तो दुआ है ख़ुदा से कि उसे कभी हम ना मिलें....:))

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सब फूलों की जुदा कहानी है खामोशी भी तो प्यार की निशानी है ना कोई ज़ख्म है फिर भी ऐसा एहसास है यूँ महसूस होता है कोई आज भी दिल के पास है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सबने खरीदा सोना, मैने एक सुई खरीद ली, सपनों को बुनने जितनी डोरी खरीद ली।
शौक- ए- जिन्दगी कुछ कम किये, फिर सस्ते में ही सुकून-ए-जिन्दगी खरीद ली।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

समंदर के सफर में इस तरह आवाज़ दे हमको,
हवाएं तेज़ हो जाये और कश्तियों में शाम हो जाये,
उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दे,
ना जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाये !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

समजते थे हम उनकी हर एक बात को,
वो हर बार हमको धोका देते थे,
पर हम भी वक़्त के हातो मजबूर थे,
जो हर बार उनको मौका देते थे...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

समझता नहीं दिल,
समझने चले आओ…
दिलो के फासले मिटाने
चले आओ…
जूनून-ए-इश्क़ में,
पागल हो गए हम…
दिल को रहत पहुचाने
चले आओ…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

समझा ना कोई दिल की बात को;
दर्द दुनिया ने बिना सोचे ही दे दिया;

जो सह गए हर दर्द को हम चुपके से;
तो हमको ही पत्थर दिल कह दिया।..😑

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सर को कटा दिया मगर ऐसा नही किया.
मैंने ज़मीरो ज़र्फ़ का सौदा नही किया.

क्यों नाज़ हो ना जज़्ब-ए-ईसार पर मुझे.
ख़ाक-ए-वतन तुझे कभी रुस्वा नही किया.


लूटना क़ुबूल कर लिया रहज़न के हाथ से.
कमज़र्फ रेहबरो पर भरोसा नही किया.

बर्बाद कर दिया मुझे तेरे फरेब ने.
फिर भी तेरे फरेब का चर्चा नही किया.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

साथ छोडने वालो को सिफॅ ऐक बहाना चाहिए,
वरना निभाने वाले मौत के दरवाजे तक साथ नही छोडते...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सादगी अगर हो लफ्जों में,
यकीन मानो,
इज्जत 'बेपनाह',
और
दोस्त 'बेमिसाल मिल ही जाते हैं..!!👌

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सारा दिन गुजर जाता है खुद
को समेटने में, फिर रात
को उसकी यादों की हवा
चलती है
और हम फिर बिखर जाते हैं......

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सिमटते जा रहे हैं दिल और ज़ज्बातों के रिश्ते .....

सौदा करने में जो माहिर है बस वही कामयाब है....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सियासी आदमी की शक्ल तो प्यारी
निकलती है मगर जब गुफ़्तगू करता है चिंगारी
निकलती है लबों पर मुस्कुराहट दिल में बेज़ारी
निकलती है बड़े लोगों में ही अक्सर ये बीमारी
निकलती है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सिर्फ..
ख़्वाब होते...
तो क्या बात होती.
वो तो..
ख्वाहिश बन बैठे... वो भी बेइंतहा..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सीखा जाता है हर हुनर किसी न किसी उस्ताद से,
मगर जिन्दगी के सबक तो जमाने की ठोकरें ही देती हैं..✍🏻✍🏻

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सुना है कि,
मौत से पहले एक और मौत होती है....

और उसे प्यार से लोग ....
"मोहब्बत" कहते हैं.!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सुनो गुजर जाएगी तुम्हारी बाँहों में, मेरी जिंदगी ऐसे
हसीन रात में देखा हुआ कोई, सुनहरा ख्वाब हो जैसे🙇🏻

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सुहाना मौसम और हवा मे नमी होगी आंसुओ की बहती नदी होगी मिलना तो हम तब भी चाहेंगे आपसे जब आपके पास वक्त और हमारे पास सासों कि कमी होगी !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सूख गए फूल पर बहार वही है दूर रहते है पर प्यार वही है जानते है हम मिल नहीं पा रहे है आपसे मगर इन आंखो में मोहब्बत का इंतजार वही है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सूरज ने झपकी पलक और ढल गयी शाम;
रात ने बिखेरा है आँचल मिलकर तारों के साथ; देख कर रात का यह नज़ारा कहने को शुभ रात्रि हम भी आ गए हैं साथ।
शुभ रात्रि!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सेल्फ़ी नहीं....

किसी का दर्द खींच पाओ
तो कुछ बात बने....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सोचा था इस कदर उनको भूल जाएँगे देखकर भी अनदेखा कर जाएँगे पर जब जब सामने आया उनका चेहरा सोचा एस बार देखले अगली बार भूल जाएँगे…..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सोचा था इस कदर उनको भूल जाएँगे, देखकर भी अनदेखा कर जाएँगे, पर जब जब सामने आया उनका चेहरा, सोचा एस बार देखले, अगली बार भूल जाएँगे……

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सोचा था न करेंगे किसी से दोस्ती! न करेंगे किसी से वादा! पर क्या करे दोस्त मिला इतना प्यारा की करना पड़ा दोस्ती का वादा!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सोचू की थोडा सा रो दूँ..
दिल में बसे दर्द को आँसुओं से धो दूँ...

फ़िर सोचू आंसु तो बहे जायेंगे...
क्या दर्द सच में धूल जा ये गा..

तो दिल कितना खाली हो जायेगा....
तो सारा दर्द सह लेना हैं...

हर दर्द को पीना हैं...
इसी का नाम तो जीना हैं ,,,,,🅰

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सोज़े-ग़म देके उसने ये इरशाद किया
*जा तुझे कश्मकश-ए-दहर से आज़ाद किया*

वो करें भी तो किन अल्फ़ाज में तिरा शिकवा
*जिनको तिरी निगाह-ए-लुत्फ़ ने बर्बाद किया*

दिल की चोटों ने कभी चैन से रहने न दिया
*जब चली सर्द हवा मैंने तुझे याद किया*

इसका रोना नहीं क्यों तुमने किया दिल बरबाद
*इसका ग़म है कि बहुत देर में बरबाद किया*

इतना मासूम हूँ फितरत से, कली जब चटकी
*झुक के मैंने कहा, मुझसे कुछ इरशाद किया*

मेरी हर साँस है इस बात की शाहिद-ए-मौत
*मैंने ने हर लुत्फ़ के मौक़े पे तुझे याद किया*

मुझको तो होश नहीं तुमको खबर हो शायद
*लोग कहते हैं कि तुमने मुझे बर्बाद किया*

वो तुझे याद करे जिसने भुलाया हो कभी
*हमने तुझ को न भुलाया न कभी याद किया*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सौ खामियाँ मुझमे सही मगर, इक खूबी भी है,
अपनों को आज तक पराया नहीं किया...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सौदा कुछ ऐसा किया है
तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से..

या तो दोनों आते हैं ..
या कोई नहीं आता !!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

सज़ा से बचने की पहले सबील करते है.
पुराने लोग पुराना वकील करते है.

खुदा बचाए अमीरों की मेज़बानी से.
ये लोग घर पर बुला कर ज़लील करते है.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हकिकत कहो तो उनको ख्वाब लगता है,
शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है...
कितने सिद्दत से याद करते हैं उन्हे हम,
और एक वो हैं जिन्हे ये सब ईत्तेफाक लगता है...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हकीक़त कहो तो उनको ख्वाब लगता है .. शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है… कितने सिद्दत से उन्हें याद करते है हम …………. और एक वो है ….जिन्हें ये सब इत्तेफाक लगता है…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हजारों रात का जागा हूँ सोना चाहता हूँ अब ,
*तुझे मिलके मैं ये पलकें भिगोना चाहता हूँ अब ,*

बहुत ढूंढा है तुझ को खुद में,इतना थक गया हूँ मैं ,
*कि खुद को सौंप कर तुझ को,मैं खोना चाहता हूँ अब*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हद-ए-शहर से निकली तो गाँव गाँव चली।
कुछ यादें मेरे संग पांव पांव चली।
सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ।
वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली.....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम अपनी हस्ती मिटाकर भी तनहा हैं
सब कुछ लूटा कर भी तनहा हैं
लोग डोर तक जाते हैं किसी के लिए
और हम उसके पास रहकर भी तनहा हैं.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम आपको कभी खोने नही देंगे,
जुदा होना चाहे तो भी होने नही देंगे,
चांदनी रातों मे जब आएगी मेरी याद,
मेरी याद के वो पल आपको सोने नही देंगे…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम कुछ ना कह सके उनसे, इतने जज्बातों के बाद..
हम अजनबी के अजनबी ही रहे इतनी मुलाकातो के बाद।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम खुद को भूल जांए तो कोई गम नहीं आपको अगर भूल जांए वो हम नहीं चाहते हैं हम दोस्तों को जान से भी ज्यादा उनके लिए अपनी जान भी चली जांए तो कोई गम नहीं !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम तुम्हे पा कर खोना नहीं चाहते,
जुदाई में आप की रोना नहीं चाहते,
आप हमारे ही रहना हमेशा प्यार बनकर,
हम भी किसी और के होना नहीं चाहते….

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम तो नादान है क्या समझेंगे वस्ल ए
मोहब्बत,
बस तुझे चाहते थे चाहते हैं और चाहते
रहेंगे…….

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम ने मोहब्बत के नशे में आ कर उसे खुदा बना डाला;
होश तब आया जब उस ने कहा कि खुदा किसी एक का नहीं होता।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम भी देखेंगे किसी रोज़, खुद पर ये तजुर्बा कर के,
कैसा लगता है दिल को, तेरी यादों से जुदा कर के..!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हम समंदर हैं
हमें खामोश रहने दो..
ज़रा मचल गये
तो शहर ले डूबेंगे....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमने जो की थी, वो मोहब्बत आज भी है,
तेरे ज़ुल्फो के सायें की चाहत आज भी है ।
रात कटती है आज भी ख़यालो मे तेरे,
दीवानो सी वो मेरी हालत आज भी है ।
किसी और के तसवुर को उठती नही,
बेईमा आँखों मे थोड़ी सी शराफ़त आज भी है ।
एक बार चाह के फिर चाहे छोड़ देना तू,
दिल तोड़ तुझे जाने की इजाज़त आज भी है..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमने बरसों सीने से लगाए रक्खा मगर ये दिल हमारा न हुआ
तुमने मुस्कुरा के एक बार क्या देखा कमबख्त तुम्हारा हो गया

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमसे पूछो क्या होता है पलपल बिताना,बहुत मुश्किल होता है दिल को समजाना,यार ज़िंदगी तो बीत जाएगी,बस मुश्किल होता है कुछ लोगो को भूल पाना

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमारा हर दिन सबसे जादा कीमती है, इससे अधिक कीमती कुछ भी नहीं इसका बेहतर तरीके से ऊपयोग करना ही बुद्धिमानी की निशानी है जो अंत तक लाभकारी होता है जिसकी सफलता आपको निश्चित ही मिलेगी

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमारी गलतियों से कही टूट न जाना,
हमारी शरारत से कही रूठ न जाना,
तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं,
इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमारी बरबादी का तो कोई शिकवा नहीं है हमे,
अफ़सोस सिर्फ इतना है की तूने साथ क्यों नहीं दिया !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमारे चले जाने के बाद ये समंदर की रेत तुमसे पूछेगी,.
कहाँ गया वो शाकस जो तन्हाई में आकर बस तेरा ही नाम लिखा करता था,.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमारे तो सब पल तुम्हारे लिये हैं
ज़िन्दगी के सब दिन तुम्हारे लिये हैं . . .

बस तम्मना है अब इस दिल मे कि
तुम भी कह दो " हम " तुम्हारे लिये हैं . . .♥

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमें आपकी जान नहीं सिर्फ साथ चाहिए सच्ची दोस्ती का सिर्फ एहसास चाहिए जान तो दोस्त एक पल में दी जा सकती है पर हमें आपकी दोस्ती आखरी सांस तक चाहिए !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हमेशा उनके करीब मत रहिये,
जो आपको खुश रखते हैं,

बल्कि कभी उनके भी करीब जाइये,
जो आपके बिना खुश नहीं रहते हैं!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हर इनायत हर खुशी आपकी हो, महक उठे वो महफ़िल जिसमे हँसी आपकी हो, कोई भी लम्हा आप उदास ना हो, खुदा करे ज़न्नत जैसी ज़िंदगी आपकी हो.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हर किसी के अन्दर अपनी
"ताकत"और अपनी"कमज़ोरी"
होती है

"मछली"जंगल मे नही दौड़
सकती और"शेर"पानी मे राजा
नही बन सकता.....!!

इसलिए
"अहमियत"
सभी को देनी चाहिये....!🙏

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हर कोई रखता हैं ख़बर,
गैरों के गुनाह की ...
अजब फितरत हैं
कोई आइना नही रखता |

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हर दूरी मिटानी पडती है,
हर बात बतानी पडती है,
लगता है दोस्तों के पास वक्त ही नही है आज कल,
खुद अपनी याद दिलानी पडती है…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हर मुलाकात को याद हम करतें हैं,

कभी चाहत कभी जुदाई कि आह भरते है,

यूं तो रोज़ तुम से सपनो मे बात करते हैं पर,

फिर से अगली मुलाकात का इन्तज़ार करते है!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हर रात को तुम इतना याद आते हो के हम भूल गए हैं,
के ये रातें ख्वाबों के लिए होती हैं, या तुम्हारी यादों के लिए...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हर वक़्त हम आप को याद करते है,
गिन-गिन के साँसे हम उधार लिया करते है,
आप को क्या पता मर कर भी हम,
आप की याद में साँसे लिया करते है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हर सागर के दो किनारे होते है,
कुछ लोग जान से भी प्यारे होते है,
ये ज़रूरी नहीं हर कोई पास हो,
क्योंकी जिंदगी में यादों के भी सहारे होते है

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हरिवंशराय बच्चन जी की एक खूबसूरत कविता,,

_"रब" ने. नवाजा हमें. जिंदगी. देकर;_
_और. हम. "शौहरत" मांगते रह गये;_

_जिंदगी गुजार दी शौहरत. के पीछे;_
_फिर जीने की "मौहलत" मांगते रह गये।_

_ये कफन , ये. जनाज़े, ये "कब्र" सिर्फ. बातें हैं. मेरे दोस्त,,,_
_वरना मर तो इंसान तभी जाता है जब याद करने वाला कोई ना. हो...!!_

_ये समंदर भी. तेरी तरह. खुदगर्ज़ निकला,_
_ज़िंदा. थे. तो. तैरने. न. दिया. और मर. गए तो डूबने. न. दिया . ._

_क्या. बात करे इस दुनिया. की_
_"हर. शख्स. के अपने. अफसाने. हे"_

_जो सामने. हे. उसे लोग. बुरा कहते. हे,_
_जिसको. देखा. नहीं उसे सब "खुदा". कहते. है.👏.🙏

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है क्या ज़रूरत थी तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हस्ती मिट जाती है आशियाँ बनाने मे बहुत मुस्किल होती है अपनो को समझाने मे एक पल मे किसी को भुला ना देना ज़िंदगी लग जाती है किसी को अपना बनाने मे…

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हाथ छूटे भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते
वक़्त की शाख़ से लम्हें नहीं तोड़ा करते

जिस की आवाज़ में सिलवट हो निगाहों में शिकन
ऐसी तस्वीर के टुकड़े नहीं जोड़ा करते

शहद जीने का मिला करता है थोड़ा-थोड़ा
जाने वालों के लिये दिल नहीं तोड़ा करते

तूने आवाज़ नहीं दी कभी मुड़कर वरना
हम कई सदियाँ तुझे घूम के देखा करते

लग के साहिल से जो बहता है उसे बहने दो
ऐसी दरिया का कभी रुख़ नहीं मोड़ा करते

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हुई बरसात तो आँखों को हमदर्द मिला
मुद्दतों से बस अकेले बरस रहीं थी ये

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हुस्न बाज़ार हुआ क्या कि हुनर ख़त्म हुआ
आया पलको पे तो आँसू का सफ़र ख़त्म हुआ
उम्र भर तुझसे बिछड़ने की कसक ही न गयी ,
कौन कहता है की मुहब्बत का असर ख़त्म हुआ

2020 की शायरी [शायरी 2020]

होंठों पे उल्फत के फ़साने नहीं आते;
जो बीत गए फिर वो ज़माने नहीं आते;

दोस्त ही होते हैं दोस्तों के हमदर्द;
कोई फ़रिश्ते यहाँ साथ निभाने नहीं आते।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

होता है राजे-इश्को-मुहब्बत इन्हीं से फाश,.....!!
आंखें जुबाँ नहीं है मगर ...बेजुबाँ नहीं....!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

हज़ारों नोट थे ऐसे के हर नोट पे दम निकले,
बहुत निकले मेरे घर से मगर फिर भी कम निकले.

निकलना बैंक से नोटों का सुनते आये हैं लेकिन,
बहुत बे-आबरू होकर स्टेट बैंक से हम निकले.

बचा नहीं जेब में सौ का नोट एक भी अब,
हुई सुबह और घर से एटीएम खोजते हुए हम निकले.

खुदा के वास्ते एटीएम में कुछ तो डाल दे ज़ालिम,
कहीं ऐसा न हो यहां भी खाली जेब सनम निकले.

कहाँ हमारी दौलत "ग़ालिब" और कहाँ वो भिखारी,
गौर फर्माईऐ...

कहाँ हमारी दौलत "ग़ालिब" और कहाँ वो भिखारी...
बस ये जानिये, जिस कतार में वो खडा था ऊसी में हम निकले.

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ख़त्म कर दी थी जिंदगी की सारी खुशियाँ तुम पर,
कभी फुरसत मिले तो सोचना की मोहब्बत किसने की थी !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़िन्दगी की आखिरी शाम लिखते हैं आप की याद में गुजरते पल तमाम लिखते हैं वो कलम भी दीवानी हो जाती है आप की जिस कलम से हम आपका नाम लिखते हैं !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़िन्दगी भर ज़िन्दगी की जुस्तजू बाकी रही।
तेरी खातिर आंसुओं से गुफ्तगू बाकी रही।

होश कब किस के लिए माँगी दुआयें उम्र भर।
फूल की खुशबू की जानिब सिर्फ तू बाकी रही।

आईना हाथों में रहकर सारी दुनिया देख ली।
फिर भी तुमको देखने की आरजू बाकी रही।

चाहतों के मेघ हरदम रूह पर बरसा किये।
तिश्नगी की धूप लेकिन चार सूँ बाकी रही।

आसमाँ ' स्वाती ' के क़दमों के तले आये कई।
हर घड़ी फिर भी तलाशों-रगों-बू बाकी रही।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

ज़ुबान खामोश आँखों में नमी होगी ये बस एक दास्तां-ए ज़िंदगी होगी भरने को तो हर ज़ख्म भर जाएगा कैसे भरेगी वो जगह जहाँ तेरी कमी होगी?

2020 की शायरी [शायरी 2020]

​इश्क़ की बंदगी दी है तो हुस्न की इबादत जरूरी है;
इश्क़ से जीने की आस रहेगी और हुस्न से तड़प का सकून​।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

“जिन्‍दगी की राहों में बहुत से यार मिलेगें
हम क्‍या हमसे भी अच्‍छे हजार मिलेगें
इन अच्‍छों की भीड में हमे ना भूला देना
हम कहॉ आपको बार बार मिलेगें ”

2020 की शायरी [शायरी 2020]

“हंसी ने लबों पर थ्रिकराना छोड दिया ख्‍बाबों ने सपनों में आना छोड दिया नहीं आती अब तो हिचकीया भी शायद आपने भी याद करना छोड’ दिया ”

2020 की शायरी [शायरी 2020]

“ज़िंदगी में आप कितने खुश है”
यह जरुरी नहीं !
“ज़िंदगी में आपकी वजह से कितने लोग खुश है”
यह जरुरी है !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

⁠⁠⁠⁠⁠
"उनकी मोहब्बत के अभी निशान बाकी है;
नाम लब पर है और जान बाकी है;
क्या हुआ अगर देख कर मुँह फेर लेते हैं;
तसल्ली है कि शक्ल की पहचान बाकी है।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

⁠⁠⁠⁠⁠"प्यार में बेवाफाई मिले तो गम न
करना;अपनी आँखे किसी के लिए नम न करना;वो चाहे लाख नफरते करें तुमसे;पर तुम अपना प्यार कभी उसके लिए कम न करना।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

⁠⁠⁠⁠⁠"वो तो दिवानी थी मुझे तन्हां छोड़ गई;खुद न रुकी तो अपना साया छोड़ गई;दुख न सही गम इस बात का है;आंखो से करके वादा होंठो से तोड़ गई।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

╰•💞•╮╰•💞•╮🌹🌹╰•💞•╮╰•💞•╮

सुना भी कुछ नही
कहा भी कुछ नही
पर ऐसे बिखरे है ज़िंदगी की कशमकश मे
कि टूटा भी कुछ नही
और बचा भी कुछ नही !!

╰•💞•╮╰•💞•╮🌹🌹╰•💞•╮╰•💞•

2020 की शायरी [शायरी 2020]

☀ Aaj Is Shiddat-e-Ishq Se Manga Tujhe Khuda Se..........!!

☀ Ashk Bhi Dua Karte Rahe Meri Hichkiyo Ke Sath..........!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

☝🏻♻आने वाला कल अच्छा होगा,


बस इसी सोच मे आज बीत जाता है...!!☝🏻♻

2020 की शायरी [शायरी 2020]

☝🏻💝रिश्तों की कदर भी पैसों की तरह करनी चाहिये,



क्योंकि दोनों को गँवाना आसान और कमाना मुश्किल है..!!☝🏻💝

2020 की शायरी [शायरी 2020]

♤°•♡°•♤°•♤°•♡°•♤°•♤°•♡°•♤

*💕“तुम शिकायतें बहुत करती हो,बिछड़ने की...*
✍🏻
*"पहले भी यही करती थी पर, मिलने की!!”*☺

♤°•♡°•♤°•♤°•♡°•♤°•♤°•♡°•♤

2020 की शायरी [शायरी 2020]

♥ ♥दोस्ती करो तो धोका मत देना, किसी को आशाओं का तोहफा मत देना, दिल से रोए कोई तुम्हे याद करके, ऐसा कभी किसी को मोका मत देना.” ♥ ♥

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✍ टूटे हुये फूल खुशबू दे जाते हैं....
बीते हुये पल यादें दे जाते हैं...
हर किसी का अंदाज है अपना अपना...
कोई प्यार में दोस्ती तो कोई दोस्ती में प्यार दे जाता है ।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✍ ✍ ये वादा है की हम तुझे उस मोड़ तक लायेंगे,

जहाँ हम अपना दर्द तेरी आँखों से छलका के दिखाएँगे !!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✍एक बेहतरीन सोच
हर एक की सुनो
ओर हर एक से सीखो
क्योंकि हर कोई,
सब कुछ नही जानता
लेकिन हर एक
कुछ ना कुछ ज़रुर जानता हैं

स्वभाव रखना है तो उस दीपक की तरह रखिये, जो बादशाह के महल में भी उतनी ही रोशनी देता है, जितनी की किसी गरीब की झोपड़ी में ।।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✍🏻✍🏻 बड़ी "ख़ामोशी" से भेजा था मैंने "गुलाब" उसको...!!
✍🏻✍🏻 पर "खुशबु" ने शहर भर में "तमाशा" कर दिया...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✍🏻✍🏻 मेरी "यादों" की "शाम" और "उम्मीदों" की "सुबह" हो तुम...!!
✍🏻✍🏻 जिसे मैं हर वक्त "पढता" हूँ ऐसी "दास्ताँ" हो तुम...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✍🏻✍🏻 मेरी किस्मत में है एक दिन "गिरफ्तार-ऐ-वफ़ा" होना...!!
✍🏻✍🏻 मेरे चेहरे पे तेरे प्यार का "इलज़ाम" लिखा है...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✍🏻✍🏻 ले चल "मुझे" तू अब "जहाँ" भी जी करे तेरा...!!
✍🏻✍🏻 मैंने खुद को "चाहत" में तेरे "हवाले" कर दिया...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✍🏻✍🏻 ख़ुदा जाने कैसी "सादगी" है तेरी "अदाओं" में...!!
✍🏻✍🏻 एक नहीं तेरी हर "अदा" पे "क़ुर्बान" होने को "दिल" चाहता है...!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

✨✨ अभी तो रात बाकी है,
मेरे दिल की बात बाकी है,
जो मेरे दिल में छुपी है,
वो ज़ज्बात बाकी है,
जल्दी से सो जाना दोस्त,
आप की नींद बाकी है,
सुबह मिलते है,
कल की शुरुवात बाकी है✨✨

2020 की शायरी [शायरी 2020]

❣"आत्महत्या के इरादे से, आँख की छत पर चढे आँसू .
"दो पल ठहरे तुझे ढूंढा,
फिर कूद पड़े..!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

❣तेरी नीली आंखों की कसम ❤दिल तो मुफत मैं लुटा दूं तुझ पर
कभी मेरे पास आकर तो कह दे
मैं जिंदगी हूं तुम्हारी..❣

2020 की शायरी [शायरी 2020]

❣❣❣❣❣❣❣❣
Wada na wafa karte wada to kiya hota

Gairon se kaha tumne gairon se suna tumne

Kuch humse kaha hota kuch humse suna hota...

💓💓💓💓💓💓💓💓

2020 की शायरी [शायरी 2020]

❣❣🔱🔱❣❣
ख़्वाब ही ख़्वाब कब तक देखूँ_____"

अब तमन्ना है तुम्हें देखूँ_____"
❣❣🔱🔱❣❣

2020 की शायरी [शायरी 2020]

❤बड़ी कश्मकश है मौला थोड़ी रहमत कर दे,

या तो ख्वाब न दिखा या उसे मुकम्मल कर दे !!❤

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌹 *हो मुबारक सुहानी रात*
*ख्वाबों में भी मिले रब का साथ*🌻

🌷 *खुलें जब पलकें तो*
*तमाम खुशियाँ हो आपके साथ*🌲

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌹जिसकी सोच में आत्मविश्वास. 🌹
🌹की महक हो जिसके इरादों में 🌹
🌹हौसले की मिठास हो और जिसकी🌹
🌹नीयत में सच्चाई का स्वाद हो 🌹
🌹उसकी पूरी जिन्दगी महकता 🌹
🌹हुआ " गुलाब " हो🌹

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌹जो बाहर की सुनता है
वो बिखर जाता है
जो भीतर की सुनता है
वो सँवर जाता है

ज़िन्दगी तस्वीर भी है और तकदीर भी
फर्क रंगों का है
मनचाहे रंगों से बने तो तस्वीर
और अनजाने रंगों से बने तो तकदीर..

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌹तेरे ख्वाबों का भी है शौक, तेरी यादो में भी है मजा,

समझ नहीं आता सो कर तेरा दीदार करूँ या जाग कर तुझे याद करूँ...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌹याद कर लेना मुझे तुम
कोई भी जब पास न हो

चले आएंगे इक आवाज़ में
भले हम ख़ास न हो🌹

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌹ये क्या फ़रेब है ,,,कि ....जो फ़रमा रहे हो तुम

मैं ख़ुद को ढूंढता हूँ ,,मिले जा रहे हो तुम 🌹

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌹सिर्फ आँखों को देख कर कर ली मोहब्बत तुमसे,
छोड़ दिया अपना मुकद्दर तेरे नकाब के पीछे ..🌹

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌹🍃
"दरिया" बन कर किसी को डुबाना बहुत आसान है...

मगर....

"जरिया" बनकर किसी को बचायें तो कोई बात बनें...🍃🌹🅰

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌺 🌺

जिंदगी में पीछे देखोगे तो *"अनुभव"* मिलेगा...,
जिंदगी में आगे देखोगे तो *"आशा"* मिलेगी...,
दांए-बांए देखोगे तो *"सत्य"* मिलेगा...,
लेकिन अगर भीतर देखोगे तो *"परमात्मा"* मिलेगा...,
*"आत्मविश्वास"* मिलेगा...।

*हमेशा खुश रहिए ताकि दूसरे भी आपसे खुश हो जाएँ।*

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌺💝🌺तुम अपनी पलकों की परछाईं मुझे दे दो,

तुम अपनी शाम की तन्हाइयाँ मुझे दे दो

मैं डूब जाऊँ आपकी उदास आँखों में,

अपनी दर्द की वो गहराइयाँ मुझे दे दो 🌺💝🌺

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🌿🍁🌿🍁🌿🍁🌿🍁🌿
आँसू गिरने की आहट नही होती
दिल के टूटने की आवाज नहीं होती
गर होता उन्हें एहसास दर्द का
तो दर्द देने की उन्हें आदत नहीं होती।
🌿🍁🌿🍁🌿🍁🌿🍁🌿

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🍁🌾🍁🌾🍁🌾🍁🌾🍁

दिल से लिखी बातें
दिल को छू जाती हैं

कुछ लोग मिलकर बदल जाते हैं
और
कुछ लोगों से मिलकर
जिन्दगी बदल जाती ह...🏌🏌‍♀

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🍃नज़रें झुका लेने से भला
सादगी का क्या ताल्लुक़🍂
🍃शराफ़त तब झलकती है
जब नज़रों में पर्दा हो🍂

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🍃हैं वक़्त की बड़ी ही
पाबंद ये तक़लीफ़ें🍂
🍃एक जाती भी नहीं
दूसरी आ जाती है🍂

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🍃ग़लती नीम की नहीं
कि वो कड़वा है🍂
🍃ख़ुदगर्ज़ी जीभ की है
जिसे मीठा पसंद है🍂

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🍃फ़ैसला जो कुछ भी हो
मंज़ूर होना चाहिए🍂
🍃जंग हो या इश्क़ हो
भरपूर होना चाहिए🍂

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃

➡उम्र ज़ाया कर दी लोगों ने
औरों के वजूद में नुक़्स निकालते निकालते


ही खुद को तराशा होता
तो फ़रिश्ते बन जाते.......

🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🎄🌾🎄🌾🎄🌾🎄🌾🎄🌾

इस फरेबी दुनिया में
मुझे दुनियादारी नही आती

झूठ को सच साबित करने की
मुझे कलाकारी नही आती

सुर्खियों में रहने की
मुझे चाटुकारी नही आती

जिसमें सिर्फ मेरा हित हो
मुझे वो समझदारी नही आती

शायद इसीलिए पिछड़ा हूं
मुझे होशियारी नही आती

बेशक लोग ना समझे मेरी वफादारी
मगर 'यारो मुझे गद्दारी नही आती

🎄🌾🎄🌾🎄🌾🎄🌾🎄🌾

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🎋जो इंसान हमें हद से ज्यादा प्यार करता है,


एक दिन उसकी ही नफरत हमें रुला देती है🎋

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🎋पछताया बहोत उसके दर पे दस्तक देकर मैं,


दर्द की इन्तेहा हो गई जब उसने पूछा कौन हो तुम🎋

2020 की शायरी [शायरी 2020]

👇🏻😘😉

सुना है ऊपर वाले ने लाखो

लोगो की तक़दीर सवारी है

काश वो एक बार मुझे भी

कह दे के अब तेरी बारी है😉

2020 की शायरी [शायरी 2020]

👉ह्रदय को छू लेने वाली लाईनें👇

बड़े अनमोल हे ये खून के रिश्ते
इनको तू बेकार न कर ,

मेरा हिस्सा भी तू ले ले मेरे भाई
घर के आँगन में दीवार ना कर.😊....

2020 की शायरी [शायरी 2020]

👌👌
तमन्ना ने जिंदगी के आँचल में
सर रख कर पूछा -
"मै कब पूरी होउंगी?"

जिंदगी ने हँसकर जवाब दिया-
"जो पूरी हो जाये वो तमन्ना ही क्या!"

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💎💎💎💎💎💎💎💎💎💎💎

*घमंड* और *पेट*
जब ये दोनों बढतें हैं..
तब *इन्सान* चाह कर भी
किसी को गले नहीं लगा सकता..
जिस प्रकार नींबू के रस की एक बूँद
हज़ारों लीटर दूध को बर्बाद कर देती है...
...उसी प्रकार...
*मनुष्य* *का* *अहंकार*
भी अच्छे से अच्छे संबंधों को
बर्बाद कर देता है".!!!

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💕 रिश्ता एसा हो जिस पर नाज़ हो..कल जितना भरोसा था उतना ही आज हो..
💕 रिश्ता सिर्फ़ वो नही जो ग़म या ख़ुशी में साथ दे..रिश्ते वो हैं जो अपनेपन का एहसास दें...❤

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💕तेरी कमी भी है,♡ तेरा साथ भी है.♡ तू दूर भी है,♡ तू पास भी है.♡
खुदा ने यूँ नवाज़ा तेरे प्यार से, मुझे गुरुर भी है और नाज़ भी है..💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💕💕" लाजवाब हैं वो इन्सान जो
सदा हंसते है,

गम छुपा कर अपने ,
औरों के दिल मे बसते है."💕💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💕💕कभी कभी "गुस्सा",,,,
मुस्कुराहट से भी ज्यादा 'स्पेशल' होता है,
,,
क्योंकि
"स्माइल" तो सबके लिए होती है,,,
मगर "गुस्सा" सिर्फ उसके लिए होता है,,,,
जिसे हम कभी "खोना" नहीं चाहते.,,

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💕💕ना चाहत के अंदाज़ अलग, ना दिल के जज़्बात
अलग.....!
थी सारी बात लकीरों की, तेरे हाथ अलग....मेरे
हाथ अलग...!!💕💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💕💞💕💞💕💞💕💞
*Mera Jo bhi Tajurba hai..*
*Tumhe bata ra Hun main..*
*Koi lab chhu gaya tha tab* *abhi tak ga raha Hun main..*
*Bichhad kar tumse kaise* *jiya jaye bina tadpe..*
*Jo main khud hi nahi* *samjha, wahi samjha raha* *Hun main..*
💕💞💕💞💕💞💕💞💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💖💍अगर ऊँचाईयो को छूना है तो कभी मोहब्बत मत करना,

क्यूंकि मोहब्बत अक्सर आपको गिरा देती है 💖🎸

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💖💖तुम रिश्ता भूलने कैसे लगे,

अपने गम ख़ुशी को छुपाने कैसे लगे,

हाथ छोड़ना था तो पहले बोल देते,

ऐसे गम नाम मगरूर होने कैसे लगे …💖💖

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💖💖💖💕💕💕💕

Do char lafz kah kar main khamosh ho gya

Wo muskura kar bole bahut bolte ho tum...

💕💕💕💕💕💕💕💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💖💖💖💖💖💖💖💖
Dil-e-nada tujhe huwe kya hai
Akhir is dard ki dawa kya hai
Hum hain mustaq wo hain bezar
Ya alahi ye mazra kya hai...
💚💚💚💚💚💚💚💚

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💖💘💖
हम नहीं जानते की रिश्तों में बेवफाई क्यूँ मिलती है,
बस इतना जानते है की जब दिल भर जाता है तो छोड़ जाते है लोग !!💖💘💖

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💗💗💗💗💗💗💗

Mere pas akar dekh mere pyar ki shiddat

Mera dil kitna dhadkta tere naam k sath....

💗💗💗💗💗💗💗💗

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💘💘💘💘 रुकावटें तो जनाब..जिंदा इन्सान के हिस्से में ही आती हैं..
. वर्ना...
जनाज़े के लिए तो..सब रास्ता छोड़ देते हैं..💘💘💘💘💘💘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘

*अजीब था उनका अलविदा कहना*,
*सुना कुछ नहीं और कहा भी कुछ नही*ं,

*बर्बाद हुवे उनकी मोहब्बत में*
*की लुटा कुछ नहीं और बचा भी कुछ नही*..


💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘
ऐ आसमान बता दे अपनी हदें;
मैं उनके पर जाना चाहता हूँ;
फांसले हों चाहे कितने भी बड़े;
हौंसलों से मैं उन्हें अपने मिटाना चाहता हूँ।

💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘
बढ़ते कदमो को ना रुकने दे ऐ मुसाफिर;
चाहे रास्ता हो कठिन और मंज़िल हो दूर;
चाहे ना मिले रास्ते में कोई हमसफ़र;
फिर भी झुकना नहीं और पा लेना लक्ष्य को करके बाधाएं सारी दूर।

💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘
वो खुद ही तय करते है मंज़िल आसमानों की;
परिंदों को नहीं दी जाती तालीम उड़ानों की;
रखते हैं जो हौंसला आसमान छूने का;
उनको नहीं होती परवाह गिर जाने की।
💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘
वक़्त से लड़कर जो नसीब बदल दे;
इंसान वही जो अपनी तक़दीर बदल दे;
कल होगा क्या, कभी ना यह सोचो;
क्या पता कल खुद वक़्त अपनी तस्वीर बदल दे।

💘💘💘💘💘💘💘💘💘💘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💜तुझे शिकायत है... कि मुझे बदल दिया है वक़्त ने

कभी खुद से भी तो सवाल कर... ‘क्या तू वही है'💜

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💞 *तेरा मेरा रिश्ता इतना खास हो जाये*,
*कि तू दूर रहकर भी मेरे पास हो जाये*

💞 *मन से मन का तार जुड़े कुछ इस तरह*
*कि दर्द हमें हो और अहसास तुम्हे हो जाए*...।

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💞"रात सुबह का इंतज़ार नहीं करती",
"खुशबु मौसम का इंतज़ार नहीं करती".!
"जो भी ख़ुशी मिले उसका आनंद लिया करो",,
"क्योंकि जिंदगी वक़्त का इंतज़ार नहीं
करती"..!💞

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💞💞💞💞✍🏼
नजरें तुमको ही देखना चाहें
तो मेरी आँखों का क्या कसूर है?

खुशबू तुम्हारी ही आए
तो मेरी सांसों का क्या कसूर है?

वैसे तो सपने
पूछ कर नहीं आते

सपने ही तुम्हारे आएं
तो मेरी रातों का क्या कसूर है?
💕💕💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💞💞💞💞💞💞💞💞
Aj k bad phir nahi hogi
Ye hansi raat phir nahi hogi
Aise badal to phir bhi ayenge par ye barsat phir hogi

Or ak nazar mud k dekhne wale kya ye khairat phir nahi hogi...

💕💕💕💕💕💕💕💕

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💢🌹💢🌹💢🌹💢🌹💢🌹💢
*humare aasnu poch kar wo muskurate hai,*

*aisi ada se wo dil ko churate hai,*

*hath unka chu jaaye humare chehre ko,*

*isi ummed mein hum khud ko rulate hai.*
💢🌹💢🌹💢🌹💢🌹💢🌹💢

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💫सफ़र लिख दे, रास्ता ही लिख दे ।
किसी मंज़िल से, मेरा वास्ता ही लिख दे ।।


ऐसा क्यूँ है, के बेमक़सद जिए जा रहा हूँ मैं ।
मेरी क़िस्मत में, कोई हादसा ही लिख दे .

2020 की शायरी [शायरी 2020]

💫हम तो आशिक लोग है,
💫हमारे हाथो में ,
जख्म पहले लिखे जाते है ,
💫तकदीर बाद मे

2020 की शायरी [शायरी 2020]

📿📿📿📿
🌹💫 *मेहनत लगती है*
*सपनो को सच बनाने में,*
*हौसला लगता है*
*बुलन्दियों को पाने में,*
*बरसो लगते है जिन्दगी बनाने में,*
*और जिन्दगी फिर भी कम पडती है*
*रिश्ते निभाने में*।।💫🌹*🌹...

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🚥 इसी लिए तो बच्चों पे नूर
सा बरसता है,
👉 शरारतें करते हैं, साजिशें तो
नहीं करते..
================

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🚥 तू अचानक मिल गई तो
कैसे पहचानुंगा मैं,
👉ऐ खुशी....तू अपनी एक
तस्वीर भेज दे..
=================

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🚥 महँगी से महँगी घड़ी पहन
कर देख ली,
👉 वक़्त फिर भी मेरे हिसाब से
कभी ना चला..
===================

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🚥 यहाँ हर किसी को,
दरारों में झांकने की आदत है,
👉 दरवाजे खोल दो तो कोई
पूछने भी नहीं आएगा..
=================

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🚥दो बातें इंसान को अपनों से
दूर कर देती हैं,
👉एक उसका ‘अहम’ और
दूसरा उसका ‘वहम’..
==================

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🚥यूं ही हम दिल को साफ रखा
करते थे ..
👉 पता नही था की, ‘कीमत
चेहरों की होती है..
================

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🤗💖🤗
*🌴आकाश मे डूबा एक प्यारा तारा हे...!!!*🌹💞
*🍁हमको तो किसी की बेवफ़ाई ने मारा हे...!!!*🌹💖

✨✨✨💖✨💞✨💖✨✨✨

*🍀हम उनसे अब भी मोहब्बत करते हे...!!!*🌹💞
*🎄जिसने हमे मौत से पहेले मारा हे...!!!*🌹💖

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🤗💖🤗
*🌴जिस दिन बंद कर ली हमने आंखें...!!!*🌹💖

*🎄कई आँखों से उस दिन आंसु बरसेंगे...!!!*🌹💞

*🍀जो कहते हैं के बहुत तंग करते है हम...!!!*🌹🌺

*🍁वही हमारी एक शरारत को तरसेंगे...!!!*🌹💖

✨✨✨💖✨💞✨💖✨✨✨

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🤗💖🤗
🌴"कभी कभी हम

किसी के लिए🍁

🍀उतना जरुरी भी

नहीं होते जितना🍃

🎄हम सोच लेते हैं,,🍁

✨✨✨💖✨💞✨💖✨✨✨

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🤗💖🤗
🌴होती नहीं मोहब्बत सूरत

से कभी...🍂

🍁मोहब्बत तो सदा दिल से

हुआ करती है🍃

🎄सूरत तो उनकी खुदबखुद प्यारी

लगती हैं...🌱

🍀कद्र जिनकी दिल में हुआ करती हैं...!!!🌿

✨✨✨💖✨💞✨💖✨✨✨

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🤗💖🤗
🌴ज़िन्दगी में हर दम हंसते रहो,🍂

🌿हँसना ज़िन्दगी की जरुरत हैं,🍃

🌱ज़िन्दगी को इस अंदाज में जीओ🍁

🌿के आपको👩🏻👈🏻 देखकर लोग कहें...🍁

🎄"वो देखो ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत हैं...!!!"💏👈🏻😍😘

2020 की शायरी [शायरी 2020]

🤗💖🤗
🌴🍁मैंने छोड़ दिया हैं🌱

🌿किस्मत पर यकीन✨

🍃करना...🍂

🍀जब लोग बदल सकते हैं🌱

🎄तो किस्मत क्या चीज़ हैं...!!!😔😢💔

✨✨✨💖✨💞✨💖✨✨✨

Comments

Popular posts from this blog

[1000] Best Shayari in Hindi

!! Kuch khuwab thay meri ankhon main, Tujhay pa lenay ki chahat thi, Chand lafzon main he kehta hoon, 'Mujhay tumse bohot mohbat thi' Par tu kiya janay chahat ko, Tujhay ho jati to poochta main, Dil jab jab toot k rota hai, Kiya dard tumhain b hota hai? Ye khuwab haqeeqat ho jaye, Kisi apnay jesay sangdil se, TUJHAY KAASH MOHBAT HO JAYE !! Shayari in Hindi " Meri Dosti Ki Tum Kia Azmaish Kar Sako Ge Jan Se Ziada Kia Farmaish Kar Sako ge MEri Dosti Barsh k Qtro ki Tarah Hai Kia Kabhi In Qatroo ki PYMAISH kar Sako Ge " Shayari in Hindi " Rishtay " or " Mosam " Dono ek jaise hotay hain...! Kabhi hadh se zaida achy.. ,kabhi bardasht se zyada bure...! Bas farq itna hai k ... Mosam jism ko takleef deta hai or rishtay Rooh ko...! Shayari in Hindi " YAI DIN !!!!! Andheri raatein Andhere din Yara tere bin !! Kis tarah guzre gi zindagi Shayad kise din Ho takrao hamara tumhara To mei bhi tum se poucho Kahan gai wo waday Kahan gai wo qasmein Jo tum subah

600+ हिंदी शायरी लिखा हुआ ( लिखी हुई हिंदी शायरी )

वफा के बदले बेवफाई ना दिया करो.. मेरी उमीद ठुकरा कर इन्कार ना किया करो.. तेरी महोब्त में हम सब कुछ खो बैठे.. जान चली जायेगी इम्तिहान ना लिया करो ! हिंदी शायरी लिखा हुआ "आ कर ख़्यालों में मेरे बाकी जहाँ बेख्याल कर जाते हो हमें भी सिखा दो हुनर, कैसे यह कमाल कर जाते हो "!! ❤ हिंदी शायरी लिखा हुआ "घांव इतना गहरा है बयां क्या करे हम खुद निशाना बन गये अब वार क्या करे जान निकल गयी मगर खुली रही आंखें अब इससे ज्यादा उनका इंतझार क्या करे" हिंदी शायरी लिखा हुआ "जिंदगी देने वाले, मरता छोड़ गये, अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये, जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की, वो जो साथ चलने वाले, रास्ता मोड़ गये." हिंदी शायरी लिखा हुआ "तुझे तो गैरो की महफ़िलो मे मुस्काना पड़ता है, पर सोच तुझे देखकर हमे, अपने दिल को कितना समझाना पड़ता है..." हिंदी शायरी लिखा हुआ "ना दिल की चली ना आँखों की, हम तो दीवाने बस तेरी मुस्कान के हो गए !!" हिंदी शायरी लिखा हुआ "बिकता है गम इश्क के बाज़ार में, लाखों दर्द छुपे होते हैं. एक छोटे से इंकार में, हो जाओ अगर ज़माने से दुखी, तो स्